Home » शातिर मोगिया (पारदी) गैंग के 7 सदस्य गिरफ्तार
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

शातिर मोगिया (पारदी) गैंग के 7 सदस्य गिरफ्तार

Mogia Pardi gang

एसटीएफ उत्तर प्रदेश को इलाहाबाद, चित्रकूट़, बांदा, मिर्जापूर, कौशाम्बी व आसपास के जनपदों में लूट, छिनैती तथा चोरी आदि की जघन्य घटनाओं को अंजाम देने वाले लुटेरे (Mogia Pardi gang) मोगिया (पारदी) गिरोह के 7 सक्रिय सदस्यों को जनपद इलाहाबाद़ में गिरफ्तार करनें में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई। गिरफ्तार अभियुक्तों को थाना शंकरगढ़, जनपद इलाहाबाद़ में दाखिल कर उनके विरूद्ध मुअसं-321/2017. 322/2017 धारा 3/25 आर्म्स एक्ट व मुअसं 320/2017 धारा 41/411 पंजीकृत कराये गये हैं। अग्रिम कार्यवाही स्थानीय थाना स्तर पर की जा रही है।

अजमेर से लाई जा रहीं 5 बसों में 154 तलवार बरामद

ऐसे चढ़े एसटीएफ के हत्थे

  • वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ अभिषेक सिंह ने बताया कि पिछले काफी दिनो से एसटीएफ, उत्तर प्रदेश को पूर्वी उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद, चित्रकूट़, बांदा, मिर्जापूर, कौशम्बी व उसके आसपास के जनपदों मे डकैती, लूट व चोरी आदि की जघन्य अपराधिक घटनाओं को कारित करने वाले गिरोह के सक्रिय होने की सूचनायें प्राप्त हो रही थी।
  • इस सम्बन्ध में प्रवीन सिंह चौहान, अपर पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व वाली एसटीएफ फील्ड इकाई इलाहाबाद को अभिसूचना संकलन एवं कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया।
  • जिसके अनुपालन में उनके द्वारा टीम गठित कर अभिसूचना संकलन की कार्यवाही प्रारम्भ की गयी।
  • इसी क्रम में मंगलवार को जब निरीक्षक अतुल कुमार सिंह के नेतृत्व में एसटीएफ की एक टीम जनपद इलाहाबाद में अभिसूचना संकलन हेतु भ्रमणशील थी।
  • तभी विश्वसनीय स्रोत के माध्यम से सूचना प्राप्त हुई कि कुछ अपराधी कपूरी मोड़ से शंकरगढ़ बजार के पास किसी घटना को अंजाम देने हेतु एकत्र होने वाले हैं।
  • इस सूचना पर एसटीएफ टीम द्वारा थाना शंकरगढ पुलिस को सहयोग हेतु साथ लेकर मुखविर द्वारा बताये गये स्थान पर पहुंचकर अपनी उपस्थिति छिपाते हुए घेराबन्दी की गयी।
  • कुछ देर बाद मुखविर द्वारा बताये हुलिए के कुछ व्यक्ति 03 मोटर साइकिलों से शंकरगढ बजार की तरफ आते दिखायी दिये।
  • इस पर संयुक्त टीम द्वारा उन्हें रूकने का इशारा किया तो वे भागने का प्रयास करने लगे।
  • इस पर टीम द्वारा आवश्यक बल प्रयोग कर उपरोक्त सभी सात अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया।

नेपाल बॉर्डर पर SSB ने 81 तलवारों का जखीरा किया बरामद

  • मोंगिया पारदी जाति के हैं अभियुक्तपूछताछ पर गैंग सरगना सलमान सिंह ने बताया कि वे लोग मोंगिया पारदी जाति के हैं।
  • वह मूलरूप से मध्य प्रदेश (Mogia Pardi gang) के विदिशा जनपद के सिरोंज क्षेत्र के रहने वाले हैं।
  • परन्तु उनके पूर्वज उप्र के ललितपुर के सिंगेपुर क्षेत्र में आकर बस गये थे।
  • वहां पर उनका अपना मकान व जमीन हैं।
  • उसके माॅ-बाप फसल काटने का काम करते हैं तथा बाकी समय में फिरोजाबाद से चूड़ियाॅं लाकर बेचने का कार्य गांव-गांव घुमकर करते हैं।
  • धीरे-धीरे उनके पूरे गांव के लोग यही काम करने लगे।
  • उन्होंने पुछताछ पर बताया कि उनके अधिकांश लोग घूम-घूम कर अलग-अलग राज्यों, विशेष रूप से उप्र के बांदा,चित्रकूट, हमीरपूर, महोबा, इलाहाबाद, मिर्जापुर, भदोही, कौशाम्बी तथा वाराणसी में स्थान बदल-बदल कर सुनसान स्थानों का चयन कर टैंटो में डेरा लगाकर रहते हैं।
  • सभी लोग भीड़-भाड़ वाले रेलवे स्टेशन, बजार, मण्डी तथा बैंको आदि पर ध्यान केन्द्रित करते हैं।
  • समूह बनाकर रेकी करने के पश्चाात उनके द्वारा इस कार्य में निपुण कराये गये 10 से 12 वर्ष के बच्चे चोरी/छिनैती में प्रमुख भूमिका निभाते हैं।

बलरामपुर में नहाने गए 3 बच्चे तालाब में डूबे, 2 की मौत

टप्पेबाजी में बच्चे भी काफी शातिर

  • एसटीएफ ने बताया कि इनके बच्चे इतने निपुण होते हैं कि रेलवे स्टेशन, बजार मण्डी व बैंको के आस-पास लग कर मोती की माला व चूड़ी बेचने के बहाने बुर्जुग, महिलाओं व अकेले व्यक्तियों को भ्रमित कर उनसे झपटा मारकर पैसा, मोबाइल, बैग व कीमती सामान लेकर भाग जाते हैं।
  • काम हो जाने के बाद उस स्थान को तुरन्त छोड़ देते हैं।
  • यदि कोई बड़ा काम हो जाता हैं तो टैण्ट और सामान सहित डेरा व स्थान परिवर्तित कर देते हैं।
  • इस धन्धे में जो पैसा मिलता हैं।
  • उसका बराबर हिस्सा लगाकर किसी एक आदमी के माध्यम से अपने गांव में परिवार के पास पहुंचा देते हैं।
  • कुछ पैसा अपने (Mogia Pardi gang) जीवनयापन के लिए रख लेते हैं।
  • इसके अतिरिक्त इसमें से कुछ पैसा वे अपने गांव के वीरन प्रधान को भी देते हैं।
  • जो उनकी पुलिस से बचने में मदद करता हैं।

वीडियो: मेरठ एनकाउंटर में 25 हजार का इनामी बदमाश मंसूर पहलवान ढ़ेर

इन वारदातों को अंजाम देने की बात कबूली

  • यह भी बताया कि वे लोग (Mogia Pardi gang) मौका मिलने पर चोरियां भी कर लेते हैं।
  • बरामद मोटर साईकिल (यूपी 70 सीवाई 0391) उन्होंने सोनभद्र से चोरी की थी।
  • हाल ही में उन लोगों ने ज्यादतर चोरी की घटनायें बांदा मिर्जापूर व सोनभद्र में की है।
  • बांदा के बैंको में हुई कई चोरी की वारदातों को उसने, इन्द्रेश, प्रीत कुमार, मजनू, राकेश, संतोष, बहादुर उपरोक्त व सोनू पुत्र रमेश निवासी करापुर थाना व जिला सागर मप्र के साथ अन्जाम दिया है।
  • बांदा की अधिकतर घटनाओं के बारे में सलमान सिंह ने बताया कि इसी वर्ष माह जुलाई में बांदा शहर के स्टेट बैंक आफ इण्डिया में 6 लाख रूपये चोरी की घटना पितुका पुत्र नि करापुर थाना व जनपद सागर मप्र, दिपेन्द्र पुत्र0 आनन्द सिंह, रामकुमार पुत्र फूलचंद, व कालूराम पुत्र जयराम नि सिंहेपुर जनपद ललितपुर व उन लोगों ने मिलकर अन्जाम दी थी।
  • जिसमें पैसा रामकुमार व कालूराम उपरोक्त लेकर चले गये थे।
  • दिनांक 25.08.2017 को कमासिन कस्बे में इलाहाबाद के ग्रामीण  बैंक के अन्दर काउन्टर के सामने रखे बेग को सोनू पुत्र रमेश उपरोक्त ने उन लोगो के इशारे पर उठाया था।
  • जिसमें 02 लाख से अधिक रूपये व कागजात एक नये बैग के अन्दर रखे थे।
  • दिनांक 07.09.2017 को बबेरू कस्बे में इलाहाबाद बैंक से पैसा निकालकर जा रहे व्यक्ति का पीछा कर मौका पाकर झोले में रखा पैसा उन लोगो द्वारा निकाल लिया गया था।
  • जिसमें लगभग 02 लाख रूपये मिले थे। जनपद मिर्जापुर के चुनार के स्टेट बैंक से पैसा निकाल कर जा रहे व्यक्ति से प्रीत कुमार उपरोक्त पैसा छीनकर भाग गया था।
  • दिनांक 06.09.2017 को मिर्जापुर की नरायणपुर इलाबाद बैंक से पैसे निकालकर आटो से जा रहे एक व्यक्ति से झपटा मारकर उसने व इन्द्रेश ने छीन लिया था।
  • अब तक उन लोगो ने जनपद मिर्जापुर, सोनभद्र, बांदा, बनारस, भदोही, इलाहाबाद व कौशाम्बी में इस तरह की व अन्य छोटी मोटी 100 से भी अधिक घटनाओं को अन्जाम दिया हैं।
  • यह भी बताया कि वे लूट आदि की अपराधिक घटनाओं के समय लोगो में भय पैदा करने के लिये अस्लहा अपने पास रखतें हैं।
  • पूछताछ के आधार पर सम्बंधित (Mogia Pardi gang) जनपदों के थाना प्रभारियों से सत्यापन किये जाने पर इन अभियुक्तों द्वारा निम्नलिखित अभियोगों से सम्बन्धित घटनाओं का अनावरण सम्भव हो सका।

आईएएस अनुराग तिवारी की हुई थी हत्या, पीएम रिपोर्ट में हुई पुष्टि

ये है गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरण

  • सलमान सिंह पुत्र नेता जी नि0 सिंगेपुर थाना महारौनी जनपद ललितपुर।
  • प्रीत कुमार उर्फ पिक्कू नि0 सिंगेपुर थाना महारौनी जनपद ललितपुर।
  • राकेश पुत्र फूलचन्द्र नि0 सिंगेपुर थाना महारौनी जनपद ललितपुर।
  • सन्तोष पुत्र राजू नि0 कुंवरपुरा सहगढ़ मप्र।
  • बहादुर पुत्र जमुना बहादुर नि0 सिंगेपुर थाना महारौनी जनपद ललितपुर।
  • मजनू पुत्र गनपत नि0 सिंगेपुर थाना महारौनी जनपद ललितपुर।
  • इन्द्रेश पुत्र मनुगुवा नि0 सिंगेपुर थाना महारौनी जनपद ललितपुर।

ये सामान हुआ बरामद

  • 2 अदद तमंचा 315 बोर
  • 2 अदद कारतूस 315 बोर
  • 3 अदद मोबाइल फोन जिसमे दो अदद मिर्जापुर से सम्बंधित घटना के।
  • 3 अदद मोटर साइकिल, जिनमे से एक सोनभद्र से चोरी से सम्बन्धित है।
  • रू. 35,600/- नगद3 अदद अधार कार्ड एक अदद अधार कार्ड, पासबुक, छायाप्रति पासबुक व पैन कार्ड इत्यादि विभिन्न बैंको में हुई घटनाओं के पीड़ितों से सम्बन्धित।
  • एक अदद बैग काले रंग का, जिस पर एचपी लिखा है। (Mogia Pardi gang)

सियाराम दास ‘स्वयंभू बाबा’ गिरफ्तार, 8 महीने से बंधक बनाकर कर रहा था युवती का बलात्कार

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

NEET परीक्षा में हुई धांधली को लेकर छात्रों ने की दोबारा परीक्षा कराने के मांग!

Namita

BSP Supremo Mayawati resigned from Rajya Sabha!

Minni Dixit

सैकड़ों व्यापारियों ने ग्रहण की भाजपा की सदस्यता!

Sudhir Kumar