Home » महिलाओं ने पुरुषों पर बरसाईं लाठियां- इस कहानी के साथ देखें वीडियो!
Uttar Pradesh

महिलाओं ने पुरुषों पर बरसाईं लाठियां- इस कहानी के साथ देखें वीडियो!

happy lathmar holi 2017

[nextpage title=”video” ]
पूरे विश्व में प्रसिद्ध बरसाने की लट्ठमार होली की शुरुआत सोमवार को पूजापाठ के बाद राधिका की नगरी बरसाने में हुई। बता दें कि रविवार को यहां लड्डूमार होली मनाई गई थी। इस लट्ठमार होली के पीछे की कहानी क्या है इसके बारे में हम आप को बताते हैं।

अगले पेज पर देखिये कितनी जोर से पड़ीं लाठियां:

[/nextpage]

[nextpage title=”video” ]

यह है इसके पीछे की कहानी

  • बरसाने की लट्ठमार होली की देश ही नहीं विदेशों तक मशहूर है।
  • दुनियाभर में बरसाना की लट्ठमार होली में महिलाएं पुरुषों को जमकर लाठी से मारती हैं।
  • इसके बचाव में पुरुष अपना बचाव ढाल से करते हैं।
  • यहां के लोगों के अनुसार इसके लिए महिलाएं एक माह पहले से ही अभ्यास शुरू कर देती हैं।
  • महिलाएं इस त्यौहार में प्रयोग करने वाली लाठी में तेल की मालिश भी करती हैं।
  • इसके अलावा वह ताकत के लिए दूध, बादाम सहित कई पौष्टिक चीजों का भी सेवन शुरू कर देती हैं।
  • ताकि बिना थकावट के पुरुषों को लाठियों से वार कर सकें, वैसे यह परंपरा युगों से चली आ रही है।

लाठी पड़ने वाला समझा जाता है सौभाग्यशाली

  • बुजुर्गों और पंडितों का कहना है कि भगवान् श्री कृष्ण का गांव नंदगांव में है और उनकी ससुराल उनके गांव से आठ किलोमीटर दूर बरसाने में है।
  • भगवान् अपने सखाओं की टोली के साथ राधिका के गांव में जाते थे।
  • वह राधिका के साथ अन्य गोपियों से भी छेड़छाड़ कर अठखेलियां करते थे।
  • तब गोपियों इन ग्वालों को लाठी लेकर दौड़ाती थीं।
  • लाठियों की पिटाई से सभी अपना बचाव ढाल से करते थे।
  • कान्हा होली से पहले यह जरूर करते थे तभी से यह प्रथा चली आ रही है।
  • बरसाने की लट्ठमार होली पूरी दुनिया में मशहूर है।
  • इसे देखने के लिए देश के कई राज्यों से लोग आते हैं।
  • इस दिन हुरियारे खूब रंग गुलाल में सराबोर रहते हहो जाते हैं।
  • विद्वानों के मुताबिक, लट्ठमार होली फाल्गुन मास में शुक्ल पक्ष की नवमी को मनाई जाती है।
  • इस दिन महिलाओं की लाठी जिसके ऊपर पड़ जाये वह बड़ा भाग्यशाली माना जाता है।
  • श्रद्धालु इस दिन इन महिलाओं को तोहफा भी देते हैं।
  • बरसाना में होली खेलने के लिए पुरुष आर्डर पर चमड़े की ढाल तैयार कराते हैं।
  • ढाल का प्रयोग करना भी पुरुष महीनों पहले से सीखते हैं।

[/nextpage]

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

पीएम मोदी के दौरे को देखते हुए संदिग्ध उपद्रवियों की धर-पकड़ तेज!

Kamal Tiwari

वीडियो: पुलिस ने बुजुर्ग को जमीन में घसीटा, महिलाओं से भी की बदसलूकी!

Sudhir Kumar

प्रसाद एजूकेशन ट्रस्ट के प्रबंधकों ठिकानों पर सीबीआई का छापा

Sudhir Kumar

Leave a Comment