Home » CM ने सरकारी संस्थानों को दिए ये निर्देश!
Uttar Pradesh

CM ने सरकारी संस्थानों को दिए ये निर्देश!

yogi review meeting

उत्तर प्रदेश में अभियान चलाकर सभी सरकारी संस्थानों के भवनों को आग से सुरक्षित करने का आदेश मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से बुधवार को जारी किया गया। आदेश के मुताबिक अभियान चलाकर ये देखा जाये की कौन से सरकारी संस्थान आग से सुरक्षित नहीं है और जहाँ भी ऐसा हो वहां तत्काल अग्नि सुरक्षा के इंतजाम कराये जाये। इसके लिए ऊर्जा विभाग और गृह विभाग का सहयोग यदि आवश्यक हो तो उसे भी उपलब्ध कराया जाये।

ये भी पढ़ें : KGMU अग्निकांड में घटना के तथ्यों को छिपाता रहा प्रशासन: रालोद!

व्यापारियों को भी किया गया अलर्ट

  • बीते 15 जुलाई को ट्रामा सेण्टर में अग्निकांड की घटना के बाद मुख्यमंत्री की ओर से सतर्कता बरती जा रही है।
  • ट्रामा सेण्टर में शनिवार देर शाम हुई इस घटना के कारण कई मरीजों की जान भी चली गयी थी।
  • इस अग्नि कांड में ट्रामा सेण्टर में रखे महत्वपूर्ण दस्तावेज भी जलकर खाक हो गए थे।
  • वही दूसरी ओर दवा स्टोर में रखीं लाखों की दवाएं भी जलकर तबाह हो गयी थी।
  • घटना के अगले दिन मुख्यमंत्री ने खुद अस्पताल जाकर मरीजों का हाल लिया था।
  • उसके बाद से ही अब सभी सरकारी संस्थांनो को ऐसी घटना से बचाने की कोशिश की जा रही है।
  • इसके तहत उत्तर प्रदेश के सभी सरकारी संस्थानों के भवनों को आग से बचाने की मुहिम शुरू हुई है।

ये भी पढ़ें : व्हिस्की में विष्णु बसें , रम में बसे हैं राम- नरेश अग्रवाल!

  • मुख्यमंत्री के आदेशानुसार निजी उद्योगपति व व्यापारी अपने औद्योगिक/व्यवसायिक भवनों में आग से बचाव की पूरी व्यवस्था करे।
  • इसके साथ ही प्रदेश के निजी उद्योगपतियों व व्यापारियों को भी इसके लिए सजग किया जाए।
  • आदेशानुसार सरकारी कार्यालयों के भवनो को बिजली और अग्नि सुरक्षा की दृष्टि से सुरक्षित करे।
  • KGMU के ट्रामा सेंटर में हुए हादसे से सबक लेते हुए सभी विभाग अग्नि सुरक्षा के उपाए करें।

ये भी पढ़ें : KGMU : और बेहतर की गई मरीजों के इलाज की सुविधा !

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

लखनऊ :मंदसौर मामले को लेकर भारतीय किसान यूनियन ने निकला विरोध मार्च!

Mohammad Zahid

वीडियो: शहीद के पिता से जानें, पूरे नहीं होते सरकार के वादे!

Divyang Dixit

मिट रही आवास की आस, कैसे होगा ‘सबका साथ, सबका विकास’!

Sudhir Kumar