Home » हर रविवार होगा मच्छर पर वार, जानें कैसे !
Uttar Pradesh

हर रविवार होगा मच्छर पर वार, जानें कैसे !

dengue campaign

डेंगू की रोकथाम के लिए रोजाना  प्रयास किये जा रहे हैं इसी कड़ी में एक पोस्टर का भी अनावरण किया। इस पोस्टर में हर रविवार मच्छर पर वार का संदेश दिया गया है। जानकारी के मुताबिक प्रत्येक सप्ताह का रविवार दिवस ‘एन्टी मास्कीटो ड्राई डे‘ के रूप में मनाए जाने का निर्णय लिया गया है। ‘हर रविवार मच्छर पर वार‘ के नाम से जनजागरण अभियान चलाया जा रहा है। जिसमे सरकार ने सभी का सहयोग मांगा है।

70 टीमें करेगी काम

  • प्रत्येक रविवार को समस्त जनसमुदाय को अपने-अपने घर एवं आस-पास अनावश्यक एकत्रित जल को हटाना है।
  • इसके साथ ही पानी के गड्ढों को भर देना है। इस कार्य में सभी का सहयोग अनिवार्य है।
  • माह जुलाई से माह दिसम्बर तक मच्छरों के सक्रिय होने का समय रहता है।
  • इस अवधि में पूरी बांह के कपड़े पहनना, मच्छरदानी एवं मास्कीटो रिपेलेन्ट का प्रयोग करे।
  • डेंगू वायरस की रोकथाम के लिए 70 टीमें बनाई गईं हैं, लखनऊ में 110 वार्ड हैं। एक टीम को एक वार्ड में लगभग छह दिन का समय लग जाता है।
  • टीम पानी भरे पोखरों को खाली करायेगी, साफ सफाई का विशेष ध्यान देगी।
  • रैपिड एक्शन फोर्स का भी गठन किया गया है।
  • ये टीम कहीं से भी डेंगू का मरीज मिलने की सूचना पर वहां पहुंचेगी।
  • मरीज के घर के 100 मीटर के दायरे में साफ-सफाई कर एकत्र पानी को सुखाने का प्रबन्ध करेंगी।
  • ताकि क्षेत्र से मच्छर की पैदावार न हो सके।
  • डेंगू की विशिष्ट जांचों के लिए प्रदेश में 37 एसएसएच लैब स्थापित हैं।
  • मरीजों के उपचार और प्लेटलेट्स के लिए 39 ब्लड कम्पोनेन्ट सेपरेशन यूनिट्स स्थापित हैं।
  • उन्होंने बताया कि सीएमओ के नेतृत्व में सरकारी विभागों के कार्यालयों व अधिकारियों के आवास पर औचक निरीक्षण किया जायेगा।
  • अगर निरीक्षण स्थल पर बरसाती पानी, गमलों में पानी व कूलर आदि में पानी एकत्र मिलने पर सीएमओ द्वारा संस्थान या उक्त कार्यालय प्रभारी को नोटिस दिया जायेगा।
  • नोटिस देने के 24 घंटे के अंदर विभाग में साफ-सफाई आदि कार्रवाई न होने की दशा में सीएमओ द्वारा उक्त संस्थान पर जुर्माना भी लगाया जा सकता है।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

लखनवी अंदाज़ बयां करता राष्ट्रीय पुस्तक मेला

Prashasti Pathak

कॉलेज के छात्र गांव-गांव जाकर फैला रहे मतदान के लिए जागरूरकता!

Sudhir Kumar

मुख़्तार अंसारी की पैरोल पर दिल्ली हाई कोर्ट ने सुनाया अपना फैसला!

Divyang Dixit