Home » उत्तर प्रदेश » STF एसएसपी ने कहा, आरोपी जवान जितेंद्र उर्फ जीतू ने मौके पर होने की बात स्वीकारी

STF एसएसपी ने कहा, आरोपी जवान जितेंद्र उर्फ जीतू ने मौके पर होने की बात स्वीकारी

Bulandshahr : Army hands over accused jawan Jitendra Malik to UP STF

एसटीएफ एसएसपी अभिषेक सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि बुलंदशहर मामले में सेना के आरोपी जवान जितेंद्र कुमार उर्फ जीतू ने यह स्वीकार किया है कि जब भीड़ ने वारदात स्थल पर इकट्ठा होना शुरू किया तब वह वहां पर मौजूद था, लेकिन अभी तक इस बात का खुलासा नहीं हुआ है कि आरोपी जीतू उन लोगों में से एक है, जिन्होंने इंस्पेक्टर सुबोध या मृतक सुमित को गोली मारी थी।

  • आरोपी जितेंद्र ने स्वीकार किया कि वह गांववालों के साथ मौके पर गया था, लेकिन उसने कहा कि पुलिस पर पथराव या दूसरा कोई भी गलत काम नहीं किया है।
  • पुलिस इस मामले में जितेंद्र के मोबाइल की फोरेंसिक जांच भी करवाएगी।
  • इससे पहले सेना के जवान जितेंद्र कुमार उर्फ जीतू को शनिवार देर रात सैन्य अधिकारियों ने मेरठ एसटीएफ कार्यालय पर नोएडा एसटीएफ के सुपुर्द कर दिया।
  • एसटीएफ ने तत्काल आरोपी जितेंद्र कुमार से पूछताछ शुरू कर दी है।
  • पूछताछ के दौरान आरोपी जितेंद्र खामोशी से हर सवाल का जवाब हां या ना में देता रहा।
  • जम्मू कश्मीर के सोपोर में सेना की आरआर यूनिट में तैनात जीतू को लेने के लिए एसटीएफ नोएडा और एसआइटी सोपोर गई थी, लेकिन सेना ने सुरक्षा की दृष्टि के मद्देनजर उसे एसटीएफ व एसआइटी को नहीं दिया था।
  • कागजी करवाई के बाद शनिवार सुबह 5.30 बजे सैन्य अधिकारी जीतू को एसटीएफ व एसआइटी के साथ लेकर सोपोर से मेरठ के लिए रवाना हुई।

  • देर रात मेरठ एसटीएफ कार्यालय पर जीतू को लाया गया, जहां नोएडा एसटीएफ के सुपुर्द कर दिया गया।
  • सेना ने एसटीएफ से लिखित में लिया कि जीतू को सुबह 10 बजे तक बुलंदशहर कोर्ट में पेश किया जाए।
  • इसके जवाब में एसटीएफ ने कहा कि इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या के दौरान पिस्टल भी लूटी गई थी।
  • पुलिस को आशंका है कि बलवे के दौरान जीतू ने ही पिस्टल लूटी थी
  • इसलिए उसको बरामद करने के लिए आरोपी को कोर्ट में पेश करने में देरी हो सकती है।
  • दूसरी ओर सेना ने सुपुर्दगी के दौरान मौके पर मौजूद लोगों के हस्ताक्षर कराए और कहा कि एसटीएफ को जीतू सुरक्षित सौंपा गया है।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Uttar Pradesh Desk

Related posts

26-27 मई को आजमगढ़ में होगी पीएम मोदी की रैली

Shashank

रिवरफ्रंट घोटाला: सिंचाई विभाग से करोड़ों के अभिलेख गायब

Divyang Dixit

प्रिंसिपल की दबंगई, पेपर लेकर आए कर्मचारियों को बनाया बंधक

Bharat Sharma

Leave a Comment