Home » यूपी में 40 संगठन किसानों की बुलंद कर रहे आवाज!
Uttar Pradesh

यूपी में 40 संगठन किसानों की बुलंद कर रहे आवाज!

awareness to farmers

उत्तर प्रदेश में 58.2% किसान परिवार कर्ज में डूबे हैं। यूपी में 27,984 रुपये प्रति एक किसान परिवार पर कर्ज है।

  • किसानों पर कर्ज के मामले में यूपी ‘टॉप 5’ राज्यों में शामिल है।
  • यूपी के अलावा इस लिस्ट में मध्य प्रदेश, मिजोरम, मणिपुर और छत्तीसगढ़ भी शामिल हैं।
  •  विधानसभा चुनाव 2017 में यूपी के किसानों पर कर्ज के मामले में राजनीतिक पार्टियां कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

क्या कहते हैं जिम्मेदार

  • जल-जन जोड़ो अभियान के राष्ट्रीय संयोजक संजय सिंह का इस संबंध में कहना है कि अभियान के तहत हमने चुनाव से पहले बैठक की।
  • इस बैठक में 40 संगठन शामिल हुए हैं।
  • उन्होंने कहा किसानों से कहा है कि अगर नेताओं ने अब तक उनके क्षेत्र में कोई काम नहीं किया है तो वह नोटा का बटन दबाएं।
  • हमने लगातार आंदोलन कर किसानों के मुद्दे उठाए।
  • उसी का नतीजा है कि इस चुनाव में किसान मुद्दा हैं।
  • इस बार भी हम किसी को समर्थन नहीं करेंगे।
  • पार्टियां काम करके खुद किसान का चेहरा बनें।
  • किसान वोट दिए बिना रह सकता है लेकिन आंदोलन किए बिना नहीं।
  • जो काम नहीं करेगा, उसके खिलाफ आंदोलन करेंगे।
  • भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने इस संबंध में कहा कि हम लगातार किसानों के मुद्दे उठा रहे हैं।
  • उन्होंने कहा कि इस समय सभी पार्टियां किसानों का मुद्दा उठाने लगी हैं।
  • उन्होंने कहा कि किसान इस बार बोट तो देगा लेकिन बहुत ही सोच समझकर।
  • उनका कहना है कि नेताओं को सबक सिखाने के लिए इस बार किसानों ने नोटा का बटन दबाने का मन बना लिया है।
  • नोटा का बटन दबाने के लिए कई सामाजिक कार्यकर्ता जागरूकता भी फैलाकर आंदोलन छेड़े हुए हैं।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

जनता भाजपा, कांग्रेस और सपा को वोट न दे- बसपा सुप्रीमो मायावती

Divyang Dixit

मनकामेश्वर मठ की ओर से फूंका गया आतंकवाद का पुतला!

Mohammad Zahid

यूपी में गड्ढ़ामुक्त सड़कों का लक्ष्य हुआ पूरा!

Vasundhra