• Home
  • Uttar Pradesh
  • इन्हें नवाजा गया है राज्य के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘यश भारती’ से !
Uttar Pradesh

इन्हें नवाजा गया है राज्य के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘यश भारती’ से !

yash-bharti-samman

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

उत्तर प्रदेश समाजवादी पार्टी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गुरुवार को यश भारती पुरस्कारों का वितरण किया, उत्तर प्रदेश का यश भारती सम्मान एक ऐसा प्रतिष्ठित सम्मान है जो विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट योगदान करने वाली राज्यों की विभूतियों को प्रदान किया जाता है.

71 विभूतियों को सम्मान:

  • मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गुरुवार को यश भारती पुरस्कारों का वितरण किया.
  • जिसके तहत सीएम अखिलेश ने 71 विभूतियों को यश भारती पुरस्कार से सम्मानित किया.
  • ये हैं राज्य की वे विभूतियाँ जिन्हें यश भारती पुरस्कार से नवाजा गया है-

स्वरूप कुमार बक्शी, माहेश्वर तिवारी, संतोष आनंद, राज कृष्ण मिश्र, केवल कुमार, डा० अनिल कुमार रस्तोगी, प्रो० (डा०) कमर रहमान, हमीदा हबीबुल्लाह, डा0 सैय्यद मोहम्मद बशीर बद्र, डा0 राम रतन बनर्जी,  अशोक निगम, डॉ. सबीहा अनवरहमीदा हबीबुल्लाह, नवाब मीर जाफर अब्दुल्लागार्गी यादव, नसीरुद्दीन शाहडा0 सैय्यद मुहम्मद हस्सानवेंकट चंगावली, डॉ. रतीश अग्रवालप्रो0 (डा0) गौरदास चौधरीउस्ताद गुलफाम अहमद रबाबप्रो. राकेश कपूर, पंडित विश्वनाथकाशीनाथ यादव, अतुल तिवारी, राम मिलन यादवराजेंद्र सिंह, दीपक कुमार अग्रवालसौरभ शुक्ला, सर्वेश अस्थाना, अनुभव सिन्हा, मो. असलम वारसी, फारुख अहमद, आत्म प्रकाश मिश्र, रमाकान्त यादवडॉ.शिवानी मातनहेलिया, ज्ञानेंद्र पांडेय, विजय शेखर शर्मा, अनुपमा रायसुमन यादव, क्रिकेटर प्रवीन कुमार, मरिंदर कुमार मिश्र, क्रिकेटर पीयूष चावला, सुमोना चक्रवर्ती, क्रिकेटर भुवनेश्वर कुमार, वरुण सिंह भाटी, योगेश मिश्रा, जनरल अनिल चैतओम उपाध्यायदीपराज राणा, अर्जुन बाजपेयीरवि कपूर, गीताकार मनोज मुंतसिरपद्मा गिडवानी, कमाल खाननूर अलस्सबागुलाम शर्फुद्दीन अंसारीडा0 आलोक पारिकउस्ताद नाजिम हुसैनपं0 हरि प्रसाद मिश्र, गुलाम मोइनुद्दी कुरैशीपण्डित रामकुमार मिश्रडा0 राममोहन पाठक शामिल है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

स्वरूप कुमार बक्शी (साहित्यकार)-

 

yash-bharti-samman-swaroop-kumar-bakshi

 

  • स्वरूप कुमार बक्शी का जन्म 22 जून, 1919 को लखनऊ में हुआ.
  • इन्होंने लखनऊ विश्वविद्यालय से अंग्रेज़ी तथा संस्कृत में परास्नातक किया है.
  • इन्होंने हिंदी साहित्य की लगभग सभी विधाओं में रचनाएं लिखीं जिनमें कहानी संग्रह ‘कौड़ियों का नाच’, ‘रेडियम के अक्षर’, ‘निर्झर कन्या’, ‘डाली की डिनर पार्टी’, नाटक संग्रह ‘मेम साहब का बेरा’, ‘मैं मायके चली जाऊँगी’, ‘मेरे श्रेष्ठ रंगमंचीय हास्य एकांकी’, ‘निखट्टू पति’, कविता संग्रह ‘अनन्त की मात्रा’, ‘हे परमानन्द’, ‘नारी तुम घर-घर गंगा हो’, लघु उपन्यास ‘जब नेताजी मंत्री बने’, ‘विश्व का धरम-काँटा’, ‘विजय घोष’, उपन्यास ‘क्षीर सागर मंथन की रश्मियाँ’ आदि प्रमुख हैं.
  • विगत कई वर्षों से दूरदर्शन, लखनऊ द्वारा गीत एवं कविता पाठ का प्रसारण भी होता आ रहा है.
  • इन्हें इनके साहित्यिक उपलब्धियों के लिए उ०प्र० हिंदी संस्थान द्वारा ‘साहित्य भूषण सम्मान’ वर्ष 2002, ‘कौड़ियों का संग्रह’ कहानी संग्रह के लिए उत्तर प्रदेश सरकार का उत्कृष्ट लेखन सम्मान, ‘मेम साहब का बेरा’ कृति के लिए हिन्दी समिति पुरस्कार आदि अनेकानेक सम्मान एवं पुरस्कार दिया गया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

माहेश्वर तिवारी (साहित्यकार)-

 

yash-bharti-samman-maheshwar-tiwari

 

  • माहेश्वर तिवारी का जन्म उत्तर प्रदेश के ज़िला बस्ती ग्राम मलौली में 22 जुलाई को हुआ था.
  • इन्होंने वर्ष 1951 से पारंपरिक छनद (सवैया) तथा वर्ष 1953 से गीत लेखन में शुरू किया.
  • इनके द्वारा सृजित लगभग आधा दर्जन नवगीत संग्रह तथा एक निबंध संग्रह प्रकाशनाधीन है.
  • इनकी रचनाएं सभी प्रमुख समाचारों, पत्रों और प्रमुख साहित्यिक पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुकी हैं.
  • ये हिंदी साहित्य के मर्मज्ञ एवं प्रख्यात साहित्यकार है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

संतोष आनन्द (फिल्म साहित्यकार)-

 

yash-bharti-samman-santosh-anand

 

  • संतोष आनन्द का जन्म 05 मार्च 1939 को दुलहैंडी, सिकंदाराबाग, जिला बुलंदशहर, उ०प्र० में हुआ था.
  • नियमित संतोष रूप से साहित्य लेखन कार्य कर रहे हैं.
  • इनकी साहित्यिक कृतियाँ ‘गीत के क्षण’ एवं ‘इक प्यार का नगमा’ चर्चित रहीं.
  • विदेश में भी इनके गीतों को अपार लोकप्रियता हासिल हुई है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

राज कृष्ण मिश्र (साहित्यकार)-

 

yash-bharti-samman-raj-krishn-mishr

 

  • लेखक एवं साहित्यकार राज कृष्ण मिश्र का जन्म 03 अगस्त, 1940 को वाराणसी, उ०प्र० में हुआ.
  • इन्होंने रेखाचित्र, उपन्यास, नाटक आदि कुल 14 रचनाएं लिखी है.
  • इनके द्वारा लिखी गई कहानियों में से ‘क्या होगा’, धडकनों का राज’, ‘कफ़न के लिए’, ‘कामना का क्षितिज’ आदि चर्चित रहीं.
  • वर्ष 2014 में उ०प्र० हिंदी संस्थान द्वारा साहित्य भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

केवल कुमार (संगीत निर्देशक)-

 

yash-bharti-samman-kewal-kumar

 

  • केवल कुमार का जन्म 04 फरवरी, 1941 को लखनऊ में हुआ.
  • इनके संगीत निर्देशक तथा गायक के रूप में अनेक ऑडियो कैसेट्स जारी हो चुके है जिनमे ‘कागज़ पे कलाम तेरा’, मेरे गीत तुम्हारे घर तक’, मोरे टिकुलिया चमके’, ‘आरजू’, ‘बन्दगी’ आदि विशेष रूप से लोकप्रिय हैं.
  • इन्होंने हिंदी फीचर फिल्म ‘करिश्मा किस्मत का’ के लिए संगीत निर्देशन भी किया है.
  • इसके अलावा इन्होंने भोजपुरी फिल्म ‘नेहिया सनेहिया’ में आठ भोजपुरी गीतों के लिए संगीत निर्देशन तथा अवधि सीरियल ‘लोक धरोहर’ के लिए 150 गीतों की रिकॉर्डिंग भी कराई है.
  • इसके साथ-साथ इन्होंने अनेक टीवी सीरियल के संगीत निर्देशन भी किया है.
  • उ०प्र० संगीत नाट्य अकादमी संगीत निर्देशन सम्मान-2006 के साथ-साथ कई सम्मान से नवाज़ा गया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

डा० अनिल कुमार रस्तोगी (अभिनय)-

 

yash-bharti-samman Anil Kumar

 

  • विज्ञान ओए कला के अनूठे संगम डा० अनिल रस्तोगी का जन्म 04 अप्रैल, 1943 को लखनऊ में हुआ.
  • इन्होंने अभिनय की चारों विधाओं- फिल्म, रंगमंच, टेलीविज़न व रेडियो में अपनी विशिष्ट पहचान बनाई है.
  • इन्होंने फिल्म ‘इश्कजादे’ (2012) ने नायक अर्जुन कपूर के दादा की भूमिका बहुत चर्चित हुई थी.
  • लघु फिल्म ‘आठवण’ (2016) ने भी इन्होंने मुख्य भूमिका निभाई थी.
  • अनिल कुमार रंगमंच पर 55 वर्षों से सक्रिय हैं तथा अब तक 88 नाटकों का पूरे भारत में 850 से अधिक प्रदर्शन करा चुके है.
  • देश की सबसे पुरानी नाट्य संस्था ‘दर्पण’ में 37 वर्षों से सचिव पद पर अपना योगदान कर रहे है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

प्रो० (डा०) कमर रहमान (वैज्ञानिक)-

 

  • प्रो० कमर रहमान का जन्म 15 अगस्त, 1944 को हुआ.
  • वर्ष 1970 से 2003 तक प्रो० रहमान आई.टी.आर.सी. में वैज्ञानिक के विभिन्न स्तर के पदों पर अपनी सेवाएं दी है.
  • अब तक इनके 141 शोध प्रकाशित हो चुके है.
  • इन्होंने अनेक शोध कार्य किए जिसमें फेफड़े पर सिलिका, एस्बेस्टस धूल, वायु प्रदूषण आदि के असर को विश्लेषित किया.
  • इन्हें अनेकानेक पुरस्कार प्राप्त हुए है जिसमे वर्ष 2003 में ‘यू०पी० रत्न सम्मान’ तथा वर्ष 2013 में उ०प्र० सरकार का ‘विज्ञान भूषण सम्मान’ विशेष रूप से उल्लेखनीय है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

बेगम हमीदा हबीबुल्लाह (समाजसेवी)-

 

yash-bharti-award-begam-hameeda-habibullah

 

  • इनका जन्म 20 नवम्बर, 1961 को लखनऊ में हुआ.
  • वो 99 वर्ष की आयु में भी सामजिक कार्यों में सक्रिय हैं.
  • महिलाओं के उत्थान के लिए इन्होंने अथक प्रयास किये है.
  • इन्होंने सन् 1965 में राजनीति में प्रवेश किया.
  • इन्हें ‘नेशनल एलायंस ऑफ़ यंग इंटरप्रिनर’ (1989) सम्मान, आल इंडिया क्वार फाउंडेशन द्वारा ‘क्वार कहकशा सम्मान’ (2005) के साथ-साथ अनेकानेक पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

डाo सैय्यद मोहम्मद बशीर बद्र (उर्दू शायर)-

 

yash-bharti-award-mohommad-basheer

 

  • उर्दू के मशहूर शायर मोo बशीर बद्र का जन्म 15 फरवरी, 1935 को ओद्योगिक नगरी कानपुर में हुआ था.
  • इन्होंने उर्दू से परास्नातक कर स्वर्ण प्राप्त किया. उर्दू साहित्य के क्षेत्र में इनकी शायरी के सभी कायल है.
  • इनके द्वारा लिखित अनेक पुस्तके प्रकाशित हुई है, जिनमें ‘एकई’, ‘आमद’, ‘इमेज’, ‘आस’, ‘आहट’, ‘बशीर बद्र, नई ग़ज़ल का एक नाम’, ‘कुलियत-ए-बशीर बद्र’, ‘आसमान’, ‘कोई शाम घर भी रहा करो’, ‘अल्लाह हाफ़िज़’ अत्यंत लोकप्रिय हुए.
  • इन्हें वर्ष 1999 में भारत सरकार द्वारा ‘पद्मश्री’ से नवाज़ा गया..

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

डा० राम रतन बनर्जी (चिकित्सा)-

  • डा० राम रतन बनर्जी का जन्म 03 जून, 1936 को जनपद गोरखपुर में हुआ.
  • इन्होंने वर्ष 1975 में ‘दी होमियो इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिसिन’, न्यूयॉर्क से ‘द डॉक्टर ऑफ़ साइंस’ की उपाधि प्राप्त की.
  • राम रतन बनर्जी होमियोपैथ के लब्ध प्रतिष्ठित चिकित्सक हैं.
  • इन्होंने समय-समय पर मेडिकल कैंप लगाकर रोग प्रतिरोधक औषधियों का नि:शुल्क वितरण किया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

अशोक निगम (पत्रकार)-

 

yash-bharti-samman-ashok-nigam

 

  • अशोक निगम का जन्म 12 नवम्बर, 1946 को हुआ.
  • विगत 46 वर्षों से ये पत्रकारिता के क्षेत्र, विभिन्न समाचार पत्रों एवं पत्रिकाओं में कार्य कर रहे हैं.
  • इनके राजनीति के अतिरिक्त अर्थनीति, विदेशनीति और भाषा के सवालों पर समाचारपत्रों एवं पत्रिकाओं में अनेक लेख प्रकाशित हुए.
  • इन्हें गाँधी, कार्लमार्क्स, लोहिया, मधुलिमये आदि समाजवादी विचारकों के सिद्धांतों तथा विचार की व्याख्या करने में विशेष रूचि है.
  • वर्तमान में आशोक निगम समाजवादी पार्टी की पत्रिका ‘समाजवादी बुलेटिन’ के कार्यकारी संपादक के दायित्व का निर्वहन कर रहे हैं.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

डॉ० सबीहा अनवर (अध्यापन एवं उर्दू लेखन)-

 

yash-bharti-samman-sabiha

 

  • उर्दू लेखन में सिद्धस्त डॉ० सबीह अनवर का जन्म 30 दिसम्बर 1948 को संडीला, हरदोई में हुआ.
  • शिक्षाविद्, उर्दू लेखिका, समाजसेवी डॉ० सबीह अनवर ने उर्दू भाषा के प्रसार एवं अल्पसंख्यक बालिकाओं के शिक्षा के द्वारा आत्मा-विश्वास जागृत करने का कार्य किया है.
  • लखनऊ के करामत हुसैन गर्ल्स डिग्री कॉलेज में उर्दू विभाग की विभागाध्यक्ष और महाविद्यालय के प्राचार्य पद को सुशोभित किया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

नवाब मीर जाफर अब्दुल्लाह (हस्तशिल्पकला/सँस्कृतिकर्मी)-

 

yash-bharti-award-meer-jafar-abdullaha

 

  • नवाब मीर जाफर का जन्म 17 मार्च, 1950 को लखनऊ में हुआ.
  • इनकी सांस्कृतिक एवं सामाजिक कार्यों में सदैव ही रूचि रही है.
  • नबाव जाफर सामाजिक, सांस्कृतिक, आध्यात्मिक और साहित्यिक गतिविधियों में सक्रिय और अवध की संस्कृति और विरासत के संरक्षण के लिए सदैव तत्पर रहते हैं.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

गार्गी यादव (कुश्ती)-

 

yash-bharti-award-gargi-yadav

 

  • गार्गी यादव का जन्म 01 जून, 1991 को मेरठ में हुआ.
  • इन्होंनें कई कुश्ती खेल की प्रतिस्पर्धाओं में भाग लेकर तथा पदक प्राप्त कर प्रदेश एवं देश को गौरवान्वित किया है.
  • गार्गी यादव ने 2009 और 2015 के नेशनल गेम्स में रजत पदक प्राप्त किया है.
  • इसके अलावा इन्होंनें कई ऑल इण्डिया अंडर विश्विद्यालय प्रतियोगिताओं में भाग लेकर स्वर्ण एवं कांस्य पदक प्राप्त किया है।

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

नसीरूद्दीन शाह (अभिनेता)-

 

yash-bharti-award-Naseeruddin-Shah

 

  • नसीरूद्दीन शाह का जन्म 20 जुलाई, 1950 को जनपद बाराबंकी, उत्तर प्रदेश में हुआ.
  • नसीरूद्दीन अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से स्नातक की उपाधि प्राप्त की.
  • तत्पश्चात् नेशनल स्कूल आफॅ ड्रामा में विधिवत प्रशिक्षण प्राप्त कर रंगमंच और हिन्दी फिल्मों में सक्रिय हो गये.
  • इन्हें वर्ष 1987 में पद्मश्री और वर्ष 2003 में पद्मभूषण तथा वर्ष 2000 में संगीत नाटक अकादमी एवार्ड से सम्मानित किया गया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

डा0 सैय्यद मुहम्मद हस्सान (यूनानी चिकित्सा एवं अनुसंधान)-

  • डा0 सैय्यद मुहम्मद हस्सान का जन्म 28 जून 1952 को जनपद बस्ती, उत्तर प्रदेश में हुआ.
  • डा0 हस्सान अरबी, फारसी, हिन्दी, संस्कृत तथा अंग्रेजी भाषा का ज्ञान रखते है.
  • इस विशेष योग्यता को कार्यान्वित करके आपने यूनानी चिकित्सा से सम्बन्धित दो दर्जनों से अधिक पुस्तकें लिखी.
  • केन्द्रीय यूनानी संस्थान, लखनऊ में कार्यरत रहते हुए गठिया, सफेद दाग, मोटापा पर अत्यन्त सफल परिक्षण कर प्रसिद्ध हुए.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

 

वेंकट चंगावल्ली (समाज सेवा)-

 

yash-bharti-samman-venkat-changwalli

 

  • वेंकट चंगावल्ली का जन्म 20 जुलाई, 1952 को आंध्र प्रदेश में हुआ.
  • इन्होंनें उत्तर प्रदेश सरकार में स्वास्थ्य तथा गृह मामलों के दिसम्बर, 2014 से सलाहकार के रूप में कार्य किया.
  • वेंकट चंगावल्ली ने डायल ‘100’ परियोजना का पूरे राज्य स्तर पर विस्तार किया जिसके द्वारा निर्बाध रूप से इन्टीग्रेटेड पुलिस रिस्पान्स इमरजेन्सी सिस्टम संचालित कर राज्य के दूर-दराज क्षेत्रोंतक आम जनता की सुरक्षा सुनिश्चित की जा रही है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

डॉरतीश चन्द्र अग्रवाल (चिकित्सा)

 

 

  • डॉ0 रतीश चन्द्र अग्रवाल का जन्म 19 दिसम्बर, 1952 को जनपद कानपुर में हुआ.
  • इन्होंनें वर्ष 1977 में किंग जार्ज मेडिकल कालेज, लखनऊ से एम‐बी‐बी‐एस‐ की उपाधि प्राप्त की.
  • तदुपरान्त डिप्लोमा इन आर्थोपेडिक्स कर इस विधा में समर्पित भाव से रोगियों का उपचार किया.
  • पोलियो उन्मूलन एवं पोलियोग्रस्त मरीजों के पुनर्वास हेतु सार्थक योगदान किया.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

प्रो0 (डा0) गौरदास चौधरी (चिकित्सा)

 

 

  • डा0 गौरदास चौधरी का जन्म 23 दिसम्बर, 1955 को हुआ.
  • ये गैस्ट्रोइन्ट्रोलॅाजिस्ट शिक्षक, शोधकर्ता एवं समाजसेवी भी है.
  • डा0 गौरदास ने देश के स्वास्थ्य जागरूकता अभियान में महत्वपूर्ण योगदान किया है.
  • एस0जी0पी0जी0आई0, लखनऊ में चिकित्सा के लिए अग्रणी योगदान देने के पश्चात् वर्तमान समय में डा0 गौरदास नेशनल इण्डियन सोसाइटी आफ गैस्ट्रोलाजी के प्रेसीडेन्ट हैं.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

उस्ताद गुलफाम अहमद रबाब (रबाब एवं सरोद वादक)-

 

 

  • उस्ताद गुलफाम अहमदका जन्म 13 जून, 1956 को कस्बा बुगरासी, जिला बुलन्दशहर, उत्तर प्रदेश में हुआ.
  • उस्ताद गुलफाम भारत वर्ष मे एकमात्र शास्त्रीय रबाब वादक हैं.
  • इस धरोहर को आगे बढ़ाने के लिए इन्होंनें अनेक शिष्य भारत, पाकिस्तान, आस्ट्रेलिया, कनाडा व अफगानिस्तान में इस वाद्य को सिखाने के लिए नियुक्त किया गया.
  • इन्होंनें भारत में अनेक स्थानों पर संगीत समारोहों में प्रस्तुतियाँ देकर श्रोताओं को मन्त्रमुग्ध किया.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

प्रो0 राकेश कपूर (चिकित्सा शिक्षा)-

yash-bharti-award-prof-rakesh-kapoor

 

  • प्रो0 राकेश कपूर का जन्म 23 जनवरी, 1956 को लखनऊ में हुआ.
  • इन्होंनें वर्ष 1970 में उ0प्र0 बोर्ड से विशेष योग्यता सहित हाईस्कूल उत्तीर्ण किया.
  • प्रो0 राकेश ने के0जी0एम0यू0 द्वारा एनाटमी, फिजियोलॉजी, पैथालाजी, फार्माकोलॉजी, मेडिसन तथा सर्जरी में मानद उपाधि प्रदान किया गया.
  • सम्प्रति प्रो0 राकेश निदेशक एवं प्रोफेसर आफॅ यूरोलाजी एवं रीनल ट्रांसप्लांट विभाग, संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान, लखनऊ के पद पर कार्यरत हैं.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

पंडित विश्वनाथ (शास्त्रीय संगीत)-

 

 

  • संगीत मर्मज्ञ पंडित विश्वनाथ का जन्म विख्यात संगीतज्ञ परिवार में वर्ष 1957 में हुआ.
  • इन्होंनें अपनी गायकी की विलक्षण प्रतिभा का लोहा देश में ही नहीं अपितु विदेशों में भी मनवाया है.
  • पंडित विश्वनाथ को सुरमणि-1982, पं0 निखिल बनर्जी पुरस्कार-1993, संगीत शिल्पी, संगीत शिरोमणि, संगीत मारतंड आदि कई प्रमुख उपाधियों से सम्मानित किया जा चुका है.
  • पंडित विश्वनाथ आकाशवणी के टाप ग्रेड कलाकार हैं और वर्ष 2005 से बनारस संकट मोचन हनुमान मंदिर में लगातार अपनी कार्यक्रम प्रस्तुत करते आ रहे हैं।

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

काशीनाथ यादव (लोकगीत बिरहा’)-

 

 

  • भोजपुरी लोकगीत, बिरहा गायन शैली के पारंगत काशीनाथ यादव का जन्म 11 अक्टूबर, 1958 को जनपद गाजीपुर में हुआ.
  • इन्होंनें सार्वजनिक मंचों से जनसामान्य में सामाजिक, संास्कृतिक व राष्ट्रीय चेतना का विकास करना, समाज के उपेक्षित, शोषित व अन्य पिछड़े वर्गों में राजनैतिक चेतना जागृति हेतु भोजपुरी भाषा में गीतों को लिखा व गायन किया.
  • सन् 1994 से 2012 तक विधान परिषद, उ0प्र0 के सदस्य के रूप में कार्य किया और भोजपुरी भाषा को विधान परिषद में मान्यता दिलायी.
  • सैकड़ों लोकगीतों को भोजपुरी में गाकर जनसामान्य में लोकप्रियता हासिल की.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

अतुल तिवारी (नाट्य/फिल्म लेखन और अभिनय)-

 

 

  • अतुल तिवारी का जन्म 20 दिसम्बर, 1958 को गंगा-जमुनी तहज़ीब के शहर लखनऊ में हुआ.
  • नाटक, फिल्म, निबन्ध वार्ता, अध्यापन एवं नाट्य मंचन के क्षेत्र में आपका विशिष्ट स्थान है.
  • अतुल तिवारी फिल्म लेखक संघ, सॉंग (सोसाइटी आफॅ एन0एस0डी0 ग्रेजुएट्स) और चौपाल जैसी संस्थाओं के सक्रिय सदस्य हैं.
  • इनको 2015 में केन्द्रीय संगीत नाटक अकादमी की कार्यकारिणी का सदस्य मनोनीत किया गया.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

 

राम मिलन यादव (खेल, कुश्ती)-

 

 

  • अद्वितीय प्रतिमा के धनी राम मिलन यादव का जन्म 28 मई, 1959 को ग्राम व पोस्ट रामपुर गोपालपुर जिला गोरखपुर में हुआ.
  • इन्होंनें कुश्ती के क्षेत्र में अपने कला कौशल से अनेक कीर्तिमान स्थापित किये.
  • राम मिलन यादव ने कुश्ती के क्षेत्र में जिन मापदण्डों की स्थापना की, उससे प्रदेश के युवा निरन्तर अनुप्राणित होते रहेंगे.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

राजेन्द्र सिंह (जल संरक्षण)-

yash-bharti-samman-rajendra-singh

 

  • राजेन्द्र सिंह का जन्म 06 अगस्त, 1959 को दौला, बागपत, उत्तर प्रदेश में हुआ.
  • ‘जलपुरूष’ के नाम से चर्चित राजेन्द्र सिंह ने ‘तरूण भारत संघ’ के नाम से एन0जी0ओ0 की स्थापना की.
  • इन्होंने जल संरक्षण की शुरूआत 1985 में एक गाँव से की थी.
  • राजेन्द्र सिंह ने तरूण भारत संघ द्वारा जल संरक्षण हेतु 8600 जोहड़ों का निर्माण कराया है जिसके माध्यम से राजस्थान के 1000 गावों तथा पांच नदियों अरावली, रूपारेल, सरसा, भागनी और जहाजवाली में पुनः जल आ गया है.
  • इन्हें वर्ष 2001 में रैमन मैग्सेसे वर्ष 2015 में ‘स्टाकहोम वाटर पुरस्कार’, जिसे जल का नोबेल पुरस्कार भी कहते है सहित अनेकानेक सम्मान से विभूषित किया गया है।

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

डा0 दीपक कुमार अग्रवाल (चिकित्सा)-

 

yash-bharti-samman-deepak-kumar-agrwal

 

  • डा0 दीपक कुमार अग्रवाल का जन्म 20 नवम्बर, 1961 को लखनऊ, उ0प्र0 में हुआ.
  • इन्हें ओसियोफैगस-गैस्ट्रो-डुडेनोस्कोपी (ओ.जी.डी.), कोलनोस्कोपी, एन्डोस्कोपी आदि अनेक क्षेत्रों में विशेषज्ञता हासिल है.
  • वर्तमान समय में डा0 दीपक कुमार 60 बेड का गैस्ट्रोलाजी से सम्बन्धित अस्पताल ‘ग्लोब मेडिकेयर’ के निदेशक हैं.
  • इन्हें भारत की प्रतिष्ठित चिकित्सीय संस्थानों की सदस्यता प्राप्त है जिसमें इण्डियन सोसाइटी आफ गैस्ट्रोलाजी, इण्डियन एसोसिएशन फार स्टडी आफ लीवर एवं सोसाइटी आफ गैस्ट्रोइन्टेस्टाईनल एन्डोस्कोपी आफ इण्डिया प्रमुख है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

सौरभ शुक्ला (अभिनेता, निर्देशक एवं पटकथा लेखन)-

 

yash-bharti-award-saurav-shukla

  • सौरभ शुक्ला का जन्म 05 मार्च, 1963 को गोरखपुर उ0प्र0 में हुआ.
  • भारतीय सिनेमा में ये अभिनेता, निर्देशक एवं पटकथा लेखन के रूप में चर्चित हैं.
  • सौरभा शुक्ला को ‘जॉली एल0एल0बी0’ फिल्म में बेस्ट सपोर्टिंग रोल के लिए ‘स्क्रीन एवार्ड’ तथा ‘राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार’ प्राप्त हुआ। इन्होंनें ‘स्लम डॉग मिलिनेयर’ जैसे अन्तर्राष्ट्रीय फिल्म में हेड कांस्टेबल की भूमिका अदा की.
  • सौरभ शुक्ला ने हिन्दी ही नहीं अपितु भारत की अनेक भाषाओं की फिल्मों में भूमिका अदा की.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

सर्वेश अस्थाना (साहित्यकार)-

 

yash-bharti-award-sarvesh-kumar-asthana

  • सर्वेश अस्थाना का जन्म 12 जून, 1965 को तहसील सण्डीला, जिला हरदोई, उ0प्र0 में हुआ.
  • इनकी सामाजिक कार्यों में गहरी रूचि है.
  • इन्होंनें ‘सर्च फाउण्डेशन’ की स्थापना वर्ष 2000 में की जो जरूरतमन्द बच्चों के लिए समर्पित है.
  • सर्वेश अस्थाना थैलीसीमिया हेपेटाइटिस से बच्चों के बचाव हेतु 17 वर्ष से निरन्तर प्रयासरत हैं.
  • ये साहित्यिक कार्यों में भी रूचि रखते हैं। इनके द्वारा लिखित बाल गीत संग्रह ‘इनको जानो इन्हें मनाओ’ व ‘इनको शीष नवाओ’ अत्यधिक चर्चित रहे हैं.
  • वर्ष 2012 से साहित्यिक पीठ सृजन की स्थापना कर इन्होंनें नई पीढ़ी को प्रोत्साहित करने का कार्य किया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

 

अनुभव सिन्हा (फिल्म निर्देशक)-

 

 

  • अनुभव सिन्हा का जन्म 1965 में इलाहाबाद, उ0प्र0 में हुआ.
  • इन्होंनें वर्ष 1994 तक पंकज पराशर के साथ बतौर सहायक निदेशक के रूप में कार्य किया, तदोपरान्त इन्होंने जी0टीवी के लिए स्वतंत्र निर्देशक के रूप में कार्य करने लगे.
  • इन्होंनें रोमैन्टिक ड्रामा, एक्शन तथा थ्रिलर पर आधारित फिल्मों का निर्देशन किया.
  • इनके द्वारा निर्देशित फिल्में ‘तुम बिन’, ‘आपको पहले भी कहीं देखा है’, ‘दस’, ‘तथास्तु’, ‘कैश’, ‘रा-वन’ एवं ‘गुलाब गैंग’ सिनेमा इतिहास में अत्यन्त सफल साबित हुई.
  • अपनी प्रतिभा और परिश्रम से फिल्मी क्षेत्र में अनुभव सिन्हा ने एक विशिष्ट पहचान बनाई है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

मोहम्मद असलम वारसी (कव्वाली गायन)-

 

 

  • मोहम्मद असलम वारसी का जन्म 31 मई, 1966 को बरेली में हुआ.
  • इन्हें तीन भाषाओं हिन्दी, उर्दू एवं फारसी का ज्ञान है.
  • ये आकाशवाणी, रामपुर से वर्ष 1987 से लगातार कव्वाली प्रस्तुत कर रहे हैं.
  • इसके अतिरिक्त इण्डियन ट्रेड फेयर वर्ष 2000, 2001 एवं 2007 में भी कव्वाली कार्यक्रम प्रस्तुत किया.
  • समय-समय पर इन्हें अनेकानेक सम्मानों से नवाज़ा गया जिनमें समर यंग एसोसिएशन दिल्ली द्वारा ‘प्रीत रागी देश रक्षक एवार्ड-1985 एवं सूफी अख्तर शेरी वेलफेयर सोसइटी, भोपाल का ‘सूफी संगीत सेवा सम्मान’ उल्लेखनीय हैं.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

फारूक अहमद (समाजसेवी)-

yash-bharti-award-farukh-ahmed

 

  • फारूक अहमद का जन्म 14 जुलाई, 1966 को ग्राम इस्माइलपुर, आबापारा, पोस्ट व तहसील बांगरमऊ जिला उन्नाव में हुआ था.
  • ये पेशे से वकील हैं.
  • इन्होंने जनहित याचिकाओं के माध्यम से अपने क्षेत्र के अनेक कार्यों को पूर्ण कराया जिनमें बांगरमऊ-सण्डीला रोड का निर्माण कार्य, बांगरमऊ को तहसील बनाये जाने का कार्य, लखनऊ-बांगरमऊ-दिल्ली स्टेट का निर्माण आदि विशेष रूप से उल्लेखनीय है.
  • इन्होंनें समाज में हो रहे अन्याय एवं उत्पीड़न का हमेशा ही विरोध किया है.
  • फारूक अहमद समाज सेवा के कार्यों में तल्लीन हैं और निरन्तर सामाजिक कार्य करवाकर समाज में अपनी विशिष्ट स्थान बनाने में सफल हुए हैं.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

आत्म प्रकाश मिश्र (ब्राडकास्टर)-

 

 

  • आत्म प्रकाश मिश्र का जन्म 01 जुलाई, 1967 को प्रतापगढ़, उ0प्र0 में हुआ.
  • इन्हें दूरदर्शन एवं आकाशवाणी में अनवरत 28 वर्षों का ब्राडकास्टिंग का व्यापक अनुभव है तथा दूरदर्शन एवं आकाशवाणी में 2000 से अधिक कार्यक्रम प्रसारित किये हैं.
  • सम्प्रति आत्म प्रकाश मिश्र लखनऊ दूरदर्शन में कार्यक्रम अधिशाषी के पद पर कार्य कर रहे हैं.
  • इन्हें अनेक सम्मान प्राप्त हुए जिनमें सेवा-विभूति सम्मान, 2006, मीडिया-गौरव सम्मान, 2009, लोक सेवा प्रसारक सम्मान, 2012 एवं अवधी सम्मान, 2015 विशष रूप से उल्लेखनीय हैं.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

 

डा0 रमाकान्त यादव (चिकित्सा)-

 

yash-bharti-samman-ramakant-yadav

 

  • विलक्षण प्रतिभा के धनी डा0 रमाकान्त यादव का जन्म जिल मैनपुरी, उ0प्र0 में 11 सितम्बर, 1968 को हुआ.
  • इनका मेडिकल छात्रों की शिक्षा एवं मरीजों के उपचार के अतिरिक्त चिकित्सा क्षेत्र के शोध कार्य में सराहनीय योगदान रहा है.
  • इनके लगभग पच्चीस शोध पत्र विभिन्न राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय जनरल में प्रकाशित हुए है.
  • इनको चिकित्सा क्षेत्र में उत्कृष्ठ एवं सराहनीय योगदान के लिए वर्ष 2009 में इंडियन एसोसिएशन आफॅ क्लीनिकल मेडिसिन (आई.ए.सी.एम.) द्वारा फैलोशिप एवार्ड प्रदान किया गया.
  • वर्तमान में ये उ0प्र0 आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय के न्यूरोलाजी विभाग के प्रोफेसर एवं विभागाध्यक्ष हैं.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

 

डॉ0 शिवानी मातनहेलिया (शास्त्रीय संगीत)-

 

 

  • डॉ0 शिवानी मातनहेलिया का जन्म 20 जनवरी, 1972 को प्रतापगढ़, उत्तर प्रदेश में हुआ.
  • डॉ0 शिवानी ‘पाथेय’ सामाजिक सांस्कृतिक संस्थान की निदेशिका तथा ‘संगीत-संकल्प’ संस्थान की सचिव है.
  • इनको लेखन का विशद अनुभव है.
  • इनके लेख विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हुए.
  • इन्हें संगीत निर्देशन की भी विशेषज्ञता प्राप्त है.
  • डॉ0 शिवानी को अनेक कार्यक्रमों यथा-सांस्कृतिक संध्या, बैठक, रंगोत्सव, लखनऊ महोत्सव व अन्य महोत्सवों में मंच प्रस्तुति का अनुभव भी है.
  • ख्याल शैली की अनेक बंदिशों, तरानों, भजनों, लोक गीतों व साहित्यिक गीतों को इन्होंने स्वरबद्ध किया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

 

ज्ञानेन्द्र पाण्डेय (क्रिकेट)-

 

 

  • ज्ञानेन्द्र पाण्डेय का जन्म 12 अगस्त, 1972 को लखनऊ, उ0प्र0 में हुआ.
  • ये बाएं हाथ के बैट्समैन तथा स्लो लेफ्ट आर्म आर्थेडॉक्स बालर हैं.
  • ये बी0सी0सी0आई0 जूनियर सेलेक्शन कमेटी 2015-16 तथा सेन्ट्रल जोन सीनियर सेलेक्शन कमेटी के सदस्य 2007 से 2014 तक रहें.
  • ज्ञानेन्द्र पाण्डेय सेन्ट्रल जोन सीनियर सेलेक्शन कमेटी 2014-45 के चैयरमैन तथा यू0पी0सी0ए0 रणजी ट्राफी के चयनकर्ता भी रहे.
  • ये क्रिकेट के क्षेत्र में युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत हैं।

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

विजय शेखर शर्मा (मोबाइल बैंकिंग)-

 

yash-bharti-samman-vijay-shekhar-sharma

 

  • विजय शेखर शर्मा भारत की जानी मानी कम्पनी पेटीम (च्।ल्ज्ड) के संस्थापक एवं सी0इ0ओ0 हैं.
  • इनका जन्म उ0प्र0 के अलीगढ़ में हुआ था.
  • इनके द्वारा बनाया गया पेटीम ने बहुत जल्द भारत की अर्थव्यवस्था में अपनी जगह बना ली.
  • इसके साथ ही विजय शेखर शर्मा का कैरियर का ग्राफ निरन्तर आगे बढ़तागया.
  • इन्होंने अपने प्रदेश एवं देश का नाम अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर गौरवान्वित किया है.
  • आज की युवा पीढ़ी के लिए ये प्रेरणास्त्रोत हैं.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

अनुपमा राय (पार्श्व गायन एवं संगीत निर्देशन)-

 

 

  • अनुपमा राय का जन्म 05 मई, 1975 को पीलीभीत में हुआ.
  • इन्हें उत्तर प्रदेश की पहली महिला बालीवुड की गायिका, लेखिका व संगीत निर्देशक होने का गौरव प्राप्त किया.
  • इनके द्वारा गाये गीत ‘शालू के ठुमके’ फिल्म बिन बुलाये बाराती, ‘नज़र से नज़र मिले’ फिल्म मिले न मिले हम, ‘बाप का माल’ फिल्म जिला गाजियाबाद, ‘रंगी सारी गुलाबी’, फिल्म गुलाब गैंग अत्यन्त लोकप्रिय हुए.
  • इन्होंनें लखनऊ विकास प्राधिकरण थीम सॉंग, जो विभाग की कालर ट्यून भी है, लिखा, गाया व कम्पोज किया व गाया है.
  • इण्डियन ग्रामीण क्रिकेट लीग थीम सांग कम्पोज किया व लिखा है।

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

सुमन यादव (जेवलिन थ्रो)-

 

yash-bharti-award-suman-yadav

 

  • सुमन यादव का जन्म 15 जुलाई, 1985 को लखनऊ में हुआ.
  • सम्प्रति सुमन यादव सीमा शुल्क एवं सेवाकर विभाग में निरीक्षक पद पर कार्यरत हैं.
  • इन्होंनें जेवलिन थ्रो के क्षेत्र में अनेकानेक स्पर्धाओं में अपनी खेल प्रतिभा से जनमानस को स्तब्ध कर दिया.
  • उत्कृष्ट खेल प्रदर्शन के लिए इन्हें उ0प्र0 शासन के रानी लक्ष्मी बाई पुरस्कार (वर्ष 2003-04) तथा उ0प्र0ए0ए0 द्वारा सर्वोच्च खिलाड़ी पुरस्कार (वर्ष 2012-13) से अलंकृत किया जा चुका है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

प्रवीन कुमार (खेल, क्रिकेट)-

 

yash-bharti-samman-praveen-kumar

  • प्रवीन कुमार का जन्म 02 अक्टूबर, 1986 को मेरठ, उ0प्र0 में हुआ.
  • ये दाहिने हाथ के मध्यम गति के गेंदबाज के रूप में स्थापित हुए.
  • इनकी गेंद विकेट के दोनों तरफ स्विंग करती है जिसकी वजह से इनको अत्याधिक विकेट प्राप्त हुए.
  • प्रवीन कुमार ने अन्तर्राष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में 06 मैच में 27 विकेट लेकर तथा 68 एक दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय मैच में 77 विकेट लेकर देश एवं प्रदेश को गौरवान्वित किया है।

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

मरिन्दर कुमार मिश्र (लेखक)-

 

 

  • मरिन्दर कुमार मिश्र का जन्म 01 अक्टूबर, 1987 को हुआ.
  • समाजवादी आन्दोलन विषयक साहित्य में इनकी प्रारम्भ में ही रूचि रही.
  • इन्होंनें अनेक समकालीन विषयों पर शोध भी किया है.
  • मरिन्दर कुमार ने समाजवाद एवं अन्य विषयों पर अनेकों लेख लिखे, जो प्रतिष्ठित समाचार पत्रों में समय-समय पर प्रकाशित हुए.
  • इनके द्वारा लिखित पुस्तकों में, ‘भाषा का सवाल डा0 लोहिया’, ‘सीमान्त लोहिया’, लोहिया और युवजन’, ‘समाजवादी स्तम्भ’, ‘छोटे लोहिया जनेश्वर’ आदि प्रकाशित हुई.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

पीयूष चावला (खेल, क्रिकेट)-

 

yash-bharti-award-piyush-chawla

 

  • पीयूष चावला का जन्म 24 दिसम्बर, 1988 को मुरादाबाद में हुआ.
  • ये ऐसे भारतीय क्रिकेटर हैं, जिन्होंने क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में भारत का प्रतिनिधित्व किया.
  • सचिन तेन्दुलकर के पश्चात् आप ऐसे सबसे कम उम्र के खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अन्तर्राष्ट्रीय मैच में इंग्लैड के विरूद्ध 09 मार्च, 2006 को दूसरे टेस्ट मैच से क्रिकेट खेलना प्रारम्भ किया.
  • इन्होंनें 03 टेस्ट मैच, 25 एकदिवसीय मैच तथा 07 टी-20 मैच भारत के लिए खेला.
  • पीयूष चावला टी-20 विश्व कप के उद्घाटन मैच-2007 एवं एक दिवसीय क्रिकेट मैच विश्वकप-2011 की टीम के सदस्य थे.
  • इस समय ये उत्तर प्रदेश के रणजी टीम में वर्ष 2005 से प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

सुमोना चक्रवर्ती (अभिनेत्री)-

 

yash-bharti-award-sumona-chakrwati

 

  • सुमोना चक्रवर्ती का जन्म 24 जून, 1988 को लखनऊ में हुआ.
  • सुमोना तीन भाषओं-अंग्रेजी, हिन्दी और बंगाली की जानकार हैं.
  • इन्होंनें अंग्रेजी नाटक, टी0वी0 सीरियल और अनेक नामी विज्ञापन में काम कर अपनी नयी पहचान बनायी.
  • इन्होंनें पांच फिल्मों में काम किया है तथा ‘स्टार परिवार एवार्डस’-स्टार प्लस 2014 एवं ‘स्टार स्क्रीन एवार्डस कर्टन रेज़र-2016’ की सफलतापूर्वक होस्टिंग कर अपनी प्रतिभा का परिचय दिया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

भुवनेश्वर कुमार सिंह मावी (क्रिकेट)-

yash-bharti-samman-bhuvneshwar-singh

 

  • भुवनेश्वर कुमार का जन्म 05 फरवरी, 1990 को जनपद बुलन्दशहर, उ0प्र0 में हुआ.
  • भुवनेश्वर कुमार प्रथम श्रेणी क्रिकेट उत्तर प्रदेश के लिए खेलते हैं.
  • भुवनेश्वर कुमार दाँयें हाथ की मध्यम तेज गेंदबाजी करने के साथ ही मध्यक्रम में दाँयें हाथ से बल्लेबाज़ी भी करते हैं, जो उन्हें एक हरफनमौला क्रिकेट खिलाड़ी बनाती है.
  • इन्होंने 04 टेस्ट क्रिकेट, 08 एकदिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट, 02 ट्वंटी-ट्वंटी क्रिकेट मैच तथा 47 प्रथम श्रेणी क्रिकेट मैच खेले हैं.
  • राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर आपने प्रदेश का नाम गौरवान्वित किया है।

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

वरूण सिंह भाटी (खेल-पैरा एथलेटिक्स)-

 

yash-bharati-award-varun-bhati

 

  • अद्वितीय प्रतिभा के धनी वरूण सिंह भाटी का जन्म उत्तर प्रदेश के ग्राम जमालपुर, नोएडा में 13 फरवरी, 1995 को हुआ.
  • इन्होंनें बास्केट बाल खिलाड़ी के रूप में कई राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में भाग लिया तथा उनमें सफलता प्राप्त कर देश का नाम को गौरवान्वित किया है.
  • वर्ष 2016 में दुबई में आयोजित ओसीनिया चैम्पियनशिप में इनको स्वर्ण पदक प्राप्त हुआ.
  • रियो-ओलम्पिक 2016 में इन्होंनें कांस्य पदक प्राप्त कर देश के गौरव को बढ़ाया है।

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

योगेश मिश्र (पत्रकार)-

 

yash-bharti-samman-yogesh-mishr

 

  • योगेश मिश्र बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी हैं.
  • इन्होंनें प्रिंट, इलेक्ट्रानिक, टी0वी0, रेडियो, समाचार पत्र एवं मैगजीन आदि में कार्य करते हुए लोकसभा, राज्यसभा, विधानसभा सभी महत्वपूर्ण स्थानों की रिपोर्टिंग की है.
  • वर्तमान में ये ‘समकालीन कविता में मुक्तिबोध का अवदान’ विषय पर अनुसंधानरत हैं.
  • इन्होंनें वर्ष 1996, 1998, 1999, 2004, 2009 व 2014 में सम्पन्न आम चुनाव तथा वर्ष 1993, 1996, 2002, 2007 व 2012 में सम्पन्न विधान सभा चुनावों की विशेष कवरेज की है.
  • पत्र-पत्रिकाओं में इनको पत्रकारिता का गम्भीर अनुभव है.
  • इनके द्वारा पत्रकारिता के क्षेत्र में दिए गए उत्कृष्ट योगदान ने देश-प्रदेश को गौरवान्वित किया.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

लेफ्टिनेन्ट जनरल अनिल चैत (सैन्य सेवा)-

 

 

  • विपरित परिस्थितियों में अदम्य साहस का सदैव परिचय देने वाली भारतीय सेना के अधिकारी रहे लेफ्टिनेन्ट जनरल अनिल चैत की 41 वर्ष की सेवा सराहनीय रही है.
  • इनको सेना में पूर्वोत्तर एवं दक्षिण सीमान्त क्षेत्र में रणनीतिक प्रबन्धन एवं नेतृत्व का अनुभव रहा है.
  • जनरल अनिल चैत राष्ट्रपति के ए0डी0सी0 वर्ष 2013 में बनाये गये.
  • इनको उत्कृष्ट सेवाओं के लिए राष्ट्रपति द्वारा पी0वी0एस0एम0, ए0वी0एस0एम0 तथा वी0एस0एम0 सम्मान से नवाजा गया.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

आध्यात्ममूर्ति ओमा द अक् (ओम उपाध्याय)(ज्योतिष)

 

 

  • ओम द अक् का जन्म 21 अगस्त को उ0प्र0 के वाराणसी जिले में हुआ.
  • इन्होंने ‘अक्-ओमाज़ कॉसमॉस फॅार अक् रिविलेशन’ संस्था की स्थापना की.
  • इन्होंने शिक्षा और ज्ञान के क्षेत्र में अद्भुत पाडिण्त प्राप्त किया.
  • ये सदा ही जड़ परम्परा के विरोधी और सनातन सिद्धान्त के अनुगामी रहे हैं.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

दीपराज राणा (अभिनेता)-

 yash-bharti-award-deepraj-rana

  • फिल्म एवं टेलीविज़न कलाकार दीपराज राणा का जन्म उ0प्र0 के इलाहाबाद जिले में हुआ.
  • इनको अभिनय के क्षेत्र में कार्य करते हुए लगभग दो दशक बीत चुके हैं.
  • इन्होंनें कई टी0वी0 धारावाहिकों में महत्वपूर्ण किरदार निभाया है जैसे ‘चाणक्य’, ‘रिपोर्टर’, ‘चन्द्रकान्ता’, ‘युग-उड़ान’ इत्यादि.
  • इनके द्वारा 25 फिल्मों में काम किया गया है जिनमें ‘साथिया’, ‘स्पेशल 26’, ‘प्रेम रतन धन पायो’, ‘एक तेरा साथ’ जैसी उल्लेखनीय कई फिल्मों में महत्वपूर्ण किरदार निभाये हैं.
  • इन्होंनें अनेक टेलीफिल्म, फीचर फिल्मस, विज्ञापन एवं डाक्यूमेटरी का भी निर्माण किया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

अर्जुन वाजपेयी (पर्वतारोहण)-

 

 

  • अर्जुन वाजपेयी नोयडा उ0प्र0 के निवासी है.
  • 23 वर्ष की अल्प आयु में विश्व की पांच चोटियां, जिनकी ऊंचाई 8000 मीटर से ज्यादा है, पर फतह हासिल की.
  • पर्वतरोहण के क्षेत्र में इन्होंनें अनेक कीर्तिमान स्थापित किया है। 16 वर्ष की अल्पायु में विश्व की सबसे ऊंची चोटी ‘माउन्ट एवरेस्ट’ (29029 फीट) पर विजय पताका फहरायी.
  • ये ‘फाइन्ड योर एवरेस्ट’ कार्यक्रम के अन्तर्गत बच्चों के लिए शैक्षिक कार्यक्रम का भी आयोजन करते हैं.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

रवि कपूर (फोटोग्राफर)-

 

 

  • रवि कपूर का फोटोग्राफी के क्षेत्र में अद्वितीय योगदान है.
  • इनके द्वारा अवध की संस्कृत एवं वास्तुकला को सचित्र पुस्तकों के माध्यम से प्रसारित किया जा रहा है.
  • वर्तमान समय में अवध एवं लखनऊ पर लिखी जाने वाली 04 पुस्तकों पर इनके द्वारा कार्य किया जा रहा है.
  • इनके द्वारा वर्ष 2004, 2005, 2008, 2010 एवं 2012 में कई फोटो प्रदर्शनियों का आयोजन किया गया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

मनोज मुन्तशिर (फिल्म गीतकार)-

 

 

  • उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले मनोज मुन्तशिर बालीवुड में एक जाने-माने चर्चित गीतकार एवं संवाद लेखक के रूप में स्थापित हुए हैं.
  • हिन्दी फिल्म उद्योग के अनेक महत्वपूर्ण पुरस्कारों से सम्मानित युवा गीतकार के रूप में ये अत्यन्त लोकप्रिय हैं.
  • इन्होंने वर्ष 2016 में 17 फिल्मों में 75 गीतों के रिलीज होने का नया कीर्तिमान स्थापित किया है.
  • इन्होंनें टीवी के 70 रियालटी शे का लेखन भी किया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

पद्मा गिडवानी (गायिका)-

  • पद्मा गिडवानी का जन्म 21 अक्टूबर, 1955 को सिन्ध, करांची (पाकिस्तान) में हुआ.
  • इन्होंनेें शास्त्रीय, लोक संगीत, सुगम संगीत (गज़ल, गीत भजन) के साथ-साथ क्षेत्रीय भाषाओं सिन्धी, भोजपुरी, पंजाबी गायन में विशष योगदान दिया है
  • ये आकावाणी/दूरदर्शन से बी0हाई ग्रेड मान्यता प्राप्त गायक कलाकार हैं.
  • इनकों अनेकों सम्मान एवं पुरस्कार ‘भोजपुरी शिरोमणि’, ‘अवध गौरव सम्मान’, ‘नौशाद सम्मान’, ‘सिन्धु कोकिला’, ‘कीर्ति श्री’, आई.आई.एन द्वारा ‘लाइफ टाइम अचीवमेन्ट पुरस्कार’ आदि से सम्मानित किया गया.

 

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

कमाल खान (गज़ल गायक)-

 

  • गज़ल गायक कमाल खान ने अपनी मखमली आवाज़ के जादू से सभी को मंत्रमुग्ध किया है.
  • ये दूरदर्शन एवं आकाशवाणी के बी.हाई. ग्रेड के गायक कलाकार हैं। इन्होंनंे हिन्दी सिनेमा में भी अपनी मधुर आवाज दी है.
  • इन्होंनें इण्डियन आयल कारपोरेशन, एन.टी.पी.सी., गेल, रिजर्व बैंक आफ इण्डिया के लिए महत्वपूर्ण प्रस्तुतियां दी हैं.
  • इनहोंनें अपनी सुमधुर आवाज़ से गज़ल को जन सामान्य में लोकप्रिय किया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

नूर अलस्सबा (चित्रकला)-

 

yash-bharti-award-noor-salssaba

 

  • नूर अलस्सबा का जन्म 05 जुलाई, 1965 में हुआ.
  • ये मुखाकृति पेन्टिंग में सिद्धहस्त हैं.
  • इन्होंनें अनें विशिष्ट महानुभावों की मुखकृतियों को सृजित किया है.
  • लगभग 20 वर्षों से ये स्वतन्त्र चित्रकार से रूप में अनेक बाल पुस्तक प्रकाशन संस्थाओं के लिए कार्य कर रही हैं.
  • ये सम्प्रति ‘आर्ट एक्सप्रेशन’ नाम से कला एवं पेन्टिंग विद्यालय संचालित कर रहीं हैं।

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

गुलाम शर्फुद्दीन अंसारी उर्फ गुलमान (निर्यातक एवं उद्योगपति)-

 

  • गुलाम शर्फुद्दीन अंसारी का जन्म 15 सितम्बर, 1958 को हुआ.
  • गुलाम शर्फुद्दीन अंसारी कालीन निर्माता एवं निर्यातक है। ये शिक्षण संस्थान ‘फलाहे उम्मत सोसाइटी’ के 20 वर्षों से अध्यक्ष हैं.
  • वर्तमान में अखिल भारतीय कालीन निर्माता संघ के ये अध्यक्ष है.
  • इनको सामाजिक सेवा के लिए भारतीय कल्याण समिति द्वारा मुख्य संरक्षक पद पर मनोनीत करते हुए ‘सद्भावना रत्न’ सम्मान से अलंकृत किया गया है।

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

डा0 आलोक पारिक (होम्योपैथिक चिकित्सा)-

 

yash-bharti-samman-alok-parik

 

  • होम्योपैथिक चिकित्सक डा0 आलोक पारिक का जन्म 27 अगस्त, 1956 को आगरा, उ0प्र0 में हुआ.
  • होम्योपैथिक चिकित्सा के क्षेत्र में कार्य करते हुए इनको अनेक पुरस्कारों से सम्मनित किया जा चुका है.
  • देश के साथ-साथ इन्होंनें विदेशों में भी अपनी चिकित्सा सेवा के द्वारा लोगों को लाभान्वित किया है.
  • इनके द्वारा आस्ट्रेलिया, कनाडा, बेल्जियम, जर्मनी, रूस, इटली, मलेश्यिा, सिंगापुर, स्विट्ज़रलैंड में एपलाइड होम्योपैथी पर टीचिंग सेमिनार के आयोजन भी किये गये हैं.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

उस्ताद नाजिम हुसैन (तबला)-

 

yash-bharti-award-ustaad-nazim-hissain

 

  • उस्ताद नाजिम हुसैन तबला वादन के माध्यम से भारतीय शास्त्रीय संगीत को निरन्तर समृद्धशाली बना रहे हैं।.
  • ये ‘दीपिका कल्चर सोसाइटी आफॅ इण्डिया’ के संरक्षक भी हैं.
  • तबला वादन में आपके विशिष्ट योगदान के लिए कर्नाटक में ‘तबला शिरोमणि एवार्ड’,2012, ‘अवंतिका राजीव गांधी एवार्ड’-2011 तथा ‘कामनवेल्थ गेम्स-2010’ में इनको सम्मानित किया गया है.
  • संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के ‘यादे बिस्मिल्ला सम्मान’ से इनको लखनऊ व मुम्बई में विभूषित किया गया.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

पं0 हरि प्रसाद मिश्र (ज्योतिष विशेषज्ञ व राजपुरोहित)-

 

yash-bharti-award-hari-prasad-mishr

 

  • पं0 हरि प्रसाद मिश्र का जन्म 24 नवम्बर, 1958 को हुआ.
  • ये विगत लगभग 40 वर्षों से ज्योतिष विशेषज्ञ एवं वास्तु विशेषज्ञ तथा सामाजिक कार्यों मे कार्यरत है.
  • इन्होंनें समाज की सेवा करते हुए हमेशा गरीबों के उत्थान के लिए कार्य किए तथा गरीबों की लडकियों की निःशुल्क शादी अनुष्ठान कार्य कराया है.
  • इनके द्वारा अब तक लगभग दस हजार से भी अधिक विवाह अनुष्ठान कार्य कराया है.
  • ज्योतिष विशेषज्ञ के साथ-साथ इन्होंने लेखन का कार्य भी किया है.
  • इनके द्वारा कई धार्मिक पुस्तकों के लेखन का कार्य किया गया है.

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

शेफ गुलाम मोइनुद्दी कुरैशी (पाक कला)-

 

  • पाक कला शैली ‘दमपुख्त’ के जानकार गुलाम मोइनुद्दी कुरैशी अवधी व्यंजन परोसने के लिए दुनिया भर में जाने जाते हैं.
  • वर्ष 1988 मेंशेफ गुलाम कुरैशी ‘दमपुख्त’ रेन्तरां की स्थापना में सहायक बने और एशिया के प्रथम ‘गोल्डन फोर्क एवार्ड’ से नवाज़े गये.
  • अवधी व्यंजन को इन्होंनें रेस्तरां ‘दम पुख्त’ के माध्यम से विश्व भर में प्रसारित किया.
  • इन्होंनें प्राचीन पाक कला ज्ञान में परिपक्वता के लिए प्राचीन उर्दू की पाण्डुलिपियों का अध्ययन किया तथा अवध की समृद्ध विरासत को लोगों तक पहुचाया.

 

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

पण्डित रामकुमार मिश्र (तबला वादक)-

yash-bharti-award-ram-kumar-mishra

 

  • पं0 रामकुमार मिश्र का जन्म 16 जून, 1965 को वाराणसी में हुआ.
  • ये पद्मभूषण पण्डित छन्नूलाल मिश्र के बेटे तथा नाधिन धिना के सम्राट स्व0 अनोखे लाल मिश्र के नाती हैं.
  • भारत में आयोजित होने वाले कई संगीत समारोहों में इनके द्वारा समय-समय पर हिस्सा लिया जाता है जैसे तानसेन समारोह, ग्वालियर (05 बार), संकट मोचन मंदिर, बनारस (पिछले 35 वर्षों से भी अधिक) संवाई गन्दर्भ संगीत समारोह, पुणे, लखनऊ महोत्सव, ताजा महोत्सव, संसद, राष्ट्रपति भवन में आयोजित होने वाले संगीत समारो इत्यादि.
  • ये इंग्लैड़ की संसद एवं लंदन महोत्सव सहित अब तक विश्व के 30 से भी अधिक देशों में कार्यक्रम दे चुके है।

[/nextpage]

[nextpage title=”यश भारती पुरस्कार ” ]

प्रो0 (डा0) राममोहन पाठक (पत्रकारिता)-

yash-bharti-award-ram-mohan-pathak

 

  • इनका जन्म 2 अप्रैल, 1951 को हुआ.
  • उच्च शिक्षा, हिन्दी सेवा और हिन्दी पत्रकारिता को पूर्णतः समर्पित इन्होंनें सन् 1972 में टाइम्स ऑफ इण्डिया समूह (मुम्बई) के प्रकाशन ‘धर्मयुग’ तथा ‘नवभारत टाइम्स’ से सेवा प्रारम्भ की.
  • इनको निर्देशन में 28 शोध छात्रों ने शोध उपाधि प्राप्त की है.
  • इनके द्वारा कई पुस्तकों का प्रकाशन भी किया जा चुका है.
  • इनको वर्ष 2011 में उ0प्र0 शासन का प्रतिष्ठित ‘शिक्षक श्री’ सम्मान तथा वर्ष 2014 में उ0प्र0 हिन्दी संस्थान द्वारा ‘पत्रकारिता भूषण सम्मान’ से सम्मानित किया जा चुका है.
  • हिन्दी, हिन्दी पत्रकारिता तथा पत्रकारिता शिक्षण एवं शोध के उन्नयन हेतु सतत् सेवारत प्रो0 पाठक का सक्रिय एवं बहुआयामी व्यक्तित्व नई पीढ़ी के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है.

[/nextpage]

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

आज से शुरू हुआ ‘दुधवा नेशनल पार्क’ का नया पर्यटन सत्र!

Rupesh Rawat

लापरवाही बरतने पर PWD के 16 अवर अभियंता बर्खास्त

Kamal Tiwari

सीएम अखिलेश ने दिया दशहरे पर राज्यकर्मियों को तोहफा !

Shashank