Home » वोट प्रक्रिया: जानें कैसे चुना जाता है ‘भारत का प्रथम नागरिक’!
Top News

वोट प्रक्रिया: जानें कैसे चुना जाता है ‘भारत का प्रथम नागरिक’!

भारत के नए राष्ट्रपति के लिए देश में चुनाव आगामी सोमवार 17 जुलाई को होने हैं, राष्ट्रपति चुनाव(president election process) के लिए देश में दो उम्मीदवार मैदान में हैं। केंद्र सरकार द्वारा बिहार के पूर्व राज्यपाल रामनाथ कोविंद को और UPA की ओर से पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया गया है। हालाँकि राष्ट्रपति चुनाव में रामनाथ कोविंद का पलड़ा भारी लग रहा है। गौरतलब है कि, दोनों ही उम्मीदवारों में से कोई भी जीते देश को के.आर. नारायणन के बाद दूसरा दलित राष्ट्रपति मिलना तय है।

राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया(president election process):

लोकसभा: 543 सदस्य, सभी को वोट की अनुमति

राज्यसभा: 233 सदस्य, 231 सदस्य कर सकते हैं वोटिंग,

31 विधानसभाएँ: 4120 विधायक, 4077 कर सकते हैं वोटिंग

राष्ट्रपति चुनाव के लिए जरुरी वोट वैल्यू(president election process):

  • देश के नए महामहिम के चुने जाने के लिए जरुरी है कि,
  • प्रत्याशी को सांसदों और विधायकों की कुल वोट वैल्यू के 50 फ़ीसदी से ज्यादा वोट मिलें हों।
  • इस चुनाव के लिए टोटल वोट वैल्यू 3,84,444 है,
  • जिसके तहत 3,84,444+1,63,548+5,43,218= 10,91,210 होगी।
  • इस हिसाब से राष्ट्रपति बनने के लिए उम्मीदवार 10,91,210/2+1 = 5, 45, 606 वोट वैल्यू की जरुरत होगी।

क्या है वोट वैल्यू?(president election process):

  • राष्ट्रपति चुनाव में पड़ने वाले सभी वोटों की वैल्यू तय की जाती है।
  • वोट वैल्यू तय करने में राज्य की आबादी का अहम योगदान होता है।
  • जिसके तहत विधायकों और सांसदों की वोट वैल्यू निकालने में दो अलग-अलग फ़ॉर्मूले का प्रयोग किया जाता है।

विधायकों की वोट वैल्यू(president election process):

  • राष्ट्रपति चुनाव में विधायकों की वोट वैल्यू निकालने के लिए कुल विधायकों की संख्या में 1000 का गुणा किया जाता है।
  • जिसके बाद प्राप्त संख्या को राज्य की साल 1971 में रही जनसँख्या से भाग कर दिया जाता है।
  • उदाहरण के तौर पर 1971 में उत्तर प्रदेश की कुल आबादी 83, 849, 775 थी।
  • जिसके तहत यूपी के विधायकों की वोट वैल्यू 83, 849, 775/403*1000= 208 होगी।

सांसदों की वोट वैल्यू(president election process):

  • चुनाव में सांसदों की वोट वैल्यू निकालने के लिए सभी विधायकों की वोट वैल्यू को सांसदों की संख्या से भाग दे देते हैं।
  • जिसके तहत विधायकों की कुल वोट वैल्यू 5, 43, 218 को 776 से भाग देंगे।
  • इस दौरान हर सांसद की वोट वैल्यू 708 निकलेगी।
  • सांसदों की संख्या कम होने पर भी यह वैल्यू बदलती नहीं है।

विधायकों-सांसदों की वोट वैल्यू(president election process):

  • लोकसभा: 1 सांसद= 708, 543*708= 3,84,444 वोट वैल्यू,
  • राज्यसभा: 1 सांसद= 708, 543*708= 1,63,548 वोट वैल्यू,
  • 31 विधानसभाएं: 5,43,218 वोट वैल्यू,

रामनाथ कोविंद का पलड़ा कैसे भारी(president election process):

  • राष्ट्रपति चुनाव में NDA उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का पलड़ा भारी माना जा रहा है।
  • जिसका कारण है कि, NDA सरकार के पास टोटल वोट प्रतिशत 48.10 फ़ीसदी था।
  • रामनाथ कोविंद को उम्मीदवार बनाये जाने के बाद कई दलों ने अपना सपोर्ट NDA की तरफ खिसका दिया है।
  • जिनमें AIADMK: 5.39 फ़ीसदी,
  • YSR Congress: 1.53 फ़ीसदी,
  • TRS: 1.99 फ़ीसदी,
  • BJD: 2.99 फ़ीसदी
  • JDU: 1.89 फ़ीसदी

NDA का कुल वोट प्रतिशत: 61.89 फ़ीसदी है।

मीरा कुमार की दावेदारी थोड़ी कमजोर(president election process):

  • UPA: 50.01 फ़ीसदी,
  • SP: 2.36 फ़ीसदी,
  • BSP: 0.74 फ़ीसदी,
  • AAP: 0.82 फ़ीसदी,
  • INDL: 0.38 फ़ीसदी,

UPA का कुल वोट प्रतिशत: 54.31 फ़ीसदी है।

ये भी पढ़ें: ट्रॉमा सेंटर पहुंचे CM योगी, आग लगने के कारणों की ली जानकारी!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

प्रद्युम्‍न मर्डर केस : बॉम्बे हाईकोर्ट ने दी पिंटो परिवार को राहत

Namita

पीएम और राष्ट्रपति ने भगवान राम और लक्ष्मण की उतारी आरती

Kamal Tiwari

न अजय, न पीयूष, इन्होंने दिया है, ‘अबकी बार, मोदी सरकार’ का नारा!

Divyang Dixit