Home » आईएफएस लेटर बम: गर्दन बचाने के लिए चक्कर काट रहे आरोपी!
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

आईएफएस लेटर बम: गर्दन बचाने के लिए चक्कर काट रहे आरोपी!

ias officer sanjeev saran case

आईएफएस लेटर बम प्रकरण में सामने नोयडा की कुछ जमीनों को कौड़ियों के भाव बेचने का भूत सामने आया है। आईएफएस ने अपनी चिठी में (sanjeev saran) इसका जिक्र किया है, कि डील के बदले आईएएस को निजी बिल्डर्स ने क्या-क्या दिया। मामले में फंसे सीनियर आईएएस संजीव सरन तो यादव सिंह जैसों के भी परदादा निकले।

  • तब कुर्सी पर रहते हुए लग्जरी होटलों के लिए 70 हजार वर्ग मीटर से 7400 वर्ग मीटर में बेश कीमती भूखंड बेच डाले थे।
  • इन्होंने इन भूखंडों को मास्टर प्लान 2021 में भी शामिल करवा दिया था जो अब होटल्स अरबों के हो गए।
  • बता दें कि इस सीनियर आईएएस अधिकारी के कारनामों का सबसे पहले uttarpradesh.org ने उजागर किया था।

ये भी पढ़ें- 3 पेज के लेटर बम ने मचाया हड़कंप, सीनियर IAS पर गंभीर आरोप!

सपा-बसपा सरकार में गायब हो गए थे दस्तावेज

  • करीब इन दर्जन भर मामलों की पिछली सपा सरकार में एफआईआर भी दर्ज जुई थी।
  • लेकिन बुआ-बबुआ की सरकारों में सारे दस्तावेज गायब हो गए थे।
  • नोयडा की जमीनों को बेचकर लूटने की इस कोशिश पर अब योगी सरकार नजरें टेढ़ी हो गईं हैं।
  • ख़ुफ़िया डॉक्यूमेंट सामने आने के बाद भ्रष्टाचारियों में खलबली मची हुई है।
  • हालांकि मामले में पड़ताल शुरू हो गई है तो भ्रष्ट आईएएस अपनी गर्दन बचाने के लिए विभागीय मंत्री से ख़ुफ़िया मुलाकातें कर रहे हैं।
  • रविवार सुबह मंत्री के निजी आवास पर अफसरों ने अपनी गदर्न बचाने की गुहार लगाई साथ ही वह जुगाड़ भी भिड़ाते दिखे।

ये भी पढ़ें- डीएम आवास के सामने 1.60 लाख, कृष्णानगर में 5 लाख की लूट!

तबादला लिस्ट में भी खेल की तैयारी

  • बताया जा रहा है कि करीब सवा सौ रेंजरों की तबादला लिस्ट में भी खेल की तैयारी की जा रही है।
  • लंबे समय से मलाईदार पोस्टिंग को लेकर लिस्ट रुकी है।
  • उधर साथी आईएएस को बचाने को आईएएस लाबी एकजुट हो गई है।
  • लेटर लिखने वाले आईएफएस पर भितरखाने विभागीय अनुशासनात्मक कार्रवाई भी करने की तैयारी की जा रही है।
  • अफसरों के करोड़ों अरबों की सम्पत्ति का आयकर और ईडी भी संज्ञान लेने जा रहा है।
  • हालांकि यह मामला सामने आने के बाद ब्यूरोक्रेसी में तो हड़कंप मचा है।
  • वहीं सूत्रों के मुताबिक योगी सरकार चुपके से (sanjeev saran) मामले पर बारीकी से नजर रख रही है।

ये भी पढ़ें- ट्रिपल मर्डर: सीतापुर हुआ ‘लंका’ में तब्दील, घटना CCTV में कैद!

IFS letter bomb

IFS letter bomb

IFS letter bomb

IFS letter bomb

IFS letter bomb

IFS letter bomb

IFS letter bomb

IFS letter bomb

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

मुलायम सिंह ने परमिशन नहीं दी वरना ये ‘एक्ट्रेस’ होती अखिलेश की पत्नी!

Nikki Jaiswal

कल से राजनाथ सिंह का चार दिवसीय यूपी दौरा

Sudhir Kumar

वायरल वीडियो: दो भाईयों के झगडे में रिश्वत लेते हुए सब-इंस्पेक्टर!

Ashutosh Srivastava