Home » ‘चक्रव्यूह’ में फंसे गैंगरेप के आरोपी गायत्री!
Uttar Pradesh

‘चक्रव्यूह’ में फंसे गैंगरेप के आरोपी गायत्री!

gayatri gang rape case

[nextpage title=”गायत्री” ]

सपा सरकार गायत्री प्रजापति (gayatri prajapati) पहले ही गैंगरेप के आरोप में जेल में बंद हैं. अब एक और मामले में पुलिस उनपर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है. गायत्री प्रजापति ने नूतन ठाकुर और उनके आईपीएस पति अमिताभ ठाकुर को एक महिला से फर्जी रेप के मामले में फंसाने की कोशिश की थी. इसकी शिकायत नूतन ठाकुर ने पुलिस में की थी. अब पुलिस इस मामले में गायत्री प्रजापति पर शिकंजा कसने की तैयारी कर चुकी है.

चक्रव्यूह में फंसे गायत्री:

[/nextpage]

[nextpage title=”गायत्री” ]

एक्टिविस्ट डॉ नूतन ठाकुर और उनके पति आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर को गाजियाबाद की एक महिला की सहायता से फर्जी रेप केस में फंसाने की कोशिश की गई थी. इस मामले में पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति तथा अन्य के खिलाफ थाना गोमतीनगर में दर्ज मुकदमे में प्रजापति के खिलाफ आरोपपत्र तैयार कर लिया गया है.

  • इस मामले में सह विवेचक थानाध्यक्ष गोमतीनगर विश्वजीत सिंह ने नूतन ठाकुर को अवगत कराया.
  • विश्वजीत सिंह ने कहा कि इस मामले में प्रजापति की गिरफ़्तारी के 90 दिन कल (सोमवार, 24 जुलाई) को पूरे हो रहे हैं.
  • इसलिए आरोपपत्र कोर्ट में पेश कर दिया जायेगा.
  • जून 2015 में दर्ज कराये गए इस मामले में प्रजापति पर शिकंजा कसेगा. वहीँ
  • राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष जरीना उस्मानी, पूर्व सदस्य अशोक पाण्डेय भी इसमें भी अभियुक्त हैं.
  • इस केस में जुलाई 2015 में अंतिम रिपोर्ट लगा दी गयी थी.
  • लेकिन नूतन के विरोध याचिका पर सीजेएम लखनऊ के आदेशों के बाद इसकी पुनार्विवेचना की गयी थी.
  • तत्कालीन एसएसपी मंजिल सैनी ने मार्च 2017 में इसकी विवेचना क्राइम ब्रांच को दी थी.
  • जिसके द्वारा अप्रैल 2017 में श्री प्रजापति को न्यायिक हिरासत में प्रस्तुत किया गया था.
  • शेष सभी अभियुक्तों के खिलाफ विवेचना प्रचलित है.

[/nextpage]

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

प्रदर्शनी में अपनी तस्वीर देखकर अचंभित रह गए गवर्नर

Sudhir Kumar

कैबिनेट विस्तार से पहले अब कलराज मिश्र ने दिया इस्तीफा

Kamal Tiwari

प्रधानमंत्री मोदी ने मेरठ में किया विजय महारैली का ‘शंखनाद’!

Divyang Dixit