Home » व्यंग: चुनाव की ये बेला..
व्यंग्य

व्यंग: चुनाव की ये बेला..

satire election special how political parties work for vote

चुनाव की ये बेला  ।

दोषारोपण जारी  ।।

उछालना कीचड़ ।
प्राथमिकता हमारी ।।

भटक रहे मुद्दे ।
वादों की अनदेखी ?

करना दो-दो हाथ ।
अनवरत है रेकी ?

जाओ मंदिर-मस्जिद ।
ना कोई आपत्ति ।।

सनद रहे लेकिन ।
जन को मिले शक्ति ।।

कृष्णेन्द्र राय

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Krishnendra Rai

Related posts

व्यंग: लूँगा अब नाम !

Krishnendra Rai

व्यंग्य : माँ गंगा ने बुलाया…

Desk

व्यंग: एफ़आईआर यात्रा !

Krishnendra Rai