Home » क्या है पीईटीएन विस्फोटक, देखें खतरनाक वीडियो!
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

क्या है पीईटीएन विस्फोटक, देखें खतरनाक वीडियो!

[nextpage title=”video” ]

विधानसभा सत्र के दौरान 30 साल के इतिहास में यह पहला मामला है जब विधान सभा के अंदर यह बेहद खतरनाक विस्फोटक पीईटीएन (PETN) मिला है। ये विस्फोटक नीले रंग की पॉलीथिन में रखा था। हालांकि ये पीईटीएन है क्या इसके बारे में हम आप को विस्तार से बताते हैं। फिलहाल इस एक बेहद संगीन मामले की एनआईए से जांच कराने के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बात कही है वहीं राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (आईबी) ने पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी है।

देवरिया के इस युवक ने दी थी विधानसभा उड़ाने की धमकी!

गंधहीन सफेद पाउडर है पीईटीएन

  • बता दें कि पीईटीएन (PETN) एक गंधहीन सफेद पाउडर है।
  • जिसे डिटेक्ट करना आसान नहीं होता है।
  • यहां तक की डॉग स्क्वॉड (खोजी कुत्ते) भी इसकी पहचान नहीं कर पाते।
  • मेटल डिटेक्टर भी इस विस्फोटक को डिटेक्ट नहीं कर सकता।
  • इस विस्फोटक का पूरा नाम पेंटाईरीथ्रीटोल ट्राईनाइट्रेट है।
  • जिसकी छोटी सी मात्रा भी खतरनाक होती है।
  • विशेषज्ञों की माने तो इसकी 100 ग्राम मात्रा ही एक कार को उड़ाने के लिए काफी है।
  • विशेषज्ञों का कहना है कि सुरक्षा उपकरणों में पकड़ में ना आने की वजह से PETN आतंकवादियों की पसंद है।

गोंडा: पटाखा दगते ही घोड़े सहित कुंए में गिरा दूल्हा!

https://youtu.be/6zyzZjrU68I

इन जगहों पर इस्तेमाल हुआ PETN

  • 7 सितंबर 2011 को दिल्ली हाईकोर्ट में हुए ब्लास्ट में PETN का इस्तेमाल किया गया था। इस ब्लास्ट में 17 लोग मारे गए थे और 76 लोग घायल हुए थे।
  • वर्ष 2001 में शू बॉम्बर के नाम से मशहूर टेररिस्ट रिचर्ड रीड ने मियामी से जाने वाले अमेरिकन एयरलाइंस जेट पर इसका इस्तेमाल किया था।

महागुन सोसाइटी में तोड़फोड़ करने के मामले में 13 गिरफ्तार!

  • वर्ष 2009 में अलकायदा मेंबर उमर फारुख अब्दुलमुतल्लब ने नॉर्थवेस्ट जाने वाली एक फ्लाइट में PETN के इस्तेमाल की कोशिश की, लेकिन नाकामयाब रहा। यह अपने अंडरवियर में एक्सप्लोसिव छिपाकर ले गया था और पकड़ा गया।
  • वर्ष 2010 में अक्टूबर महीने में यमन से अमेरिका जाने वाले एक कार्गो प्लेन में PETN मिला था।
  • वर्ष 2011 में दिल्ली हाईकोर्ट में PETN से ब्लास्ट किया गया। हाईकोर्ट धमाके में भी इस विस्फोटक के उपयोग की बात सामने आई थी।

लखनऊ मेट्रो: लोहे का बोर्ड 12वीं के छात्रों के सिर पर गिरा एक की मौत!

अगले पेज पर देखिये खौफनाक विस्फोट का वीडियो:

[/nextpage]

[nextpage title=”video” ]

पेड़ को उड़ाने के लिए काफी है 20 ग्राम पीईटीएन

  • इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि पीईटीएन इतना खतरनाक है कि एक पेड़ को उड़ाने में इसकी केवल 20 ग्राम मात्रा ही काफी है।
  • जबकि सीएम योगी ने अपने संबोधन में बताया कि विधान सभा के अंदर 150 ग्राम पीईटीएन मिला है।
  • सीएम ने बताया कि 500 ग्राम मात्रा (PETN) विधानसभा को उड़ाने के लिए काफी है।

3 साल में कभी भी संसद के एजेण्डे में नहीं आया पदोन्नति बिल।

https://youtu.be/ab3uKrY4CTo

[/nextpage]

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

पीएम मोदी की मुरादाबाद रैली बदलेगी यूपी में ‘चुनावी समीकरण’?

Divyang Dixit

दवाओं की समय से उपलब्धता है बेहद जरुरी: प्रशांत त्रिवेदी

Vasundhra

वॉटर एक्सप्रेस की तस्वीर लेने के दौरान करंट लगने से फोटो जनर्लिस्ट की मौत!

Rupesh Rawat