Home » किसानों का ऋण माफ करना असंभव-एमपी कृषि मंत्री
Top News

किसानों का ऋण माफ करना असंभव-एमपी कृषि मंत्री

Gauri Shankar Bisen

मध्यप्रदेश में बीते कुछ दिनों से किसानों द्वारा लगातार आंदोलन किया जा रहा है. बता दें कि यह आंदोलन किसानों द्वारा अपने क़र्ज़ माफ़ी और फसल में हुए नुक्सान की भरपाई के लिए मुआवज़े के लिए किया जा रहा है. परंतु इस आंदोलन पर कृषि मंत्री ने अपना बयान देते हुए इससे साफ़ इनकार कर दिया है.

किसानों को मिल रहा है ब्याज मुक्त ऋण :

  • मध्यप्रदेश में बीते कुछ दिनों से किसानों का अपने ऋण को माफ कराने के लिए आंदोलन छिड़ा हुआ है.
  • जिसके बाद मंदसौर में होने वाले इस आंदोलन ने हिंसा का रूप ले लिया है.
  • इस हिंसा में पांच किसान अपनी जान से हाथ धो बैठे हैं और कई घायल हुये हैं.
  • जिसके बाद अब सरकार द्वारा इन किसानों के लिए मुआवज़े का ऐलान किया गया है.
  • बता दें कि इस आंदोलन के चलते प्रदेश में अशांति का माहौल हो गया है.
  • जिसके बाद अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा उपवास रखकर शान्ति की अपील की जा रही है.
  • वहीँ दूसरी ओर मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री गौरी शंकर बिसेन द्वारा इस मामले पर अपना बयान दिया गया है.
  • जिसके तहत कहा गया है कि किसानों का ऋण माफ़ करना असंभव है.
  • साथ ही कहा है कि सरकार किस तरह ऋण माफ़ कर सकती है जब किसानो को ब्याज मुक्तऋण पहले से ही मिल रहा है.
  • जिसके बाद किसानों के ऋण को माफ़ करने की कोई आवश्यकता नहीं है.
  • इस दौरान उन्होंने बताया कि जब वे अपने पद पर आये थे तब उन्होंने किसानों को 3 प्रतिशत ब्याज पर ऋण दिया था.
  • जिसके बाद इस ब्याज को एक प्रतिशत कर दिया गया था जो बाद में शून्य प्रतिशत हो गया था.
  • ऐसे में किसानों को किसी भी तरह से ऋण मुक्त करने की बात नहीं आती है.
  • अपने इस बयान के साथ ही उन्होंने अपनी मंशा साफ़ करते हुए कहा कि उन्होंने कभी भी ऋण मुक्त करने की बात नहीं कही थी.
  • जिसके बाद अब ऐसा माना जा रहा है कि किसानों को उनकी मांग पूरी करने के लिए इंतज़ार करना होगा.

यह भी पढ़ें : किसानों के हिंसक आंदोलन के लिए मोदी सरकार जिम्मेदार: RSS किसान संघ नेता

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

कैबिनेट में सबसे बड़े फेरबदल करने की तैयारी में पीएम मोदी!

Kamal Tiwari

पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय एयरलाइनस का विमान क्रैश, 42 यात्री थे सवार

Dhirendra Singh

पैसे की कमी से जूझ रही मनरेगा, मजदूरों को महीनों से नहीं मिली मेहनताने की रकम

Namita