Home » फिर राजकीय संप्रेक्षण गृह से भाग गए 8 बच्चे, दस दिन में 10 बच्चे भागे!
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

फिर राजकीय संप्रेक्षण गृह से भाग गए 8 बच्चे, दस दिन में 10 बच्चे भागे!

eight children escaped in para lucknow

राजधानी के पारा थानाक्षेत्र के मोहान रोड स्थित राजकीय संप्रेक्षण गृह से सोमवार देर शाम आठ किशोर भाग निकले (children escaped)। एक्जास्ट फैन खोलकर भागे किशोर हत्या, दुष्कर्म, लूट व चोरी के संगीन मामलों में आरोपित हैं।

  • झरोखे से बाहर निकलने के लिए चादर का सहारा लिया था और सीसीटीवी कैमरे के तार काट दिए थे।
  • प्रकरण में केयर टेकर व सुरक्षाकर्मियों की भूमिका संदिग्ध है।
  • संप्रेक्षण गृह के अधीक्षक ने पारा पुलिस को तहरीर दी है।
  • एएसपी पूर्वी सर्वेश मिश्र के मुताबिक रिपोर्ट दर्ज कर जांच की जा रही है।

ये भी पढ़ें- वीडियो: प्रेमिका के सामने प्रेमी की सड़क पर पिटाई!

पांच जिलों के हैं किशोर

  • किशोरों में दो रायबरेली, दो उन्नाव, दो लखनऊ, एक बाराबंकी व एक कानपुर देहात के रहने वाले हैं।
  • सुरक्षा में सेंध तब लगी, जब संप्रेक्षण गृह में गार्ड, केयर टेकर व अन्य कर्मचारियों की फौज 24 घंटे मुस्तैद रहने का दावा करती है।
  • सोमवार शाम करीब सात बजे जब आस-पड़ोस के लोगों ने संप्रेक्षण गृह की पहली मंजिल से चादर लटकती देखी, तब घटना का पता चल सका।
  • आरोपित किशोर जिस बैरक से भागे थे, उसमें बेड के ऊपर बेड लगा हुआ है।
  • आरोपितों ने सबसे पहले कैमरे का तार काटा था फिर चादर फाड़कर उसे रस्सी की तरह प्रयोग किया।

ये भी पढ़ें- शिवराज सरकार ने करवाई है किसानों की हत्या: आप!

  • उन्होंने एग्जास्ट खोले और फिर एक-एक कर करीब 25 फीट ऊंची छत से नीचे उतर गए। देर रात तक भाग निकले किशोरों का कुछ पता नहीं लगाया जा सका था।
  • संप्रेक्षण गृह में कुल 130 किशोर बंद थे।
  • डीपीओ सर्वेश पांडेय, एएसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्र, संप्रेक्षण गृह के अधीक्षक, सीओ आलमबाग डॉ. मीनाक्षी एवं मंडल उप मुख्य पर्यवेक्षक आशुतोष सिंह समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे।
  • जिला प्रोबेशन अधिकारी ने बताया कि किशोरों के भागने की रिपोर्ट तैयार कर महिला कल्याण निदेशालय भेजी जाएगी, दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें- पत्नी का कटा हुआ सिर हाथ में लेकर पुलिस चौकी पहुंचा पति!

121 किशोर हैं बंद, खराब पड़े हैं कैमरे

  • संप्रेक्षण गृह में कुल 121 किशोर बंद हैं, यहां आठ कैमरे लगे हैं।
  • हालांकि इनमें आधे से अधिक खराब पड़े हैं।
  • किशोर एग्जास्ट खोलकर जिस रास्ते से भागे थे, वहां जंगल है।
  • यहां दस दिन में 10 किशोर भाग चुके है।
  • बीते दो जून को ही दो किशोर सुरक्षा व्यवस्था को धता बताकर भाग निकले थे।
  • इनमें से एक संप्रेक्षण गृह के गेट से ही पुलिसकर्मियों की आंख में चूना लगाकर भाग गया था।
  • यही नहीं दो जून की शाम को ही गणना के दौरान एक अन्य किशोर भी भाग निकला था।

ये भी पढ़ें- पूर्व मंत्री गायत्री सहित कई प्रमुख लोगों के तोड़े जाएंगे निर्माण!

केयर टेकर समेत चार निलंबित

  • अधीक्षक ध्रुव त्रिपाठी ने बताया कि इनकी देखभाल के लिए तीन केयर टेकर तैनात हैं।
  • इनमें सुधीर, राहुल सिंह और बाबूराम शामिल हैं।
  • किशोरों के भागने के पीछे राहुल सिंह की भूमिका शक के घेरे में है।
  • राहुल पर पूर्व में भी कई गंभीर आरोप लगे हैं।
  • निदेशक महिला कल्याण राम केवल ने बताया कि केयर टेकर और चौकीदार समेत चार कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है।
  • विभिन्न इलाकों से आठ किशोर इसी वर्ष संप्रेक्षण गृह आए थे।
  • आरोपित पहली मंजिल पर रहते हैं, जबकि नीचे खानपान की व्यवस्था है।
  • इनकी देखरेख में तीन केयर टेकर तैनात हैं।
  • संप्रेक्षण गृह के अधिकारियों ने पुलिस को सूचित किया।
  • इस बीच (children escaped) तीनों केयर टेकर को फरार किशोरों की तलाश में भेज दिया गया।

ये भी पढ़ें- ओवरटेक करने के चक्कर में भिड़ी जीप-डीसीएम, 12 घायल!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

AIMPLB को तीन तलाक के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए थी: मायावती

Kamal Tiwari

BRD: डॉ. राजीव मिश्रा और डॉ. पूर्णिमा शुक्ला गिरफ्तार

Sudhir Kumar

’44 हजार सड़कों’ की जांच करेगा PWD!

Divyang Dixit