Home » जनेश्वर मिश्रा ट्रस्ट को ‘पीके’ की टीम ने बनाया नया ठिकाना!
Uttar Pradesh

जनेश्वर मिश्रा ट्रस्ट को ‘पीके’ की टीम ने बनाया नया ठिकाना!

janeshwar mishra trust war room

समाजवादी पार्टी और कांग्रेस का गठबंधन होने के बाद जहां मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और राहुल गांधी साथ आ गए हैं। वहीं दोनों पार्टियों का प्रचार करने वाले लोग भी एक साथ आ गए हैं। कांग्रेस के रणनीतिकार रहे प्रशांत किशोर की टीम ने अपना नया ठिकाना जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट में बना लिया है।

वॉर रूम के डिजीटल वर्ल्ड से कार्यकर्ताओं से संपर्क

  • जिस जनेश्वर मिश्रा ट्रस्ट में बने वॉर रूम से अब तक सिर्फ अखिलेश यादव की चुनावी तैयारी की ही देखभाल होती थी।
  • अब यहां बने वॉर रूम में बैठकर पीके और अखिलेश की टीम डिजीटल वर्ल्ड से लेकर जमीनी कार्यकर्ताओं तक से रोज संपर्क कर चुनाव प्रचार को गति देने की योजना तैयार कर रही है।
  • पीके खुद जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट स्थित वॉर रूम का दौरा कर चुके हैं।
  • बताया जा रहा है कि शनिवार को डिंपल यादव भी जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट स्थित वॉर रूम गईं थी।

‘यूपी को ये साथ पसंद है’ पर दिया जा रहा जोर

  • सीएम अखिलेश और राहुल के लिए स्लोगन ‘यूपी को ये साथ पसंद है’ भी इसी टीम ने दिया है।
  • दोनों दलों के चुनावी रणनीतिकारों का पूरा फोकस अखिलेश और राहुल की इमेज साथ लेकर चलना है।
  • टीम इसी कैंपेन को सोशल मीडिया और क्षेत्रीय प्रचारों में बढ़ाने की तैयारी कर रही है।
  • जहां-जहां सपा या कांग्रेस की रैली या चुनावी सभा होगी, वहां इस गाने और स्लोगन को प्रमोट किया जाएगा।
  • रणनीति बनाने वाली टीम का जोर इस बात पर भी है कि जनता तक निचले लेवल पर यह संदेश पहुंचाया जाए कि यूपी के लिए यह गठबंधन क्यों जरूरी है।
  • जनता के बीच यह संदेश भी देने की कोशिश की जा रही है।

अखिलेश-डिंपल और राहुल-प्रियंका को प्रमोट करने का प्लान

  • सपा और कांग्रेस की प्रचार टीम ने संयुक्त रूप से काम करना शुरू कर दिया है।
  • सीएम अखिलेश की टीम के साथ ही कांग्रेस के रणनीतिकार पीके की भी टीम अखिलेश की इमेज बनाने में ही जुटी है।
  • इसके साथ ही अखिलेश-डिंपल और राहुल-प्रियंका को भी प्रमोट किया जाएगा।
  • इसके लिए इन नेताओं के अलग-अलग पेज बनाकर अधिक से अधिक प्रचार किया जाएगा सांप्रदायिक शक्तियों को कमजोर करने के लिए यही गठबंधन अहम भूमिका निभाएगा।
  • इसके लिए एक गाने पर भी काम चल रहा है।

निगेटिव कैंपेनिंग नहीं की जाएगी, कांग्रेस प्रवक्ता करेंगे अखिलेश की तारीफ

  • सपा-कांग्रेस के रणनीतिकारों का मानना है कि पूरी कैंपेनिंग में निगेटिव कैंपेनिंग नहीं की जाएगी।
  • इस टीम का पूरा फोकस निगेटिव कैंपेनिंग के बजाय सरकार के कामों और उपलब्धियों को बताने पर होगा।
  • मीडिया के जरिए भी गठबंधन के फायदे बताने के लिए टीवी चैनलों में बैठने वाले कांग्रेस प्रवक्ता अखिलेश सरकार की उपलब्धियों को बताएंगे।
  • साथ ही किसी मुद्दे पर जरूरी कंटेंट भी मुहैया करवाने का काम यह टीम करेगी।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

बच के रहना, ट्रैफिक पुलिस द्वारा वसूली का धंधा लगातार जारी है!

Sudhir Kumar

बलिया की घटना में किसी को बख्शा नहीं जाएगा- कानून मंत्री

Divyang Dixit

मेरठ: टॉफी की पैकिंग में खुलेआम बिक रही नशे की डोज़!

Mohammad Zahid