Home » मरीजों के इलाज में कोताही ना बरतने के निर्देश- VC
Uttar Pradesh

मरीजों के इलाज में कोताही ना बरतने के निर्देश- VC

KGMU VC press conference

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज के ट्रामा सेंटर में शनिवार 15 जुलाई को आग लगने के बाद अफरा-तफरी का माहौल बन गया था। ट्रामा सेंटर में आग लगने के चलते करीब 6 लोगों की मौत हो गयी थी। जिसके बाद रविवार 16 जुलाई को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मेडिकल कॉलेज के ट्रामा सेंटर पहुंचे थे। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी अदित्यानाथ ने मरीजों से उनका हालचाल जाना। साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने आग लगने की घटना की पूरी जानकारी भी हासिल की। जिसके बाद KGMU VC ने प्रेस कांफ्रेंस(KGMU VC press conference) को संबोधित किया। इस दौरान VC ने पूरी घटना का ब्यौरा दिया।

KGMU VC की प्रेस कांफ्रेंस के संबोधन के मुख्य अंश(KGMU VC press conference):

धुएं से बजा था अलार्म सिस्टम(KGMU VC press conference):

  • मरीजों को संकट के समय शिफ्ट करने का काम अभूतपूर्व हुआ।
  • धुआं निकलने से अलार्म सिस्टम बजा था।
  • ऑक्सीजन सप्लाई रोकने के बाद मरीजों ने भी धैर्य का परिचय दिया।
  • सबसे ज़्यादा संकट NICU में था।
  • हमने शिफ्ट किये गए मरीजों के इलाज में कोताही ना बरतने के निर्देश दिए हैं।

कई अन्य अस्पतालों में रेफर किये गए मरीज(KGMU VC press conference):

  • कुछ मरीज बलरामपुर, सिविल हॉस्पिटल और लोहिया अस्पताल भी भेजे गए हैं।
  • फायर विभाग ने 20 मिनट में पहुंचकर अपना काम शुरू किया
  • AC डक्ट में आग लगने से धुआं तेज़ी से फैला।
  • सुबह CM योगी आदित्यनाथ आए,
  • 50 मरीजों और तीमारदारों से CM योगी ने मुलाकात की।
  • गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने फोन कर मदद की पेशकश की थी।

ट्रॉमा के अग्निशमन उपकरण फेल(KGMU VC press conference):

  • राजधानी में स्थित केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में अज्ञात कारणों से भीषण आग लग जाने से हड़कंप मच गया।
  • आग देखते ही प्रथम तल में मौजूद मरीज व उनके तीमारदार बाहर भाग निकले।
  • अस्पताल द्वारा आनन-फानन में फायर उपकरणों द्वारा आग पर काबू पाने का प्रयास किया गया लेकिन उपकरण फेल हुए।

आग लगते ही तीमारदार मरीजों को लेकर भागे(KGMU VC press conference):

  • लपटे, धुआं फैलने लगा तो उसे देखकर उसी मंजिल में जनरल व प्राईवेट वार्ड मे भर्ती मरीज व उनके तीमारदार भागने लगे।
  • इस दौरान जो भी वार्ड में स्टाफ और कर्मी मौजूद थे।
  • वह भी अपनी अपनी जान बचाकर अस्पताल के बाहर आ गये।
  • मरीजों को बचाने के ल‌िए आनन-फानन में सड़क पर ल‌िटाया गया।
  • वहीं कुछ मरीजों को पागलखाने और लारी में ल‌‌िटा द‌िया गया।
  • इस दौरान पूरी शहमीना शाह रोड बंद कर दी गई।
  • पुलिस ने आग लगने की वजह से यातायात को भी डायवर्ट कर दिया।
  • आग लगने की सूचना मिलते ही जिलाधिकारी कौशल राज और एसएसपी दीपक कुमार, केजीएमयू के वीसी और कानून एवं न्याय मंत्री (कैबिनेट मंत्री) ब्रजेश पाठक मौके पर पहुंचे और जानकारी ली।
  • वहीं केजीएमयू के सीएमएस एसएन शंखवार ने बताया कि आग शार्ट सर्किट से लगी।
  • अग्निशमन और पुलिस की टीम के साथ रेजिडेंट डॉक्टरों की टीम राहत और बचाव कार्य में देर रात तक जुटे रहे।
  • इस पूरी घटना की सीएम आदित्यनाथ योगी ने 3 दिन के अंदर जांच के आदेश दिए।
  • सीएम ने लापरवाह अधिकारियों पर कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

ये भी पढ़ें: ट्रॉमा में मरीजों और तीमारदारों को सामाजिक कार्यकर्ताओं ने दिया खाना!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

हस्तिनापुर वन विभाग ने पाडा के सींग के साथ पकड़े 3 शिकारी!

Mohammad Zahid

बलिया: पीपा पुल खोले जाने से लाखों लोगों का आवागमन बाधित!

Kamal Tiwari

Exclusive तस्वीरें: शाह संग योगी ने जमीन पर बैठकर खाया खाना!

Sudhir Kumar