Home » वीडियो: हाथों में चूड़ियां लेकर महिलाओं ने किया प्रदर्शन!
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

वीडियो: हाथों में चूड़ियां लेकर महिलाओं ने किया प्रदर्शन!

akhil bhartiya brahman mahasabha protest

रायबरेली में सामूहिक हत्याकांड के विरोध में सोमवार को अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा (akhil bhartiya brahman mahasabha) के कार्यकर्ताओं ने हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी विधानसभा के घेराव करने जा रहे थे तभी पुलिस ने उन्हें बैरिकेडिंग लगाकर रोक लिया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों की पुलिस से तीखी झड़प हुई। काफी देर तक चले हंगामे के बाद जिला प्रशासन ने ज्ञापन लेकर प्रदर्शन को समाप्त करवाया।

डीजे की धुन पर सिपाही के डांस का वीडियो वॉयरल!

महिलाएं चूड़ियां लेकर कर रही थीं प्रदर्शन

  • प्रदर्शनकारी सड़क पर हाथों में तख्तियां, बैनर और पोस्टर लेकर प्रदर्शन कर रहे थे।
  • प्रदर्शन के दौरान महिलाएं हाथों में चूड़िया लेकर पुलिस और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रही थीं।

दूसरा सोमवार: मंदिरों में गूंजे बम भोले के जयकारे!

  • पुलिस ने घंटो चले हंगामे के बाद प्रदर्शनकारियों को समझा-बुझाकर गांधी प्रतिमा भेज दिया।
  • अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेंद्र नाथ चौधरी ने चेतवनी दी है कि अगर सरकार ने जल्द ही हमरी मांगों को नहीं माना तो फिर उग्र आंदोलन किया जायेगा।

ATS ने संदिग्ध आतंकी को मुंबई एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार!

इससे पहले भी हो चुका प्रदर्शन

स्वामी के विरोध में उतरा ब्राम्हण समाज!

यूपी के रायबरेली जिले के ऊंचाहार में पिछले दिनों हुई पांच लोगों की हत्या के बाद ब्राम्हणों पर भाजपा के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या के बेतुके बयान के विरोध में अखिल भारतीय ब्राम्हण महासभा (रा.) के परशुराम सेना युवा इकाई के जिलाध्यक्ष मनोज पांडेय के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने  गांधी प्रतिमा पर विरोध प्रदर्शन किया था। 

बारिश के बीच सावन के पहले सोमवार पर शिव पूजा शुरू!

  • कार्यकर्ता इस नरसंहार की सीबीआई जांच और मृतकों के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग कर रहे थे।
  • बता दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने अपने बयान में ये भी कहा कि जिन लोगों की हत्या हुई वह अपराधी थे उनके खिलाफ कई मुकदमें दर्ज हैं।
  • लेकिन पुलिस की पड़ताल में ये बातें झूठी साबित हुई।

तालकटोरा में दो समुदायों के बीच तनाव, फोर्स तैनात!

रविवार को हुआ था प्रदर्शन

  • गौरतलब है कि रायबरेली में सामूहिक हत्याकांड के विरोध में रविवार को करीब डेढ़ दर्जन संगठन सड़क पर उतर आए और प्रदर्शन किया था।
  • हजरतगंज स्थित महात्मा गांधी पार्क और लक्ष्मण मेला मैदान में एकजुट हुए संगठनों ने योगी आदित्यनाथ सरकार से हत्याकांड की सीबीआई जांच की मांग की।
  • इसी बीच विधानभवन का घेराव करने निकले ‘ब्राह्मण महासभा’ के करीब एक दर्जन सदस्यों को पुलिस ने हिरासत में लेकर पुलिस लाईन भेज दिया था।
  • प्रदर्शन में सपा विधायक मनोज पाण्डेय और इसी पार्टी के वरिष्ठ नेता अशोक वाजपेयी भी शामिल हुए।

स्कूल में घुसकर छात्राओं से छेड़छाड़, विरोध में सिर फोड़ा!

  • रायबरेली की घटना में पीड़ित परिजनों को न्याय दिलाने के लिए रविवार को प्रदर्शनकारी सुबह से ही राजधानी में एकजुट हुए थे।
  • प्रदर्शन में शामिल ‘ब्राह्मण महासभा’ के लोग दोपहर बाद महात्मा गांधी पार्क से विधानभवन का घेराव करने चल दिए थे।
  • पुलिस कर्मियों ने प्रदर्शनकारियों को समझा-बुझाकर शांत कराने की कोशिश की लेकिन वह मानने को तैयार नहीं थे।

वीडियो: सीएम योगी का आदेश ठेंगे पर, ऑन ड्यूटी सिगरेट पीते सिपाही कैमरे में कैद!

  • इस बीच दोनों पक्षों में कहासुनी व धक्का-मुक्की भी हुई।
  • मामला बिगड़ता देख पुलिस ने एक दर्जन प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया।
  • इस सभी को पुलिस लाईन भेज दिया गया था।
  • ब्राह्मण महासभा के मोनू दूबे ने रायबरेली जिले के ऊंचाहार में पांच लोगों की निर्मम हत्या की निंदा की। उन्होंने कहा कि हत्यारों को फांसी की सजा दी जाए।

आजमगढ़: जहरीली शराब का कहर, अब तक 15 की मौत!

  • उन्होंने इस मामले में अपराधियों को शह देने वाले मंत्री की बर्खास्तगी के साथ मृतक आश्रितों को एक-एक करोड़ रूपए और सरकारी नौकरी देने की मांग की।
  • ‘स्वर्ण भारत परिवार’ के चेयरमैन पीयूष पंडित ने कहा कि लचर कानून व्यवस्था के चलते इतनी बड़ी घटना घटित हुई।
  • उन्होंने दस दिन में पीड़ित परिजनों को न्याय नहीं मिलने पर देश भर में आंदोलन की चेतावनी दी।
  • प्रदर्शन में राष्ट्र मनु आर्मी, ब्राह्मण विकास प्रतिष्ठान, ब्राह्मण युवजन सभा, आरक्षण सघर्ष समिति सहित करी डेढ़ दर्ज संगठन शामिल रहे थे।
  • वहीं कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव शैलेन्द्र तिवारी ने भी स्वामी के बयान पर आक्रोश व्यक्त करते हुए विधानसभा (akhil bhartiya brahman mahasabha) के गेट नंबर पांच पर स्वामी का पुतला जलाकर विरोध जताया था।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

विदेश राज्यमंत्री: एनएसजी मीटिंग में क्या हुआ, कोई नहीं जानता!

Divyang Dixit

दीपक सिंघल मुख्य सचिव पद से निष्कासित, राहुल भटनागर होंगे मुख्य सचिव!

Divyang Dixit

समाजवादी सरकार ने सड़कों का खूब विकास किया है- अखिलेश यादव

Divyang Dixit