व्यंग्य

व्यंग: कौन ज़िम्मेदार ?

Literature special satire on delhi air pollution cause

दिल्ली हुई गंदी ।
आबोहवा खराब ।।

जीना हुआ दूभर ।
दो तुम जवाब ।।

कौन ज़िम्मेदार ?
लगातार सिलसिला ।।

क्या हुआ ऐसा ?
आयी ये बला ।।

लापरवाही मानवीय ।
सोचो कुछ निदान ।।

चुपचाप बैठकर ।
ना बनो अनजान ।।

कृष्णेन्द्र राय


 

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Reporter : Krishnendra Rai

Related posts

व्यंग: करो पुलिस सुधार !

Krishnendra Rai

व्यंग: कौन है विभीषण ?

Krishnendra Rai

व्यंग: पीट गये दारोग़ा !

Krishnendra Rai