Home » व्यंग: समाजवाद विखराव!
व्यंग्य

व्यंग: समाजवाद विखराव!

samajwadi between akhilesh yadav and shivpal yadav

हुए दो फाड़ ।
वर्चस्व की जंग ।।

होना ये अलग ।
लाएगा उमंग ?

फट गया पोस्टर ।
नेताजी नदारद ।।

समाजवादी मोर्चा ।
समाज का हमदर्द ?

समाजवाद विखराव ।
मटियामेट जारी ।।

इंतज़ार में जनता ।
सज रही सवारी ।।

कृष्णेन्द्र राय

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Krishnendra Rai

Related posts

व्यंग: कौन है विभीषण ?

Krishnendra Rai

व्यंग: एफ़आईआर यात्रा !

Krishnendra Rai

व्यंग: ना छोड़ो ईरान !

Krishnendra Rai