Home » दार्जीलिंग : GJM के बंद के चलते नागरिक पलायन करने को मजबूर!
Top News

दार्जीलिंग : GJM के बंद के चलते नागरिक पलायन करने को मजबूर!

GJM protest

पश्चिम बंगाल के खूबसूरत शहर माने जाने वाले दार्जीलिंग में इन दिनों अशांति का माहौल बना हुआ है. बता दें कि इस शहर में बीते कुछ दिनों से गोरखा जनमुक्ति मोर्चा द्वारा बंद का ऐलान किया गया है. जिसके बाद अब यहाँ की जनता इस क्षेत्र से पलायन करने को मजबूर हो गये है.

अनिश्चितकालीन समय तक बंद का ऐलान : 

  • दार्जीलिंग में बीते कुछ समय से गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ताओं द्वारा एक बंद का ऐलान किया गया है.
  • बता दें कि यह ऐलान उनके द्वारा अपनी मांगों को मनवाने के लिए किया गया है.
  • इस दौरान इन कार्यकर्ताओं द्वारा कई बार विरोध प्रदर्शन भी किये गये हैं.
  • जिसके बाद इस शहर में हिंसात्मक घटनाएं काफी बढ़ती नज़र आ रही है.
  • आपको बता दें कि गोरखा समाज अपने लिए एक अलग क्षेत्र की मांग कर रहा है.
  • ऐसे में वे पूरी कोशिश में हैं कि उसे एक अलग क्षेत्र मिले जिसमे उनका समाज रह सके.
  • ऐसे में सरकार द्वारा इस ओर किसी तरह का कोई ऐलान सुनने में नहीं आया है.
  • जिसके बाद इस समुदाय द्वारा लगातार विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है.
  • यही नहीं उनके द्वारा यह ऐलान भी किया गया है कि यह बंद अनिश्चित काल तक के लिए रहेगा.
  • जिसके बाद इस क्षेत्र का जन-जीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है.
  • साथ ही यहाँ की जनता और काम करने वाले मजदूर यहाँ के पलायन करने को मजबूर हो गए हैं.
  • बता दें कि बीते दिनों यहाँ के छात्रों द्वारा इस हिंसा में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देने के लिए एक कैंडल मार्च निकाला गया था.
  • जिसके बाद अब गोरखा समुदाय के लोगों ने यह ऐलान कर दिया है कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती,
  • तब तक इस क्षेत्र में बंद इसी तरह चलता रहेगा जिसके चलते रोज़मर्रा की चीज़ों के लिए भी लोग परेशान हैं.
  • बता दें कि इस स्थिति में उनके पास यहाँ से पलायन करने के अलावा कोई और उपाय नही है.

यह भी पढ़ें : UN चीफ ने बताई मोदी और नवाज़ से मुलाकात की खास वजह!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

बजट 2016 LIVE: वित्त मंत्री अरुण जेटली लोकसभा आज अपना तीसरा आम बजट पेश कर रहे हैं!

Org Desk

सर्वाधिक कुपोषित बच्चों की संख्या के मामले में बिहार सबसे आगे!

Shashank

कोहरे के कारण दो दर्जन से ज्यादा ट्रेनें लेट, कई रद्द!

Dhirendra Singh