Home » GST और बकाये के चलते बंद हुई सरकारी अस्पताल में दवा की सप्लाई!
Uttar Pradesh

GST और बकाये के चलते बंद हुई सरकारी अस्पताल में दवा की सप्लाई!

ghazipur govt district hospital medicine supply closed due to gst and balance dues

प्रदेश भर के सरकारी अस्पतालों में आम जन को निःशुल्क चिकित्सा सुविधा और निःशुल्क दवा देने का दावा सभी सरकारें करती आ रही है. बावजूद इसके सरकारी अस्पतालों में आए मरीजों व उनके तिमारदारों को अस्पताल से बाहर की दवा खरीदने की खबरे आती रही है.

  • लेकिन गाजीपुर के जिला अस्पताल में विभाग के डिफाल्टर व दवाओं के बड़ा बकायेदार होने के चलते अस्पताल में दवा की सप्लाई को कंपनियों ने बंद कर दिया है.
  • जिसके चलते अब अस्पताल प्रशासन भी मरीजों को जिला अस्पताल के बाहर बाजार से दवा लेने की सलाह दे रहा है.

ये भी पढ़ें: कानपुर: पानी मिला कर बिक रहा पेट्रोल, पब्लिक ने जमकर कटा हंगामा!

ये है पूरा मामला-

  • जनपद गाजीपुर में स्वास्थ्य सुविधा देने का वादा पिछली सरकार करते करते चली गई.
  • लेकिन आम जन को आज तक स्वास्थ्य सुविधा नहीं मिल पाई.

 भी पढ़ें: 7 फेरे लेने वाले पति ने पत्नी को जहर देकर दी खौफनाक मौत!

  • गाजीपुर का जिला अस्पताल जहां प्रतिदिन हजारों मरीज ओपीडी में इलाज कराने आते है.
  • जबकि तीन सौ मरीज हास्पिटल में भर्ती भी हैं.

ये भी पढ़ें: कानपुर: टेम्पो पलटने से एक मासूम की मौत, 12 लोग घायल!

  • जिनका पूरा इलाज और दवा सरकार की तरफ से मुफ्त है.
  • बता दें कि इस जिला अस्पताल को एक फर्म दवा की सप्लाई देती है.

ये भी पढ़ें: लखनऊ चिड़ियाघर में शेरनी की मौत!

  • लेकिन फार्म का करीब 90 लाख रूपए का बकाया जिला अस्पताल पर है.
  • जिसके चलते इस फर्म ने जिला अस्पताल को अब दवा देना बंद कर दिया है.

ये भी पढ़ें: अनोखा मंदिर जहां देवताओं के बीच मौजूद है अंग्रेज अधिकारी की मूर्ति!

  • ऐसे में अब अस्पताल दवाओं की भारी कमी हो गई है.
  • जिसके चलते दवा काउंटर पर पूरी दवा न देकर मरीजों को बाहर से दवा लाने को कहा जाता है.

ये भी पढ़ें: राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सपा हाईकमान ने दिए ये खास निर्देश!

  • मरीजों ने भी स्वीकारा कि इलाज के दौरान उन्हें अस्पताल से पूरी दवा नहीं दी जा रही है.
  • जिसके चलते उन्हें ज़्यादातर दवा बाहर से भी लेनी पड़ रही है.

ये भी पढ़ें :मुलायम सिंह यादव हो सकते है इस राज्य के ‘राज्यपाल’!

  • इस मामले में हमले जिला अस्पताल के सीएमएस एस.एन प्रसाद से भी बात की.
  • उन्होंने भी माना कि बकाए के चलते टैबलेट फार्म में दवाओं की भारी कमी हो गई है.
  • जिसके चलते अस्पताल मरीजों को पूरी दवा नहीं दे पा रहा है.

ये भी पढ़ें :राष्ट्रपति चुनाव में क्रॉस वोटिंग पर सपा विधायक ने दिया बड़ा बयान!

  • बता दें कि सीएमएस दवा की कमी के लिए जीएसटी को भी कुछ हद तक जिम्मेदार माना है.

ये भी पढ़ें :एमयू के मानद प्रोफेसर बनाए गए कल्बे जव्वाद!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

सपा एमएलसी के इस्तीफे पर शिवपाल यादव ने दिया ‘बड़ा बयान’!

Shashank

शराबियों के हंगामे को रोकने के लिए जिला प्रशासन की नयी पहल, शिकायत पर होगी 1 घंटे में कार्यवाई!

Divyang Dixit

बसपा के 125 कार्यकर्ताओं ने छोड़ी सदस्यता

Sudhir Kumar