Home » बांग्लादेशी कितने है मालूम नहीं लेकिन वसूली कहां लेनी है ये मालूम!
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

बांग्लादेशी कितने है मालूम नहीं लेकिन वसूली कहां लेनी है ये मालूम!

jhuggi jhopdi in lucknow

राजधानी पुलिस को इस बात की पूरी (bangladeshi assam people) जानकारी है कि उसे वसूली कहां से और कितनी लेनी है। लेकिन उनके क्षेत्र में कितने बांग्लादेशी फर्जी कागजातों के आधार पर रह रहे हैं उन्हें मालूम नहीं। पीजीआई और गोमतीनगर में 24 घंटे के अंदर पड़ी डकैती के बाद जब थानावार इस बात की जानकारी की गई कि किसके क्षेत्र में कितने बांग्लादेशी रहते हैं तो सभी बगले झांकने लगे।

हत्यारों के करीब पहुंची पुलिस, जल्द होगा खुलासा!

  • हालांकि आनन-फानन में पुलिस ने बांग्लादेशियों के सत्यापन की फाइल को कूडेदान से निकाल कर धूल साफ कर ली और कागजी घोड़े बनाकर दौड़ाना भी शुरू कर दिया।
  • मगर हकीकत यह है कि अभी तक किसी का भी सत्यापन नहीं किया जा सका है।

कोटा पटना एक्सप्रेस में 12 साल की किशोरी से बलात्कार!

आये दिन बढ़ रहे बांग्लादेशी

  • राजधानी में झुग्गी झोपड़ी डालकर रहने वाले बांग्लादेशियों की संख्या में आए दिन इजाफा हो रहा है।
  • शहर में लगातार अपराधों का ग्राफ भी बढऩे लगा है।
  • शहर में कई ऐसी संगीन वारदातें हुई जिनके खुलासे के बाद यही बात सामने आयी थी कि वारदात में इन्हीं बंगलादेशियों का हाथ है।

लखनऊ: तालाब में डूबाकर मासूम की दर्दनाक मौत!

  • दरअसल ये दिनभर भीख मांग कर घरों की रेकी करते हैं।
  • मजदूरी के नाम पर लोगों के घर में प्रवेश करते हैं।
  • फिर मौका पाते ही वारदात कर डालते हैं।
  • इतना होने के बाद भी राजधानी पुलिस के पास इस बात का रिकार्ड नहीं है कि कितने बंगलादेशी यहां रहते हैं।
  • वह मूलरूप से कहा के रहने वाले हैं या उनका असल में नाम क्या है।
  • हालांकि इसके लिए बीते कई सालों से मांग भी उठती रही है कि यहां रहने वाले बांगलादेशियों का सत्यापन कराया जाए।
  • लेकिन चौकी इंचार्ज व थानाध्यक्ष की लापरवाही में हर बार सत्यापन की फाइल ठंडे बस्ते में चली जाती है।

वीडियो: हाथों में चूड़ियां लेकर महिलाओं ने किया प्रदर्शन!

घटना के बाद गायब हो जाते है बंगलादेशी

  • नव विकसित कालोनियों व रेलवे लाइन किनारे डेरा डालने वाले बंगलादेशी जब भी काई बड़ी वारदात होती है उसके बाद से वो गायब हो जाते हैं।
  • पूछने पर पता चलता है कि कोई गांव गया है तो कहीं।
  • खास बात यह है कि ये लोग फोन भी इस्तेमाल नहीं करते जिसके जरिए उन तक पहुंचना मुश्किल होता है।

डीजे की धुन पर सिपाही के डांस का वीडियो वॉयरल!

गोमतीनगर और पीजीआई में भी रेलवे लाइन किनारे से आए थे डकैत

  • पीजीआई के साउथ सिटी में एचएएल कर्मी के घर और गोमतीनगर के विवेक खंड में रिटायर्ड इंजीनियर के घर डाका डालने आए डकैतों ने रेलवे लाइन का ही सहारा लिया था।
  • दोनों ही वारदातों में एक ही तरह का तरीका इस्तेमाल किया गया था।
  • डकैतों ने ऐसे घरों को चिन्हित किया था जो लाइन किनारे हो और घर का पिछला हिस्से में खिड़की लगी हो।

ATS ने संदिग्ध आतंकी को मुंबई एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार!

दर्जनभर से अधिक हिरासत में, नहीं मिला सुराग

  • पुलिस की जांच टीमों ने अब तक डकैती के मामले में दर्जनभर से अधिक लोगों को हिरासत में लिया है। लेकिन कोई खास सबूत हाथ नहीं लग सका है।
  • पुलिस का कहना है कि लगातार छापेमारी की जा रही है।
  • कई संदिग्ध राडार पर भी हैं।
  • उम्मीद (bangladeshi assam people) जताई जा रही है कि जल्द ही मामले का खुलासा कर दिया जाएगा।

बारिश के बीच सावन के पहले सोमवार पर शिव पूजा शुरू!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

सीएम योगी AKTU और CDRI परिसर का करेंगे निरीक्षण!

Kamal Tiwari

यूपी विधानसभा के दोनों सदनों में सर्वसम्मति से पारित हुआ GST बिल!

Divyang Dixit

वीडियो: मालगाड़ी और पिकअप की टक्कर में चालक घायल!

Sudhir Kumar