Home » PWD विभाग में जालसाजी कर हथियाई थी नौकरी, विदेश भागते समय गिफ्तार!
Murder Uttar Pradesh

PWD विभाग में जालसाजी कर हथियाई थी नौकरी, विदेश भागते समय गिफ्तार!

vikasnagar police goodwork

राजधानी के विकास नगर थाना क्षेत्र से पुलिस ने एक ऐसे जाल साज को पकड़ने मे सफलता हासिल की है जिसने अपनी पत्नी के साथ मिलकर न केवल खुद को बल्कि अपनी पत्नी को भी सरकारी नौकरी दिला दी।

  • पत्नी की मदद से दूसरे के शव की शिनाख्त कर दस्तावेजों के आधार पर खुद को मौत की नींद सुला दिया।
  • पुलिस ने शुक्रवार को मुखबिर की सूचना पर आरोपी पति को साठ फिटा रोड से विदेश भागते समय गिरफ्तार कर लिया जबकी फरार पत्नी की तलाश मे पुलिस जुट गई है।
  • इस सफलता के लिए एसएसपी मंजिल सैनी ने पांच हजार और पीडब्ल्यूडी विभाग ने पुलिस टीम को 15 हजार रुपये का नगद पुरस्कार देने की घोषणा की है।

यह है पूरा मामला

  • आप को बता दें कि जल्द में सिनेमाघरों में आई फिल्म बंटी और बबली जिसमे दिखाया गया था।
  • कि किस तरह से एक पति-पत्नी मिलकर लोगों से साथ हेरा-फेरी करते थे और अपनी पहचान छुपा कर पूरी ज़िन्दगी गोरख-धंधा करते हैं।
  • ठीक उसी तरह लखनऊ में भी एक मामला नजर आया।
  • यहां पुलिस ने संजय सिंह नाम के एक व्यक्ति पहले तो झूटी पहचान बनाकर अपने परिचित की मौत के बाद उन्हीं का खुद को गोद लिया हुआ बेटा साबित कर पीडब्लूडी विभाग में सरकारी बाबू बन लोगो को मुर्ख बनता रहा।
  • वहां पहले से अपनी पत्नी के साथ प्लानिंग कर अपनी पत्नी से विकास नगर थाने में अपने ही ऑफिस में एक वरिष्ठ अधिकारी पर आरोप लगाते हुए मुक़दमा दर्ज कराया।
  • कि उन्हीं के द्वारा उसके पति संजय का अपहरण करवाए जाने का मुकदमा लिखवाया।
  • क्योंकि आरोपी (संजय) की मोटरसाईकिल बहराईच बॉर्डर से बरामद हुई थी और साथ ही बीते दिनों कृष्णानगर में मिले अज्ञात शव को आरोपी ने अपनी पत्नी ने अपने पति के रूप में पहचान करवा कर आराम से रहा रहा था।
  • आरोपी फर्जी पासपोर्ट बनवा कर विदेश भागने की फ़िराक में था।
  • वहीं पत्नी ने अपने पति की झूठ कहानी बना कर उनकी पत्नी ने मृतक आश्रित के रूप में पीडब्लूडी विभाग में नौकरी भी हासिल कर ली।
  • आरोपी संजय और उसकी पत्नी की हकीकत तब सामने आई जब संजय की पत्नी के द्वारा उसी अधिकारी के ऊपर पैसों को लेकर दबाव बनाना शुरू कर दिया जिसने संजय के ऊपर फर्जीवाडे के आरोप लगाए थे।

पुलिस टीम को ईनाम की घोषणा

  • एएसपी ट्रांसगोमती दुर्गेश कुमार ने बताया कि इस बात की जानकारी कर रही पुलिस को मिली और पुलिस ने जब मामले को खंगाला तो पता चला कि आरोपी संजय अपना विकास नगर का घर किराए पर देकर खुद अपनी पहचान छुपा कर जानकीपुरम इलाके मे रह रहा था।
  • इसके बाद पुलिस ने अपने मुखबिर को से जानकारी एकत्र कर पुलिस ने दबिश देकर इस घटना को एक एक कर खोल दिया।
  • कागज़ी आधार पर मर चुके संजय को गिरफ्तार कर लिया पर दबिश दौरान मौके पाकर आरोपी पत्नी फरार हो गयी।
  • फिलहाल पुलिस ने पति को गिरफ्तार कर कारवाही मे जुट पत्नी की तलाश मे जुट गई है।
  • वहीं पुलिस की मिली सफलता पर लखनऊ एसएसपी तरफ पूरी टीम को पांच हजार एवं पीडब्लूडी विभाग की तरफ से 15 हजार रूपए देने बात कही है।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

देखें तस्वीरें: SLBC की बैठक में पहुंचे CM योगी!

Divyang Dixit

मायावती के साथ जाने के सवाल पर बोले अखिलेश यादव

Shashank

नहीं होगा कोई फर्जीवाड़ा, RERA हुआ लांच!

Kamal Tiwari