Home » मनकामेश्वर घाट पर गूंजी ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ की गूंज!
Uttar Pradesh

मनकामेश्वर घाट पर गूंजी ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ की गूंज!

mankameshwar ghat ganga dashera

कितना मुश्किल जीवन है, जीवन कांटो का वन है, बेटी मन का चंदन है। बचाओ बचाओ बेटियां पढ़ाओं पढ़ाओं पढ़ाओं बेटियां। बेटी बचाने की ये गूंज आज लखनऊ के मनकामेश्वर घाट पर गंगा दशहरा के मौके पर सुनाई दी। यह पहला मौका है जब मनकामेश्वर घाट पर गंगा दशहरा पर्व को संकल्प दिवस के रूप में उत्साह के साथ मनाया गया।

इस अवसर पर मनकामेश्वर मठ मंदिर की महंत देव्यागिरि की अगुवाई में ब्रह्म मुहूर्त में पूजन कर मनकामेश्वर घाट पर उगते सूर्य को अर्घ्य दिया गया। साथ ही इस आयोजन में लोक गायिका और समाज में प्रकृति संरक्षण का संदेश देने वाली कुसुम वर्मा को नमो स्तुते मां गोमती श्री सम्मान से अलंकृत किया गया।

यह भी पढ़ें…  साल 2017 का गंगा दशहरा है खास, जानिए क्‍या होते हैं लाभ!

[ultimate_gallery id=”78956″]

गीतों के जरिए दिया बेटी बचाने का संदेश :

  • गायिका कुसुम वर्मा उनकी शिष्या शालिनी, जोया, कवित और सविता ने गीतों के माध्यम से बेटी बचाने का संदेश दिया।
  • कितना मुश्किल जीवन है, जीवन कांटो का वन है, बेटी मन का चंदन है। बचाओ बचाओ बेटियां पढ़ाओं पढ़ाओं पढ़ाओं बेटिया…गाना गाकर बेटियों को बचाने की अपील की।
  • साथ ही बाबा निमिया के पेड़ जिनि काटे ऊ निमिया चिरिया के बसेर के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया।
  • इस मौके पर गंगा किनारे लगा मेला चलो सखी गंगा नहाये छुट जाए सारा छमेला चलो री गंगा नहाये सुनाया।
  • इन गीतों की जीवंत प्रस्तुति प्रभात बेला में श्रोताओं को आनंदित कर गई।

यह भी पढ़ें… गंगा दशहरा पर हज़ारों श्रद्धालुओं ने किया माँ गंगा का दर्शन और पूजन!

मंत्रों के बीच दस भक्तों ने दिया सूर्य को अर्घ्य :

  • महंत देव्यागिरि की अगुवाई में मंत्रों के बीच सूर्य देव को दस भक्तों ने अर्घ्य अर्पित किया।
  • खास बात ये कि अर्घ्य का जल संदेश देती मटकियों में संकलित कर मां गोमती आदि गंगा नदी में प्रवाहित किया गया।
  • किसी मटकी पर बेटी बचाओ का संदेश लिखा था तो किसी पर वर्षा जल संचयन का संदेश।
  • इसके अलावा मटकियों के माध्यम से नदी की स्वच्छता और सर्व शिक्षा का भी संदेश दिया गया।
  • यह अर्घ्य भारत माता की विशाल तस्वीर के सामने सूर्य देव को अर्पित किया गया।
  • इस माध्यम से लोगों को संदेश दिया गया कि राष्ट्र सर्वोपरी है।
  • गंगा दशहरे के मौके पर फूलों और रंगोंली से अलंकृत घाट का सौन्दर्य देखते ही बना।
  • इस मौके पर पूजन अनुष्ठान और सांस्कृतिक आयोजन के बाद प्रसाद का वितरण किया गया।
  • कार्यक्रम में जगदीश गुप्त सोनी, अंकुर, गोलू उपमा सहित बड़ी संख्या में भक्त गंगा दशहरा पूजन समारोह में शामिल हुए।

यह भी पढ़ें… उमा भारती 5 जून को गंगा घाट पर लगायेंगी चौपाल!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएगा सपा-कांग्रेस गठबंधनः डॉ. अनुराग भदौरिया!

Sudhir Kumar

कांग्रेस विधायक पर आचार सहिंता उल्लंघन का मुकदमा दर्ज!

Dhirendra Singh

गोरखपुर: इस मजबूरी में ससुर ने रचाई अपनी बहू से शादी!

Namita