Home » पुलिसिंग छोड़कर भविष्यवाणी करने लगी पुलिस
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

पुलिसिंग छोड़कर भविष्यवाणी करने लगी पुलिस

राजधानी की जानकीपुरम पुलिस शायद पुलिसिंग (young man missing) छोड़कर भविष्यवाणी करने लगी है। बिना पड़ताल के पुलिस को इस बात की जानकारी लग गई कि लापता युवक अपनी मर्जी से चला गया है। वहीं पीड़ित परिवार पुलिस की इस करतूत से सदमे हैं कि उसके जवान बेटे को तलाशने के बजाए पुलिस उस पर शांत बैठने का दबाव बना रही है।

युवक ने कोतवाली के अंदर दारोगा को जड़ा थप्पड़

  • पीड़ित पिता का कहना है कि पुलिसकर्मियों ने अभी तक बेटे के मोबाइल की कॉल डिटेल तक नहीं खंगाली।
  • यहां तक कि गुमशुदा होने के पोस्टर भी पुलिस ने नहीं लगवाए।
  • जब पुलिस कर्मियों से बेटे की जानकारी ली जाती है तो वो कहते हैं कि तुम्हारा बेटा खुद कहीं गया है, उसे जाकर ढूंढ लो मिल जाएगा।

लखीमपुर में आदमखोर बाघ ने किसान को बनाया निवाला

क्या है पूरा मामला?

  • जानकीपुरम विस्तान निवासी विनोद कुमार सोनी का 26 वर्षीय बेटा अभिषेक सोनी गत 24 अगस्त को किसी काम से निकला था।
  • लेकिन तब से उसका कुछ पता नहीं चल रहा।
  • परिजनों ने करीबियों, रिश्तेदारों दोस्तों के यहां तलाश किया लेकिन उसका सुराग नहीं मिल सका।
  • पीड़ित परिवार जानकीपुरम पुलिस के पास फरियाद लेकर पहुंचे तो पुलिस ने कार्रवाई के बजाए पीड़ित परिवार को 36 घंटे इंतजार करने को कहा।
  • बाद में दूसरे दिन शाम को पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर ली लेकिन उसकी तलाश करने के बजाए पीड़ित परिवार को तरह तरह के ज्ञान सिखाने लगी।
  • पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस जबरन उन पर इस बात का दबाव बना रही है कि उनका बेटा अपनी मर्जी से गया है।
  • उन्होंने जिन लड़कों पर बेटे को गायब करने का संदेह जताया है उन सभी से आरोप हटा ले।
  • पीड़ित परिवार की माने तो (young man missing) वह सीओ तक से शिकायत कर चुके हैं लेकिन सुनवाई नहीं हो रही।

इसने कई महिलाओं को अश्लील कॉल एवं भेजे थे मैसेज

चोर-चोर मौसेरे भाई

  • बताया जाता है कि अभिषेक के लापता होने के बाद पीड़ित परिवार ने एक युवक पर शक जाहिर किया था कि उसे घटना की पूरी जानकारी है।
  • यहां तक कि अभिषेक के लापता होने में भी उसका हाथ है।
  • पीड़ित परिवार का आरोप है कि वह युवक एक दरोगा का बेटा है।
  • यही वजह है कि जानकीपुरम पुलिस मामले से उस युवक का नाम हटाने की जिद पर अड़ी है।
  • आरोप तो यहां तक है कि जब दरोगा के बेटे को पूछताछ के लिए बुलाने पर जोर दिया गया तो वह नहीं आया बल्कि दरोगा खुद जानकीपुरम थाने पहुंच गए और बातचीत करने के बाद दूसरे दिन बेटे को साथ लेकर गए।
  • सूत्रों की माने तो पुलिसकर्मी के बेटे का नाम आने पर जानकीपुरम पुलिस उसे बचाने में जुट गई है।

मौसा कहकर पैर छुए और 10000 नगद ले उड़े टप्पेबाज

पांच दिन में कॉल डिटेल नहीं निकाल पाई पुलिस

  • अक्सर गुमशुदगी की घटना में कोई अप्रिय सूचना मिलती है।
  • बावजूद इसके जानकीपुरम पुलिस संवेदनहीन बनी हुई है।
  • आलम यह है कि घटना को पांच दिन बीत गए लेकिन पुलिस अभी अभिषेक के मोबाइल की कॉल डिटेल नहीं निकाल सकी।
  • जिससे इस बात की जानकारी मिल सके कि उसकी आखिरी लोकेशन कहां पर थी और उसके लापता होने से पहले किन लोगों ने फोन पर उससे बात की थी।

लोहिया अस्पताल मामले में तीन गिरफ्तार, एक फरार

अंजान लड़की की भूमिका दिख रही संदिग्ध

  • सूत्र बताते हैं कि अभिषेक के लापता होने के मामले में एक अंजान लड़की की भूमिका संदेह के घेरे में है।
  • सूत्र तो यहां तक बता रहे हैं कि (young man missing) इस लड़की को लेकर अभिषेक और संदेह के घेरे में आए दरोगा के बेटे के बीच मनमुटाव भी चल रहा था
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

शराब माफिया मुलायम यादव की 1 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति हुई जब्त

Shashank

योग दिवस: हजारों लोगों के साथ पीएम मोदी ने किया योग!

Kamal Tiwari

शिवपाल यादव ने घोषित की अपनी 81 सदस्यीय प्रदेश टीम!

Rupesh Rawat