Home » डग्गामारी और गंदगी देख पर भड़के परिवहन मंत्री ने कसे अफसरों के पेंच!
Uttar Pradesh

डग्गामारी और गंदगी देख पर भड़के परिवहन मंत्री ने कसे अफसरों के पेंच!

swatantra dev singh conducted surprise checks of bus station in farrukhabad

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार प्रदेश भर में स्वच्छता पर ख़ासा ध्यान दे रही है. ऐसे में प्रदेश सरकार के परिवहन मंत्री स्वतन्त्र देव सिंह डग्गामार वाहनों और गंदी पर आक्रामक दिखे. जिसके बाद चंद मिनट के निरीक्षण में ही उन्होंने अफसरों के पेंच कस दिये. साथ ही उन्होंने अफसरों को एक सप्ताह के भीतर डग्गामारी पूरी तरह से बंद करने के निर्देश भी दिए.

डग्गामारी की शिकायत पर निरिक्षण करने पहुंचे थे स्वतन्त्र देव सिंह-

  • शनिवार देर रात तकरीवन 10 बजे लाल दरवाजा बस अड्डे पंहुचे परिवहन मंत्री गेट में घुसते ही गंदगी देख भड़क गये.
  • उन्होंने ARM अंकुर विकास पर नाराजगी जाहिर कर साफ सफाई रखने के निर्देश दिये.
  • इसके बाद उन्होंने निर्माणाधीन बस अड्डा भी देखा.
  • इस दौरान उनकी नजर बस अड्डे के शौचालय पर गयी तो वह अमले के साथ उसमें दाखिल हो गये.
  • उन्होंने दीवार पर पेशब के रूपये और शौचा के 10 रूपये की फ़ीस अंकित देख नाराजगी जाहिर की.
  • जिसके बाद उन्होंने पेशाब निशुल्क किये जाने के साथ ही साथ शौच के रूपये निर्धारित करने के निर्देश दिये.
  • इसके बाद उन्होने रोडबेज बस में चढ़कर आपात-कालीन खिड़की को खोलकर चेक किया.
  • साथ ही उन्होंने बस अड्डे का आरो प्लाट भी चेक किया.
  • इसके बाद वह फतेहगढ़ डिपो पर निरीक्षण करने पंहुचे.
  • जंहा उन्हें बसों की धुलाई के दौरान पानी बहता हुआ मिला.
  • जिसे देख कर उन्होंने पानी भंडारण करने की भी सलाह दी.
  • उन्होंने मिडिया को बताया कि लाल दरवाजा बस अड्डे के बाहर व भीतर डग्गामारी होने की शिकायत प्राप्त हुई है.
  • सम्बन्धित विभाग को एक सप्ताह के भीतर डग्गामारी बंद करने के निर्देश दिये गये है.
  • मंत्री के पहुँचने के दौरान रोडवेज के कर्मचरियों ने ज्ञापन देकर होने वाली डग्गामारी की जानकारी दी.
  • तो मंत्री स्वतंत्र देव ने कर्मियों से लाठी डंडा लेकर तैयार रहेने की सलाह दी.
  • मंत्री जी के सामने कर्मियों ने पुलिस की डग्गामार वाहनों से की जा रही उगाही को भी खोल दिया.
  • साथ ही ये भी कहा की पुलिस विभाग में सीओं आलोक कुमार के संरक्षण में ही ये डग्गामारी चल रही है.
  • बता दें कि पिछले सपा शासन से तैनात सीओ आलोक कुमार के वाहन माफियाओं से भी गहेरे सम्बन्ध हैं.
  • जिसका खामियाजा रोडवेज को करोड़ों रूपये का चुना लगा कर किया जा रहा है.
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

5 साल का नौनिहाल गिरा 40 फीट गहरे बोरवेल में, 22 घंटे के बाद भी कोई सफलता नही!

Divyang Dixit

गायत्री प्रजापति की गिरफ़्तारी पर रोक की अर्जी SC ने की स्वीकार!

Kamal Tiwari

LIVE: समाजवादी पार्टी के ‘गृहयुद्ध-2’ की पल-पल की अपडेट!

Divyang Dixit