Home » मोदी सरकार को कई मामलों में मिली ‘फाइव स्टार रेटिंग’!
Top News

मोदी सरकार को कई मामलों में मिली ‘फाइव स्टार रेटिंग’!

Survey Report Of MyGov Portal

भाजपा की केंद्र सरकार के दो साल का कार्यकाल पूरा हो चुका है, जिसके चलते सरकार ने एक पोर्टल के सर्वे में रेल मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और ट्रांसपोर्ट मंत्रालय को फाइव स्टार रेटिंग दी है।

एचआरडी मंत्रालय पिछड़ा:

  • भाजपा की केंद्र सरकार ने दो साल का कार्यकाल पूरा कर लिया है।
  • जिसके तहत सरकार ने एक पोर्टल पर विदेश मंत्रालय, रेल मंत्रालय और ट्रांसपोर्ट मंत्रालय को फाइव स्टार रेटिंग दी है।
  • myGov पोर्टल ने यह सर्वे चलाया था, जो करीब एक महीने चला था।
  • जिसमें करीब 2 लाख 70 हजार लोगों ने हिस्सा लिया था।
  • सर्वे इसलिए भी अहम है क्योंकि पीएम नरेंद्र मोदी जल्द ही कैबिनेट में बदलाव करने वाले हैं।

सर्वे की मुख्य बातें:

  • केंद्र सरकार की विदेश नीति और रेल मंत्रालय के आधुनिकीकरण को लोगों ने काफी सराहा है।
  • करीब 60 फ़ीसदी लोगों ने इस मंत्रालयों को फाइव स्टार रेटिंग दी है।
  • वहीँ नितिन गडकरी के मंत्रालय के कामों को भी जनता ने पसंद किया है।
  • हालाँकि, सर्वे में स्मृति ईरानी के मंत्रालय को निराशा हाथ लगी है।
  • मानव संसाधन विकास मंत्रालय को सिर्फ 35 फ़ीसदी लोगों ने फाइव स्टार रेटिंग दी है।

पीएमओ जायेंगे सर्वे के नतीजे:

  • केंद्र सरकार के सर्वे की रिपोर्ट जल्द ही पीएमओ भेजी जाएगी।
  • गौरतलब है कि, पीएम मोदी जल्द ही कैबिनेट में बदलाव करने वाले हैं, ऐसे में मंत्रालय के कामों की सर्वे रिपोर्ट काफी असरदार साबित हो सकती है।
  • सर्वे में लोग केंद्र सरकार की ब्लैक मनी लाने की कोशिशों से भी नाखुश दिखे हैं।
  • ब्लैक मनी मामले में सिर्फ 31 फ़ीसदी ही फाइव स्टार रेटिंग मोदी सरकार को मिली है।
  • इसके अलावा करीब 14 फ़ीसदी लोगों ने इस मामले में वन स्टार रेटिंग दी है।
  • सरकार की भ्रष्टाचार रोकने की कोशिश पर सबसे ज्यादा फाइव स्टार रेटिंग मिली है।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

पीएम मोदी ने भोपाल पहुँच पूर्व सीएम सुंदरलाल पटवा को दी श्रद्धांजलि!

Vasundhra

तमिलनाडु : शाशिकला के खिलाफ हुआ अपहरण का मामला दर्ज!

Vasundhra

अपने लाल को वापस लाने के लिए वृद्ध माता-पिता लगा रहे केंद्र से गुहार!

Deepti Chaurasia