Home » छोटी हो रही हैं कतारे, 24 तक स्थिति बेहतर हो जाएगी- संतोष गंगवार!
Uttar Pradesh

छोटी हो रही हैं कतारे, 24 तक स्थिति बेहतर हो जाएगी- संतोष गंगवार!

santosh-gangwar

केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री संतोष गंगवार ने मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले को ऐतिहास बताते हुए कहा कि कई बार बड़े फैसले होने पर लोगों को कुछ छोटी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसके साथ ही उन्होंने भरोसा दिलाया कि 24 नवंबर तक स्थितियां सामान्य हो जाएंगी। उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार लगातार कालेधन पर लगाम लगाने की दिशा में प्रयास कर रही है।

  • केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि अब बैंको के बाहर लगने वाली कतारें छोटी हो रही हैं।
  • 24 नवंबर तक स्थिति बेहतर हो जाएगी, बैंकों के पास पर्याप्त मात्रा में नए नोट हैं।
  • पुराने नोटों पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद लोगों को अब कुछ राहत मिल सकती है।
  • फिलहाल तो बैंकों और एटीएम के बाह लंबी कतारें लग रहीं हैं।
  • लोगों की समस्याओं को देखते हुए और कालेधन के कुबेरों पर नकेल कसने के लिए सरकार ने बुधवार से कैश बदलने वालों की अंगुली पर स्याही लगाने का फैसला लिया है।
  • कोई भी व्यक्ति अब सिर्फ एक बार ही बैंक जाकर नोट बदल सकता है।
  • आरबीआई ने साफ किया है कि यह निशान सिर्फ उन्हीं लोगों की अंगुली पर लगेगा जो नोट बदलने आएंगे।
  • इसके बाद आज एक फैसले में आरबीआई ने नोट बदलने की सीमा घटाकर 2000 रूपये करने का निर्णय लिया है।
  • यह फैसला शुक्रवार 18 नवंबर के लागू होगा, जिससे अधिक से अधिक लोगों को कैश मिल सके।

लोग कर रहें पीएम के फैसले का स्वागतः

  • संतोष गंगवार ने नोटबंदी के फैसले का विरोध कर रहे विपक्ष पर हमला बोला।
  • उन्होंने कहा कि विपक्षी दल कालेधन वाले धनकुबेरों का समर्थन कर रहे हैं।
  • केन्द्रीय राज्यमंत्री ने कहा कि लोग पीएम मोदी के इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं।
  • उन्होंने कहा कि लोगों का भरपूर समर्थन पीएम के साथ है।
  • इसके साथ ही उन्होंने भरोसा जताया कि यूपी में बीजेपी की सरकार बनेगी।
  • पीएम की रैलियों में भारी भीड़ जुट रही है।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस ने लगाया शीला दीक्षित पर दाँव

Ashutosh Srivastava

सड़क के किनारे सोने पर मजबूर गरीब इंसान, CM बना रहे दफ्तर आलीशान!

Ashutosh Srivastava

PETN मामला: FSL हेड को निलंबित करने की सिफारिश

Kamal Tiwari