एक पिता अपने बच्चे की सलामती के लिए हर संभव कोशिश करता है। इसी तरह भोपाल में जितेंद्र भामबानी ने अपने दो महीने के बच्चे की जिंदगी बचाने के लिए कई जगह गुहार लगाई। कई कोशिशों के बाद पिता की मेहनत अब रंग लाई है। बच्चे को एयर लिफ्ट कर दिल्ली ले जाया गया। वहां एम्स में बच्चे का ईलाज शुरु हुआ।

यह भी पढ़ें… वीडियो: पॉयलट द्वारा हेलीकॉप्टर पर परिवार घूमने के मामले में टी-वेंकटेश ने दिया यह बयान!

एम्स में शुरु हुआ बच्चे का इलाज :

  • बच्चे का इलाज कराने के लिए परिजनों ने हर संभव कोशिश की।
  • इसी क्रम में विदेश मंत्री से गुहार लगाने के बाद पिता के साथ परिवार के अन्य लोगों ने कई जगह कई जगह ममद की गुहार लगाई।
  • बच्चे की मदद के लिए भोपाल के मुख्यमंत्री ने हाथ बढ़ाते हुए 2 लाख की आर्थिक सहायता दी।
  • इसके साथ ही विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने मदद मदद के लिए हाथ बढ़ाया।
  • जिसके बाद 26 जून बच्चे को भोपाल से एयर लिफ्ट कर दिल्ली ले जाया गया।
  • वहां से सड़क मार्ग द्वारा ग्रीन कॉरिडोर से बच्चे AIIMS में भर्ती कराया गया।
  • जहां उसका अब उपचार हो रहा है।

यह भी पढ़ें… एम्स- डॉक्टर की लापरवाही से हुई नर्स की मौत,धरना प्रदर्शन जारी!

बच्चे को है दिल के उपचार की आवश्यकता :

  • भोपाल में जितेंद्र भामबानी के घर दो महीने पहले किलकारियां गूंजी।
  • मगर बच्चे को निमोनिया की शिकायत थी, इसलिए वह अस्वस्थ था।
  • जब परिजन अस्पताल ले गए तो पता चला कि उसे दिल की समस्या है।
  • जिसका उपचार होना जल्द होना आवश्यक है।
  • पिता ने भोपाल में इसके इलाज के लिए अस्पताल न होने की जानकारी देते हुए ट्वीट किया।
  • साथ ही दिल्ली में इलाज कराने का गुहार लगाया।
  • भारी कोशिशों के बाद अब बच्चे का इलाज एम्स में चल रहा है।

यह भी पढ़ें… संभल: सरकारी अस्पताल मैं शराब पीकर होता है मरीजों का इलाज!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें