Home » रैनबसेरा हादसे में बेसहारा हुए मटेही के तीन परिवार !
Uttar Pradesh

रैनबसेरा हादसे में बेसहारा हुए मटेही के तीन परिवार !

Mtehi village

हजरतगंज में पॉश इलाका माना जाने वाला डालीबाग क्षेत्र में बहुखंडी मंत्री तथा विधायक निवास है। इसी के सामने एक संस्था ने रैनबसेरा बनवाया है।मजदूरों की माने तो यहाँ हर रोज करीब 50 लोग सोते हैं। लेकिन 8 जनवरी की रात का हादसा इन गरीबों के ज़हन में एक अमित चाप छोड़ गया। 8 जनवरी को रात करीब 1:50 बजे एक तेज रफ्तार कार (यूपी 32 जीएच 7788) बहुखंडी विधायक निवास के पास रैन बसेरे में गई।जिसमे शराब पी कर गाडी चला रहे रईसजादों ने लखनऊ में रोज कमाकर खाने वाले करीब 20 लोगों को कुचल दिया।हादसे में मारे गए और घायल ज्यादातर लोग बहराइच के मटिहा गांव के हैं।

इस हादसे में छीन गया परिवारों का सहारा , नहीं थम रहे आंसू

  • रैनबसेरा हादसे में बहराइच के मटेही गांव के तीन परिवारों का सहारा छीन गया।
  • उनके परिजनों की आँखों से आँसू थमने का नाम नहीं रहें हैं।
  • हादसे में मृतक अब्दुल कलाम की बेटी अफरोजन की 9 मार्च को शादी तय थी .
  • उसको गहरा सदमा लगा है. जिसके बाद आंसूओं में डूब गयी की तयारियों की खुशियां.
  • मृतकों के परिजन बदहवास स्थिति में हैं.
  • उन्हे सात्वना देने पहुंच रहे ग्रामीणों की भी आँखों से आँसू छलक रहें हैं.
  • मटेही गांव नानपारा तहसील क्षेत्र  सरयू के कछार में स्थित है, गांव में अधिकतर श्रमिक वर्ग के लोग ही यहाँ के निवासी है.
  • ज्यातर यहाँ के लोग परिवार का खर्च चलाने के लिए दूसरे शहरों में मजदूरी करने के लिए जाया करते हैं।
  • अपने परिवार की जीविका चलाने के लिए अब्दुल कलाम उर्फ ननकऊ (५०) पुत्र अली अहमद, पृथ्वीराज (३५) पुत्र पहलवान, बुधई (४५) पुत्र रसूल और गुलाम हुसैन भी मजदूरी करने के लिए लखनऊ आये  थे।
  • ये  सभी दिन में मेहनत मजदूरी करते थे और रात  रैन बसेरे में गुजारते थे।
  • इन्हें क्या पता ताहि कि रात में तेज रफ्तार कार इन सभी के लिए काल बनकर इनके परिवार को भी बेसहारा कर देगी .
  • सुबह हादसे की सूचना मिलते ही इनके परिवार में मातम सा छा गया .
  • मृतक अब्दुल कलाम की बेटी अफरोजन की 9 मार्च को शादी थी .

Mtehi village

  • 26 जनवरी के बाद से बेटी की शादी की तैयारी के लिए गांव लौटने की आस लेकर  अब्दुल कलाम मजदूरी कर पैसे इकठ्ठा कर रहा था.
  • लेकिन अब्दुल कलाम की किस्मत में तो कुछ और ही था
  • वहीं अब्दुल कलाम की पत्नी अफसरी और बेटी  अफरोजन की आंखों से आंसू थम नहीं रहे, बड़ा पुत्र मेराज हादसे की सूचना पाकर गाँव के लोगो के साथ लखनऊ रवाना हो गया ,वही वहीं मंझले पुत्र सिराज और छोटा पुत्र रजाक भी सदमे में हैं.
  • हादसे में दूसरे मृतक पृथ्वीराज का तो पूरा परिवार ही तबाह  गया है, घर में पत्नी रेशमी और मां रत्तीरामा दोंनों का सहारा चल बसा उनकी  हालत पृथ्वीराज की मौत के बाद बदहाल सी हो गई है।
  • तीसरे मृतक बुधई के घर में भी परिजन जन गश  खा कर गिर रहे हैं।
  • घर पर सिर्फ रामू और रिजवाना भाई बहन मिले दोनों  स्तब्ध दिखे।
  • अब्दुल कलाम की पत्नी विलख रही है उसका कहना है कि लौटने पर  अब्दुल कलाम  ने बेटी की शादी के लिए खरीददारी करने की बात कही थी।
  • विलख रही अफसरी ने बताया कि बड़ी बेटी का विवाह हो चुका है।
  • अफरोजन मंझली है उसकी शादी मटेहीकला निवासी मेराज के साथ तय की थी, अब शादी कैसे होगी ।
  • एक और बेटी भी शादी करने करने को  है।
  • कैसे जिन्दगी पार होगी .गुलाम हुसैन के परिवारीजन अस्पताल गए हुए है हादसे में गुलाम हुसैनबुरी तरह से जख्मी हुआ है, वह ट्रामा सेंटर में भर्ती हैउसकी  बेटी मंतशा और खुशनुमा ने बताया की  मां और परिवार के लोग बापू की देखभाल के लिए लखनऊ गए हैं।

ये भी पढ़ें :वीडियो: शुरू हो गया सड़क सुरक्षा सप्ताह, लोगों को किया गया जागरूक!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

गोरखपुर: आतंकी हमले में शहीद हुआ यूपी का लाल!

Mohammad Zahid

लखनऊ के इन 10 ग्रामीणों को पीएम देंगे सर्टिफिकेट!

Sudhir Kumar

वीडियो: वेतन 7 हज़ार लेकिन कमा रहे Rs 4 लाख महीना

Mohammad Zahid