Home » नगर निगम का ठेकेदार खपा रहा था नकली सीमेंट, फैक्ट्री का भांडाफोड़!
Uttar Pradesh

नगर निगम का ठेकेदार खपा रहा था नकली सीमेंट, फैक्ट्री का भांडाफोड़!

fake cement recovered

राजधानी के पारा थाना क्षेत्र के भरोसा गांव से पुलिस ने 200 बोरी नकली सीमेंट का बरामद करने का दावा किया है। बताया जा रहा है कि हरदोई जिले का रहने वाला सरवन काफी दिनों से अवैध सीमेंट का कारोबार कर रहा था। पुलिस के मुताबिक पकड़ा गया आरोपित विभिन्न प्रतिष्ठित कंपनियों की खाली बोरियों में नकली सीमेंट बनाकर भरता था और उसे काम रेट में बेंच देता था। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए सभी नकली सीमेंट की बोरियों को सील करते जुए आसपास के लोगों से इस संबंध में पूछताछ शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि यह नकली सीमेंट नगर निगम का एक ठेकेदार इलाके में नालियों के निर्माण व अन्य जगह कर रहा था। पुलिस इसकी तलाश में जुटी है।

यह है पूरा मामला

  • पारा थाना प्रभारी एसएन सिंह यादव को सूचना मिली थी कि सरोसा-भरोसा गांव के एक घर में नकली सीमेंट का करोबार होता है।
  • मिलावट खोर सीमेंटों को अगल-अलग कम्पनी की बोरियों में भरकर दुकानदारों को सस्ते दामों में उपलब्ध कराते थे।
  • यह बोरियां धीरे-धीरे सभी जगह पहुंच जाती थी।
  • जिसका इस्तेमाल राजधानीवासी अपने घरों करते हैं।
  • वहीं गांव के एक व्यक्ति ने बताया कि सीमेंट की बोरियों को मिलावट खोरी नगर निगम, पीडब्ल्यूडी सहित अन्य विभागों के ठेकेदारों को सस्ते दामों में उपलब्ध कराते हैं।

ठेकेदार नालियों खपाते थे नकली सीमेंट

  • सस्ते दामों में मिलने के कारण ठेकेदार इसे आसानी से खरीद लेते हैं।
  • इस नकली सीमेंटों से गली, इमारते, नालियां, पुलिया सहित अन्य सरकारी इमारतों में होने वाले निर्माण कार्य में इस्तेमाल किया जाता है।
  • अक्सर सीमेंट को लोडकर एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने वाले ट्रक ड्राइवर अधिक फायदा कमाने के लिए 5 से 10 बोरियों को फाड़ देते है और कम्पनी को फटी बोरियां दिखाकर माल वेस्टेज दिखा देते हैं।
  • जिसे कम्पनी आसानी से मान लेती है।
  • नकली सीमेंट का करोबार करने वाले लोग इन फटी बोरियों को कम दामों में खरीद लेते है।

ऐसे बनाते थे नकली सीमेंट

  • इसके बाद सीमेंट की बोरियों को एक जगह इक्टठा किया जाता है।
  • जहां मजदूरों की मदद से सीमेंट में कोयला, मिट्टी, चूना मिलाकर कर नकली सीमेण्ट तैयार कर लिया जाता है।
  • जिसके बाद उन्हें अलग-अलग कम्पनियों की बोरियों में भरकर ठेकेदारों को सप्लाई कर दी जाती है।
  • इस सम्बंध में पुलिस को कई दिनों से शिकायत मिल रही थी।
  • जिसके बाद पुलिस ने एक टीम तैयार कर गोदाम पर छापेमारी की।
  • जहां उन्होंने एक घर में 230 अलग-अलग कम्पनियों की बोरियां बरामद हुई।
  • पुलिस ने कार्रवाई करते हुए बोरियों सहित मकान को सील कर दिया है।
  • पुलिस की माने तो यह सीमेंट का कारोबार श्रवण अवस्थी करता था जिसकी तलाश की जा रही है।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

LIVE: 17वीं विधानसभा के प्रथम सत्र के तीसरे दिन की कार्यवाही!

Divyang Dixit

नक्सल प्रभावित राज्यों की बैठक के दौरान CM योगी ने दिए ये सुझाव!

Mohammad Zahid

हीमोफीलिया मरीजों का इलाज हुआ मुश्किल!

Vasundhra