Home » ‘डायॅल 100’ के कमांड सेंटर पर लड़कियों ने जम कर किया बवाल
Uttar Pradesh

‘डायॅल 100’ के कमांड सेंटर पर लड़कियों ने जम कर किया बवाल

dial hundred controversy

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट ‘ डायॅल 100’ की टेलीकॉलर की भर्ती का मामला काफी लचर नज़र आरहा है । ‘ डायॅल 100’ के गोमती नगर स्थित कमांड सेण्टर पर टेलीकॉलर की भर्ती के लिए बुलाई गई लड़कियों ने जैम कर बवाल किया । लड़कियों ने आरोप लगाया की उन्हें  टेलीकॉलर की भर्ती का ज्वॉइनिंग लेटर देने की बात कह कर बुलाया जाता है । परन्तु इन्हें काफी देर बैठने के बाद कोई बहाना बना कर घर वापस भेज दिया जाता है ।

‘डायॅल 100’ की टेलीकॉलर की भर्ती मामला

  • ‘ डायॅल 100’ के टेलीकॉलर की भर्ती महिंद्रा टेक कंपनी कर रही है|
  • इस कंपनी ने करीब 300 लड़कियों को टेलीकॉलर की जॉब के फॉर्म भरवाए थे |
  • ये फॉर्म 22 अगस्त को जमा कर लिए गए थे |
  • इन्ही पदों के ज्वॉइनिंग लेटर देने क लिए सभी लड़कियों को बुलाया गया था|
  • कमांड सेण्टर पर हंगामा कर रही लड़कियों ने बताया की पहले उन्हें  5 सितंबर को ज्वॉइनिंग के लिए मैसेज भेज कर बुलाया गया था|
  • इसके बाद 15 सितंबर को भी इन लड़कियों को ज्वॉइनिंग के लिए  बुलाया गया
  • पूरा दिन बैठाये रहने के बाद इन्हें बहाना बनान कर वापस घर भेज दिया गया था |
  • आज भी इन्हें इसी वजा से बुलाया गया था और फिर बहाना बना कर भेजा जा रहा था |

 ड्रीम प्रॉजेक्ट को पूरा करने में नाकाम साबित हो रहीं प्राईवेट कंपनियां

  • कई बार बुला कर और पूरा दिन बैठने के बाद भी इन लड़कियों को नही मिल पाया है  ज्वॉइनिंग लेटर|
  • सूचना पाकर कमांड सेण्टर पर पहुंची पुलिस ने फिलहाल इन लड़कियों को

प्रदर्शन कर रही लड़कियों का कहना था कि उन्हें एक बार 15 सितंबर को बुलाया गया इसके बाद 26 सितंबर को ज्वॉइनिंग का मैसेज भेजकर बुलाया गया। सोमवार को जब सैकड़ों लड़कियां पहुंची तो उन्हें फिर से बिना किसी पूर्व सूचना के ज्वॉइनिंग पोस्टपोंड होने का हवाला देकर घर भेजा गया इससे सभी आक्रोशित हैं। लड़कियों का कहना था कि प्राइवेट कंपनियां मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रॉजेक्ट में घुन लगा रहीं हैं। फिलहाल सूचना पाकर मौके पर पहुंची गोमतीनगर पुलिस ने उन्हें आश्वाशन देकर प्रदर्शन समाप्त करवा दिया। थाना प्रभारी गोमतीनगर ने बताया ज्वॉइनिंग डेट में कन्फ्यूजन को लेकर लड़कियां हंगामा काट रहीं थीं उन्हें समझाकर घर भेज दिया गया है।

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

रागिनी के स्कूल के प्रिंसिपल मौत की खबर से आहत!

Kamal Tiwari

तस्वीरें: सीएम तो तय नहीं लेकिन शपथ ग्रहण की सुरक्षा के लिए प्रशासन ने कसी कमर!

Sudhir Kumar

15 दिन में 560 अवैध वाहन पकड़े, कंजर्वेटर रमेश पाण्डेय को मिली शाबाशी

Kamal Tiwari

Leave a Comment