Home » मायावती की सोशल इंजीनियरिंग शुरू, अब ‘#काम बोलता है’ नहीं ‘#काम दिखता है’!
Uttar Pradesh

मायावती की सोशल इंजीनियरिंग शुरू, अब ‘#काम बोलता है’ नहीं ‘#काम दिखता है’!

Kaam Dikhta Hai

भले ही यूपी में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव विधान सभा चुनाव 2017 में विकास को लेकर वोट मांग रहे हों। सोशल मीडिया पर भी उनका हैश टैग ‘#काम बोलता है’ खूब छा रहा है।

  • लेकिन अब हैश टैग को सबक धता बताते हुए मायावती ने भी सोशल इंजीनियरिंग शुरू कर दी है।
  • बसपा के @BspUp2017 ट्विटर पर अब ‘#काम दिखता है’ ज्यादा नजर आ रहा है।
    बता दें कि यूपी में विधान सभा चुनाव शुरू हो चुके हैं।
  • सभी राजनीतिक पार्टियां भी पूरा जोर आजमाइश कर रही हैं।
  • सभी पार्टियां अपनी-अपनी जीत का दावा भी ठोंक रहे हैं।
  • लेकिन इस चुनाव में जीत किसकी होगी यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

 


मायावती से अखिलेश सरकार में दो गुने हुए महिला अपराध के आंकड़े

  • अभी हाल ही में सामाजिक कार्यकर्ता उर्वशी शर्मा ने एक आरटीआई के जरिये उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग से जानना चाहा था।
  • कि अखिलेश यादव की सरकार और अखिलेश की पूर्ववर्ती मायावती सरकार के कार्यकाल में महिला उत्पीड़न की कुल कितनी-कितनी शिकायतें दर्ज कीं गईं।
  • इस सम्बन्ध में उर्वशी को जो सूचना दी गई है उसके अनुसार मायावती के 60 माह के कार्यकाल में महिला आयोग में 81,776 शिकायतें दर्ज हुईं जबकि अखिलेश यादव के आरंभिक 54 माह के कार्यकाल में ये शिकायतें बढ़कर 1,46,652 हो गईं।
  • सामाजिक कार्यकर्ता का कहना है कि यह आंकड़े बता रहे हैं कि अखिलेश यादव के कार्यकाल में यूपी में महिला उत्पीड़न के मामले पूर्ववर्ती मायावती के कार्यकाल के मुकाबले दोगुने हो गये हैं।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

IPS अमिताभ मामले में पीड़िता के बयान दर्ज

Sudhir Kumar

प्रधानमंत्री 4 मार्च को जौनपुर में चुनाव रैली को करेंगे संबोधित!

Sudhir Kumar

यूपी कैबिनेट ने कई अहम प्रस्तावों को दी अपनी मंजूरी।

UP.org Editor