व्यंग्य

व्यंग: अटल पर इरादे ?

satire on name change politics not working on political promises

नाम में तब्दीली ।
पुन: प्रयागराज ।।

कुंभ है नज़दीक ।
चुनावी आग़ाज़ ।।

हमारा है सवाल ।
पूरे हुए वादे ?

बदल डालो नाम ।
अटल पर इरादे ?

रोज़गार सृजन ।
समय की दरकार ।।

ध्यान दो तनिक ।
होनहार लाचार ।।

कृष्णेन्द्र राय

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Krishnendra Rai

Related posts

व्यंग: बेपटरी अब रेल

Krishnendra Rai

व्यंग: जानती ये दुनिया !

Krishnendra Rai

व्यंग: नैतिकता लाचार!

Krishnendra Rai