Home » लखनवी अंदाज़ बयां करता राष्ट्रीय पुस्तक मेला
Uttar Pradesh

लखनवी अंदाज़ बयां करता राष्ट्रीय पुस्तक मेला

Book fair

लखनऊ के मोती महल लॉन में चल रहा राष्ट्रीय पुस्तक मेला कुछ अलग अंदाज़ ही बयां कर रहा है. किताबों से रोशन हो रहा मेले का तीसरा दिन.

  • प्रकाशकों के स्टाल पर लग रहा है साहित्य प्रेमियों का जमावड़ा
  • साथ ही सांस्कृतिक पंडालों पर आयोजित नन्हे एवं युवा कलाकारों की प्रस्तुति सबका मन मोह रही है
  • हर कोई अपनी पसंद कि किताबों को खरीदने में व्यस्त दिख रहा है
  • पहली बार दुर्लभ किताबों का आया संग्रह मेले में लगी होड़
  • युवाओं को जापानी शब्दकोष खासा पसंद आ रहा है
  • वसुंधरा डालमिया की हिन्दू परम्पराओं का राष्ट्रीकरण संग्रह का अहम् हिस्सा है
  • इसके आलावा नरेन्द्र कोहली की महासागर नौ खंड भी काफी पसंद की जा रही

किताबों का सार

  • देवेन्द्र स्वरुप कि यह सविंधान हमारा या अंग्रेजों का, आबिद सूरती कि कालजयी रचना, संस्कृति एक नाम
  • लोगों की बात मानें तो पुस्तक मेला शायरी का समन्वय ला रहा है और पसंद भी किया जा रहा
  • मशहूर शायर ग़ालिब,जिगर मुरादाबादी,साहिर,मीर तकी आदि
  • पुस्तक मेला शायराना अंदाज़ में नज़र आ रहा है भले ही ये किताबें ज्यादा खरीदी ना जा रही हों
  • लोग शायरी कलामे पढते और बोलते ज़रूर आ रहे
  • विभिन्न वर्ग कि उपन्यासों का समन्वय भी लोगों को आकर्षित कर रहा है
  • संस्कृति के चार अध्याय,चित्रलेखा, राग दरबारी, कमश, कशी का अस्सी, विश्व कि श्रेष्ट कहानिया भी हैं
  • शनिवार को मेले के दूसरे दिन के.जी.एम.सी की अस्थि रोग विशेषज्ञ डा. वंदना ने लोगों को परामार्श दिए
  • दन्त चिकत्सक डा. पाल ने दांतों से संभदित जानकारी दी.

 

 

 

 

 

 

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

अखिलेश साइडलाइन, सपा में ‘शिवपालराज’ की वापसी!

Shashank

वीडियो: …और जब अखिलेश ने ‘भुट्टेवाले’ को लगाई आवाज!

Sudhir Kumar

रालोद और महान दल में गठबंधन के आसार, प्रेसवार्ता में हो सकता है ऐलान!

Dhirendra Singh