Home » गोरखपुर हादसे पर पीआईएल: सुनवाई कल
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

गोरखपुर हादसे पर पीआईएल: सुनवाई कल

brd medical college

एक्टिविस्ट और अधिवक्ता डॉ नूतन ठाकुर ने (Gorakhpur deaths hearing) बताया कि गोरखपुर के दुखद हादसे के सम्बन्ध में इलाहाबाद हाई कोर्ट के लखनऊ बेंच में दायर जनहित याचिका की सुनवाई कल (18 अगस्त) को जस्टिस विक्रम नाथ और जस्टिस दया शंकर तिवारी की बेंच के सामने होगी।

सपा नेताओं ने राज्यपाल से मिलकर की भाजपा सरकार के क्रियाकलापों की शिकायत

  • उन्होंने कहा कि याचिका में कहा गया है कि राज्य सरकार तथा उसके अंगों द्वारा लगातार मीडिया में आ रही ऑक्सीजन की कमी से मौत होने की खबर को नाकारा जा रहा है।
  • जिससे ऐसा सन्देश गया है कि वे कुछ छिपाना चाहते हैं और कतिपय लोगों का बचाव किया जा रहा है।

भूजल गिरावट से सरकार बेचैन, अब उठाएगी ये कदम…

  • नूतन ने कहा कि लोगों में यह धारणा है कि मुख्य सचिव के नेतृत्व वाला जाँच दल सरकार के पूर्व के रुख का ही समर्थन करेगा।
  • अतः याचिका में न्यायिक जाँच की प्रार्थना की गयी है ताकि सभी तथ्य सामने आ सकें और कोई दोषी व्यक्ति बच न सके।

नवनीत सहगल ने किया औचक निरीक्षण, अफसरों के छूटे पसीने

  • याचिका में सरकार को ऐसे निर्देश देने के लिए भी प्रार्थना की गयी है जिससे गोरखपुर जैसा हादसा दुबारा न हो सके।
    मेडिकल कॉलेज के डॉ कफील खान द्वारा निजी प्रैक्टिस करने की बात सामने आने पर याचिका में हाई कोर्ट द्वारा पूर्व में सरकारी डॉक्टरों के निजी प्रैक्टिस पर प्रतिबन्ध लगाये जाने के आदेश का भी पूर्ण पालन कराये जाने की प्रार्थना की गयी है।

कारिगल युद्ध लड़ने वाले रिटायर्ड फौजी को इंसाफ नहीं दे पाई पुलिस

क्या है पूरा मामला?

  • बीआरडी मेडिकल कालेज में इंसेफेलाइटिस का इलाज कराने आये मरीजों को ऑक्सीजन नहीं मिल सकी।
  • जिससे एनएनयू वार्ड और इंसेफेलाइटिस वार्ड में भर्ती 70 बच्चों की मौत हो गई।
  • मेडिकल कालेज के नेहरु अस्‍पताल में सप्‍लाई करने वाली फर्म का 63 लाख रुपए का भुगतान बकाया था।

वीडियो: छात्रा ने प्रिंसिपल पर लगाया अश्लीलता करने का आरोप, थाने पर हंगामा

  • जिसके चलते पिछले गुरुवार शाम को फर्म ने अस्‍पताल में लिक्विड ऑक्‍सीजन की आपूर्ति ठप कर दी।
  • गुरुवार से ही मेडिकल कालेज में जम्‍बो सिलेंडरों से गैस की आपूर्ति की जा रही है।
  • बीआरडी मेडिकल कालेज में दो साल पहले लिक्विड आक्‍सीजन का प्‍लांट लगाया गया था।
  • फ़िलहाल जिम्मेदार (Gorakhpur deaths hearing) अधिकारी पूरे मामले की पड़ताल कर रहे हैं।

50 की उम्र में जबरन सेवानिवृत्ति के खिलाफ परिषद हुआ सक्रिय

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

नगर निगम के अफसरों पर चला नगर आयुक्त का डंडा, 2 अफसर निलंबित!

Mohammad Zahid

खेलों में राजनीतिक दखल को लेकर आजम ने मोदी पर साधा निशाना

Rupesh Rawat