Home » जांच के घेरों में फंसते जा रहे हैं गायत्री प्रजापति!
Uttar Pradesh

जांच के घेरों में फंसते जा रहे हैं गायत्री प्रजापति!

Lokayukta inquiry

उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी के नेता गायत्री प्रजापति की मुश्किलें(Lokayukta inquiry) कम होने का नाम नहीं ले रही हैं, सपा नेता गायत्री प्रजापति मौजूदा समय में एक महिला के साथ गैंगरेप और एक किशोरी के यौन शोषण के आरोप में पास्को एक्ट के तहत आरोप में जेल में बंद हैं।

सपा नेता गायत्री प्रजापति के खिलाफ शुरू हुई लोकायुक्त जांच(Lokayukta inquiry):

  • समाजवादी पार्टी नेता गायत्री प्रजापति की मुश्किलें कम होने के नाम नहीं ले रही हैं।
  • एक तरफ जहाँ गायत्री प्रजापति गैंगरेप और पास्को एक्ट जैसी धाराओं में कथित आरोपी हैं।
  • वहीँ मंगलवार 11 जुलाई से सपा नेता के खिलाफ लोकायुक्त की भी जांच शुरू हो गयी है।
  • लोकायुक्त ने यह जांच आय से अधिक संपत्ति, अवैध खनन और भ्रष्टाचार के मामले में दायर परिवाद के आधार पर शुरू की है।

10 महीने पहले दाखिल की गयी थी शिकायत(Lokayukta inquiry):

  • सपा नेता गायत्री प्रजापति के खिलाफ लोकायुक्त की जांच मंगलवार से शुरू हो चुकी है।
  • जिसके तहत लोकायुक्त गायत्री के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति,
  • अवैध खनन और
  • भ्रष्टाचार के आरोपों के खिलाफ जांच करेंगे।
  • गौरतलब है कि, यह शिकायत करीब 10 महीने पहले दाखिल की गयी थी।
  • जिसके बाद लोकायुक्त कार्यालय ने मामले में अपना संज्ञान लिया है।
  • लोकायुक्त के पास शिकायतकर्ता रजनीश सिंह ने शिकायत दर्ज की थी।
  • ज्ञात हो कि, अपने आरोपों के तहत रजनीश सिंह ने गायत्री के खिलाफ सबूत भी लोकायुक्त को दिए हैं।
  • लोकायुक्त सचिव आर.एन पाण्डेय ने शिकायतकर्ता को पत्र भेज कर जांच शुरू होने की जानकारी दी।

पहले से ही कई गंभीर धाराओं के तहत जेल में बंद हैं गायत्री प्रजापति(Lokayukta inquiry):

  • गायत्री प्रजापति पर लोकायुक्त ने अपनी जांच शुरू कर दी है।
  • जिसके बाद गायत्री प्रजापति की मुश्किलें पहले से काफी बढ़ चुकी हैं।
  • गायत्री प्रजापति पर पहले से ही गैंगरेप, पास्को एक्ट के तहत मुक़दमे चले रहे हैं।
  • वहीँ ऐसे में आय से अधिक संपत्ति, अवैध खनन और भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद गायत्री प्रजापति की मुश्किलें बढ़ चुकी हैं।

ये भी पढ़ें: जनसँख्या जागरूकता रैली को CM योगी ने दिखाई हरी झंडी!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

प्रदेश की शिक्षा के इतिहास में ऐतिहासिक कारनामा, गोरखपुर यूनिवर्सिटी ने हासिल की उपलब्धि!

Divyang Dixit

डॉक्टर्स ने जिन्दा मरीज को बता दिया मृतक

Vasundhra

यूपी में प्रियंका की लोकप्रियता है, उन्हें प्रचार के लिए आना चाहिए -शीला

Rupesh Rawat