Home » कंटेनर में पीछे से जा घुसी 140 की रेस में बेकाबू कार, असिस्टेंट प्रोफेसर की मौत!
Murder Uttar Pradesh

कंटेनर में पीछे से जा घुसी 140 की रेस में बेकाबू कार, असिस्टेंट प्रोफेसर की मौत!

car accident in madiyaon

राजधानी के मड़ियांव इलाके में सोमवार सुबह एक बेकाबू कार कंटेनर में पीछे से घुस गई। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कार की रफ्तार इतनी तेज थी कि उसके परखच्चे उड़ गए।

  • कार में सवार असिस्टेंट प्रोफेसर की मौके पर ही मौत हो गई।
  • सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने कार में फंसे शव को कड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाला और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
  • इस दौरान लखनऊ-सीतापुर राज्यमार्ग पर काफी लंबा जाम लग गया।
  • स्थानीय लोगों का कहना है कि कार की रफ्तार करीब 140 किमी प्रतिघण्टा रही होगी।
  • फिलहाल पुलिस ने क्षतिग्रस्त वाहन को कब्जे में लेकर मामले की पड़ताल शुरू कर दी है।

बहनोई के घर होली मिलने आया था प्रोफेसर

  • जानकारी के मुताबिक, मूलरूप से महोली सीतापुर निवासी सुरेन्द्र प्रताप सिंह पुत्र हुकुम सिंह फतेहपुर में एक विद्यालय में बतौर असिस्टेंट प्रोफेसर कार्यरत थे।
  • रविवार शाम सुरेन्द्र आईआईएम रोड निवासी अपने बहनोई अरविन्द सिंह के घर होली मिलने आये हुए थे।
  • सोमवार सुबह लगभग 5 बजे सुरेन्द्र ने बहनोई अरविन्द से घूमकर आने की बात कही और अपनी स्विफ्ट कार (यूपी 25बीबी 0001) से दुबग्गा गए।
  • इसके बाद सुरेन्द्र वापस सुबह लगभग 8 बजे बहनोई के घर वापस आ रहे थे।
  • वह आईआईएम रोड स्थित सरस्वती पेट्रोल पम्प के पास पहुंचे थे कि अचानक कार अनियंत्रित हो गई और तेज रफ़्तार में रोड पर खड़े कंटेनर (एम10 आईजी 8831) पीछे से जा घुसी।
  • हादसे में कार के परखच्चे उड़ गए।
  • हादसा होते ही घटनास्थल पर स्थानीय लोगों का हुजूम इकठ्ठा हो गया और पुलिस भी मौके पर पहुंच गई।
  • मौके पर पहुंची पुलिस ने सुरेन्द्र को ट्रॉमा पहुंचाया जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।
  • इंस्पेक्टर माड़ियांव नागेश मिश्रा ने बताया कि शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और परिजनों को सूचित कर दिया गया है।

अविवाहित था मृतक

  • मृतक असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर था तो वहीं उसका सबसे बड़ा भाई दिनेश सिंह पीपीएस के पद पर वर्तमान में उत्तराखंड में तैनात है।
  • दूसरे नंबर का भाई सुरेन्द्र भी गांव बाददापुर महोली में पूर्व प्रधान रह चुका है।
  • मृतक के तीसरे नंबर का भाई रवींद्र प्रताप सिंह पुलिस विभाग में इंस्पेक्टर है और वर्तमान में रामपुर में तैनात है।
  • बताया जा रहा है कि मृतक चारों भाइयो में सबसे छोटा था और अभी उसकी शादी भी नही हुई थी।

पलक झपकते ही कंटेनर में जा घुसी कार

  • प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि सुबह का वक्त था और रोड पर चहल पहल भी बहुत थी।
  • सरस्वती पेट्रोल पम्प के पास होटल संचालक ने बताया कि अचानक भिड़ंत की बहुत तेज आवाज आई।
  • उसने बताया कि कार सामने से हवा की तरह गुजरी और कंटेनर में जा घुसी और कार घुसते ही उसके परखच्चे हवा में उड़ गए।
  • प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो कार की रफ़्तार लगभग 140 किमी थी।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

ब्लड कैंसर से जूझ रहा है 2 साल का वंश, परिवार ने लगाई सीएम से मदद की गुहार!

Rupesh Rawat

परम वीर चक्र विजेता की पत्नी ने शहादत दिवस पर राज्यपाल को बुलाया!

Sudhir Kumar

अब यहाँ भी मिला मच्छर का लार्वा!

Vasundhra