Home » मायावती के ड्रीम प्रॉजेक्ट में लगे 60 लाख के हाथी की टूटी सूंड!
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

मायावती के ड्रीम प्रॉजेक्ट में लगे 60 लाख के हाथी की टूटी सूंड!

बसपा प्रमुख मायावती के ड्रीम प्रॉजेक्टस में अब ग्रहण लगना शुरू हो गया है। अभी पिछले दिनों ईको गार्डन में आग लगने के बाद मायावती काफी गुस्सा हुईं थीं। इस मामले को अभी कुछ ही वक्त बीता था कि अंबेडकर पार्क में लगे हाथी की सूंड (elephant trunk) टूटकर गिर गई। इससे अब कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है। पार्क में लगे इस हाथी की कीमत 60 लाख रुपये बताई जा रही है। वहीं कांशीराम स्मारक स्थित एक गुंबद में लीकेज की भी सूचना है।

ये भी पढ़ें- वीडियो: बीच सड़क पर लखनऊ पुलिस की गुंडई!

उपेक्षा का शिकार हो रही स्मारक

  • मायावती ने स्मारकों में लाल पत्थर लगवाएं हैं।
  • इन स्मारकों में अरबों रुपये खर्च किये गए हैं।
  • लेकिन अब ये स्मारक बदहाली का शिकार हो रहे हैं।
  • शायद इसी के चलते लखनऊ में अंबेडकर पार्क में लगे 60 लाख रुपये कीमत के हाथी की सूंड टूट कर गिर गई है।
  • इससे पहले भी एक हाथी की सूंड क्षतिग्रत हो चुकी है।
  • अंबेडकर पार्क में करीब 32 हाथी लगे हैं।

ये भी पढ़ें- ट्रक में टक्कर मारकर ढ़ाबे में घुसी बेकाबू DCM, 5 घायल!

  • इन हाथियों को राजस्थान में मिलने वाले सेंड स्टोन से बनाया गया है।
  • बताया जा रहा है कि ऐसे में पत्थर से ज्यादा इसकी ट्रांसपोर्टेशन लागत आती है।
  • हाथियों की मरम्मत के लिए स्मारक समिति अलग से टेंडर निकालकर इन हाथियों की मरम्मत करवाने पर विचार कर रही है।
  • वहीं कांशीराम स्मारक में एक गुंबद में लीकेज हो गया है।
  • वहीं इसकी शिकायत सचिव से भी की जा चुकी है।
  • स्मारक समिति के अधिकारियों का कहना है कि लंबे समय से मरम्मत का कार्य ना होने से ऐसी परेशानी आ रहीं हैं।
  • अधिकारियों ने यह जानकारी एलडीए को भी दे दी है।

ये भी पढ़ें- 3 पेज के लेटर बम ने मचाया हड़कंप, सीनियर IAS पर गंभीर आरोप!

क्या कहते हैं जिम्मेदार

  • इस मामले में एलडीए सचिव व प्रबंधक स्मारक समिति जयशंकर दुबे ने बताया कि सचिव ने आदेश दिया है कि जहां भी मरम्मत की जरूरत वहां काम करवाया जाये।
  • उन्होंने कहा कि स्मारकों की मरम्मत का काम शासन की प्राथमिकता में है।
  • स्मारकों के संरक्षण के लिए करीब आठ करोड़ रुपये का बजट अभी हमारे पास मौजूद है।
  • इस बजट से हाथियों (elephant trunk), गुंबद, स्मारकों के अंदर हुई टूट-फूट को सही कराया जाएगा।
  • जरूरत होने पर शासन से दुबारा बजट की मांग भी की जा सकती है।

ये भी पढ़ें- भाजपा महिला नेता की दबंगई, दफ्तर पर की तोडफ़ोड़!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

इलाहाबाद में कांंग्रेसी नेताओं ने जारी किया विवादित पोस्‍टर, पोस्‍टर का टाइटल है ‘फेंकू दिवस’

Ishaat zaidi

‘कैशलेस’ हुए ATM, पैसे निकालने के लिए भटक रहे लोग!

Sudhir Kumar

मोदी सरकार के कश्मीर में ‘पत्थरबाजी रोको अभियान’ से संघ खुश

Kamal Tiwari