Home » दाह संस्कार के लिए नहीं मिली पैरोल, परिजनों ने किया सड़क जाम!
Uttar Pradesh

दाह संस्कार के लिए नहीं मिली पैरोल, परिजनों ने किया सड़क जाम!

parole not found for cremation family did road jam in aligarh
उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जनपद स्थित जिला कारागार में बंद बंदी की इलाज के दौरान मौत हो गई. इस दौरान मृतक कैदी के पुत्र को दाह संस्कार के लिए पैरोल नहीं मिलने पर मृतक के परिजनों ने एटा चुंगी जाम कर ज़ोरदार हंगामा किया.

ये है पूरा मामला-

  • घटना थाना गांधी पार्क इलाके के टीका राम कालोनी की है.
  • बताया जा रहा है कि राजेन्द्र कुमार व पुत्र टिल्लू को जानलेवा हमले में छह महीने पहले थाना गांधी पार्क पुलिस ने जेल भेज दिया था.
  • आज अचानक तबियत कराब होने पर राजेन्द्र को जेएन मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया.
  • जहाँ इलाज के दौरान राजेन्द्र ने दम तोड़ दिया.
  • बताया जा रहा है कि राजेन्द्र दमा की बीमारी से पीड़ित था.
  • परिजनों ने बताया कि अस्पताल में भर्ती करने के बाद पिता की तबियत खराब होने की सूचना दी गई.
  • राजेन्द्र के शव का पोस्टमार्टम के बाद बाडी को घर भेज दिया गया.
  • लेकिन बड़े पुत्र के जेल में बंद होने के चलते दाह संस्कार नहीं हो सका.
  • जिसे लेकर परिजनों ने पैरोल के लिए मजिस्ट्रेट के यहां अपील की.
  • लेकिन मजिस्ट्रेट ने अपील खारिज कर दी.
  • इस दौरान परिजनों ने जिलाधिकारी से भी इस मामले को लेकर अपील की.
  • लेकिन जिलाधिकारी ने भी अपने हाथ खड़े कर दिये.
  • ऐसे में दाहसंस्कार करने के लिए पैरोल न मिलने से नाराज़ परिजनों ने एटा चुंगी पर शव रख कर जाम लगा दिया.
  • इया दौरान मौके पर पहुंची पुलिस ने उन्हें समझाने की कोशिश की.
  • साथ ही जिला प्रशासन ने परिजनों से पैरोल की प्रक्रिया पूरी करने के लिए चार घंटे का समय मांगा.
  • तब जाकर पीड़ित परिजनों ने घंटों सड़क पर बैठने के बाद जाम खोल दिया.
  • गौरतलब हो कि इस दौरान मौके पर फोर्स लगा दी गई है.
  • अब देखना यहा है कि पीड़ित परिवार को कितनी देर में पैरोल मिलेगी.
  • ताकि वो पिता के अंतिम संस्कार की प्रक्रिया निभा सके.
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

कर्ज माफ़ी कार्यक्रम के चीफ गेस्ट होंगे गृह मंत्री!

Divyang Dixit

वीडियो: प्यार में नाकाम प्रेमियों ने नदी में कूदकर दी जान!

Sudhir Kumar

शराब बंदी संघर्ष समिति ने किया कई लोगों का सम्मान!

Sudhir Kumar