Home » बर्खास्त महिला सिपाही समेत 8 को किडनैपिंग केस में मिली उम्र कैद!
Uttar Pradesh

बर्खास्त महिला सिपाही समेत 8 को किडनैपिंग केस में मिली उम्र कैद!

life imprisonment

एक स्थानीय कोर्ट ने फिरौती के लिए एक प्रापर्टी डीलर को किडनैप करने के एक दस साल पुराने मामले में दोषी करार दी गयी एक बर्खास्त महिला कांस्टेबल सहित कुल आठ अभियुक्तों को सोमवार को उम्र कैद की सजा सुनाई है।

  • इन अभियुक्तों में बर्खास्त महिला सिपाही रीता पांडेय के अलावा मोनू पांडेय,
  • धुरंधर, जंगबहादुर यादव उर्फ जंगी, रामसकल यादव उर्फ शंकर,
  • मो. रईस, सलीम अहमद उर्फ गुड्डू व विभूति नारायण सिंह के नाम शामिल हैं।
  • आदेश सुनाते हुए विशेष जज डा. लक्ष्मीकांत राठौर ने इन सभी मुल्जिमों पर 40-40 हजार का जुर्माना भी ठोंका है।

यह है पूरा मामला

  • अभियेाजन के अनुसार 2007 में मुल्जिमों ने फिरौती के लिए गोमतीनगर इलाके से प्रापर्टी डीलर लोकनाथ सिंह का अपहरण किया था।
  • विवेचना में यह भी मालुम हुआ कि लोकनाथ की हत्या कर उनकी लाश सई नदी में फेंक दी गई थी।
  • लेकिन पुलिस अपहृत की लाश बरामद नहीं कर सकी।
  • 12 जनवरी, 2007 को लोकनाथ के अपहरण व हत्या की एफआईआर उनके भतीजे संजय सिह ने थाना गोमतीनगर में दर्ज कराई थी।
  • सरकारी वकील ज्वाला प्रसाद शर्मा व वादी के विशेष वकील रोहित कांत श्रीवास्तव की दलील थी कि अभियुक्तों के खिलाफ सजा के लिए पर्याप्त गवाही व सबूत रिकार्ड पर है।
  • कहा गया कि अपहरण के बाद संजय से मोबाइल पर दूसरी दफे फिरौती की मांग की गई।
  • तब संजय ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने संजय के मोबाइल को सर्विलांस पर लगाया।
  • संजय 25 लाख की रकम लेकर कठौता झील के पास पहुंचा।
  • वहां पुलिस ने मुख्य अपहरणकर्ता निसार अहमद को मुठभेड़ में मार गिराया।
  • जबकि उसके पास से बरामद चीजों के आधार पर अन्य मुल्जिमों को गिरफ्तार कर इस वारदात का खुलासा किया।
  • विवेचना में यह भी मालूम हुआ कि रीता पांडेय पिछले एक माह से लोकनाथ सिंह के पड़ोस में किराए के मकान में रह रही थी।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

देवरिया में दिखे ‘हथियारबंद संदिग्ध’, इलाके में पुलिस का सर्च ऑपरेशन जारी!

Divyang Dixit

ग्राफ़िक्स: देखिये कैसे हुआ एटा में साल का सबसे बड़ा सड़क हादसा!

Kamal Tiwari

BRD: झूठे हैं डॉ. कफील पर लगाये सभी आरोप!

Divyang Dixit