Home » ग्रामीण इलाकों में ज्यादा है नोटबंदी की मार!
Uttar Pradesh

ग्रामीण इलाकों में ज्यादा है नोटबंदी की मार!

people lineup to withdraw cash

नोटबंदी के बाद लोगों की परेशानियाँ कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. बैंकों में कैश की कमी ने इस परेशानी को और बढ़ा दिया है. कैश पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध ना होने के कारण लोगों को तय सीमा के अंतर्गत पैसा नहीं मिल पा रहा है.

people lineup in front of banks

तीन दिन के बाद खुले बैंक, फिर दिखी बड़ी लाइनें:

  • शनिवार, रविवार और सोमवार को बैंकों का अवकाश था.
  • ये खबर जनता के लिए परेशानी का सबब बन गई.
  • पहले ही बैंक और एटीएम से उनके जरुरत के लिए पैसे नहीं मिल पा रहे थे.
  • इसके अलावा बैंकों की छुट्टी के बाद लोगों की दिक्कतें और बढ़ गई.
  • मंगलवार को बैंक खुलने के बाद एटीएम और बैंक के बाहर लम्बी लाइन दिखाई दे रही है.
  • लोगों का कहना है कि एटीएम में कैश खत्म होने के बाद उन्हें मंगलवार तक इंतजार करना मुश्किल था.
  • ऐसे में उनके कई जरुरी काम रुक गए हैं.
  • मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.
  • नोटबंदी की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए अब कैश के लिये और इंतजार करना दूभर हो रहा है.
  • ग्रामीण इलाकों में नोटबंदी की मार ज्यादा दिख रही है.
  • बैंकों में कैश नहीं है और एटीएम भी लगभग बंद ही हैं.
  • ऐसी स्थिति में मंगलवार को बैंक खुलने के बाद लोगों ने बैंकों के सामने लाइन लगा रखी है.
  • इसी उम्मीद हैं लोग कि शायद उनकी जरुरत को पूरा करने के लिए पैसा बैंक से मिल जाए.
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

समाजवादी शादी अनुदान योजना से 2 लाख परिवारों को लाभ!

Divyang Dixit

सर्जिकल स्ट्राइक से बदल सकते हैं, उत्तर प्रदेश चुनाव के समीकरण!

Divyang Dixit

शिवपाल यादव ने घोषित की अपनी 81 सदस्यीय प्रदेश टीम!

Rupesh Rawat