Home » यूपी चुनाव 2017 के लिए रिहाई मंच ने जारी की यह अपील!
Uttar Pradesh

यूपी चुनाव 2017 के लिए रिहाई मंच ने जारी की यह अपील!

rihai manch four days of attack

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की शहादत दिवस की बरसी पर रिहाई मंच ने प्रदेश में हो रहे विधानसभा चुनाव के लिए जनता से अपील जारी करते हुए कहा है कि बापू के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि यही हो सकती है। कि आज के दिन प्रत्येक प्रदेशवासी संकल्प ले कि साम्प्रदायिक, जातिवादी और आर्थिक हिंसा के पैरोकार नेताओं और सियासी पार्टियों को वो अपना मत नहीं देंगे।

बुंदेलखंड को दलित उत्पीड़न क्षेत्र घोषित करने की अपील

  • रिहाई मंच प्रवक्ता शाहनवाज आलम ने अपील की है कि मुसलमानों को सुरक्षा और खुफिया एजेंसियों पर उठ रहे सवालों को राजनीतिक सवाल बनाने,
  • बेगुनाहों को तत्काल रिहा कर मुआवजा व पुर्नवास करने और दोषी पुलिस और खुफिया अधिकारियों को सजा देने,
  • दूसरी किसी भी जमात से ज्यादा आबादी होने के बावजूद हिस्सेदारी से वंचित कर छले जाने,
  • सच्चर और रंगनाथ आयोग की सिफारिशों को लागू करने की मांग के बजाए इन पर अब तक कोई अमल न करने वाली पार्टियों को कटघरे में खड़ा करने,
  • साम्प्रदायिक हिंसा पीड़ितों के लिए आरक्षण, धारा 341, एससीएसटी ऐक्ट की तरह माइनाॅरिटी ऐक्ट,
  • आतंकवाद के नाम पर होने वाली घटनाओं की जांच कराने के लिए विशेष न्यायिक आयोग के गठन जैसे मुद्दों पर राजनीतिक दलों और उनके प्रत्याशियों से उनका पक्ष पूछना चाहिए।
  • अपील में कहा गया है कि इस चुनाव में दलित व महिला उत्पीड़न पर कोई बहस नहीं है।
  • जबकि यूपी इस उत्पीड़न के मामले में अव्वल है।
  • सियासी दल दलितों के आर्थिक विकास के झूठे वादे तो करते हैं लेकिन सामंती जुल्म पर चुप रहते हैं।
  • अपील में दलितों से दलित थाने, बुंदेलखंड को दलित उत्पीड़न क्षेत्र घोषित करते हुए विशेष सामाजिक सुरक्षा पैकेज देने की मांगों पर उम्मीदवारों और पार्टियों से स्पष्ट जवाब मांगने की अपील की गई है।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

IAS अनुराग तिवारी केस की CBI जल्द शुरू करेगी जांच!

Sudhir Kumar

पैसे के अभाव में मौत से जूझ रहे बुजुर्ग को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का मिला सहारा!

Divyang Dixit

राष्ट्रपति पद को लेकर ‘डिनर डिप्लोमेसी’!

Kamal Tiwari