Home » क्या आपने देखा है ये मंत्रमुग्ध करने वाला नजारा
Uttar Pradesh

क्या आपने देखा है ये मंत्रमुग्ध करने वाला नजारा

Lucknow Zoo_Uttar_Pradesh_org

लखनऊ : राज्य में पारा जहाँ चढ़ता जा रहा है और इंसान से लेकर जानवर तक इस गर्मी से बेहाल हैं, ऐसे में गर्मी से निपटने के लिए राजधानी के चिड़ियाघर में जानवरों को गर्मी से बड़ी राहत दी है वन्य विभाग ने। बेजुबान वन्यजीवों को गर्म हवाओं से बचाने की तैयारी की गई है।

Lucknow Zoo_Uttar_Pradesh_org

 

  • वन्य जीवों की पसंद के अनुसार फल, जूस व अन्य आहार बदल-बदल कर देने की तैयारी की गई है।
  • बढ़ते तापमान से चिड़ियाघर में जानवरों को दिक्कत ना हो, इसके लिए बाड़े में पानी का छिड़काव भी लगातार किया जा रहा है।
  • अधिक ठंड व अधिक गर्म के मौसम में परेशान सा हो जाने वाले साँपों के लिए भी विशेष व्यवस्था की गई है। उनके बाड़े में कूलर लगाए गए हैं, जिससे वे गर्मी में भी ठंड का अहसास कर सकें।
  • हुक्कू शेर के बाड़े मे झोपड़ी भी बनाई गई है। इस झोपड़ी के ऊपरी हिस्से में पाइप लगाया गया है। इस पाइप में जगह-जगह छेद किए गए हैं, जहाँ पानी गिरकर चटाई पर आता है और झोपड़ी दिनभर ठंडी रहती है।
  • भालू के खाने में शहद शामिल दिया जा रहा है। हाथियों को मक्के की रोटी के साथ गन्ने व गुड़ की मात्रा बढ़ा दी गई है।

Lucknow Zoo_Uttar_Pradesh_org

  • हिरन समेत अन्य वन्य जीवों के बाड़े में भी पानी के छिड़काव की विशेष व्यवस्था की गई है, जहाँ वन्यजीव ठंड का आनंद लेते दिखते है।
  • चिड़ियाघर के वरिष्ठ चिकित्सक ने बताया कि आम आने के बाद बंदरों को केरी का पना भी दिया जाएगा।
  • इससे आलावा शेर व बाघ के बाड़ों में पानी भरवा दिया गया है। सभी वन्यजीव को पीने का स्वच्छ पानी उपलब्ध कराया जा रहा है।

Lucknow Zoo_Uttar_Pradesh_org

  • दुर्लभ पक्षियों को गर्मी से बचाने के लिए डक पॉन्ड के पानी ताजा बना रहे इसके लिए जरुरी इंतजाम किये जा रहे हैं।
  • चिड़ियाघर में आये दिन आईवीआरआई के डॉक्टरों की टीम वन्यजीवों के आहार-व्यवहार का निरीक्षण करती रहती है।इसके साथ ही वन्य जीवों के स्वास्थ्य की जाँच करने के लिए टीम आती रहती है।

Lucknow Zoo_Uttar_Pradesh_org

हालांकि, चिड़ियाघर के वन्य जीवों के संरक्षण की जिम्मेदारी वन विभाग की है और अबतक भिन्न-भिन्न बीमारियों से अनेक जानवरों की मृत्यु हो चुकी और है। इसे रोकने के लिए अभी भी पर्याप्त चिकित्सा के इंतजाम नहीं किये जा सकें हैं जो कि एक चिंता का विषय है।

 

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

यूपी: 72 घंटे में 30 मौतों से मचा हाहाकार

Mohammad Zahid

दिल्ली से झाँसी जा रही ट्रेन में बम की सूचना से हडकंप!

Divyang Dixit

टिकट बंटवारे को लेकर फंसा पेंच, कौन होगा टिकट बंटवारे का “बॉस”?

Rupesh Rawat