Home » हजरतगंज कोतवाल की बड़ी लापरवाही उजागर!
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

हजरतगंज कोतवाल की बड़ी लापरवाही उजागर!

murder fir registered in ias anurag tiwari death case

राजधानी के हजरतगंज इलाके में पिछले माह 17 मई को मीराबाई मार्ग स्थित राज्य अतिथि गृह के पास सड़क किनारे मिले (ias anurag tiwari) आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की मौत के मामले में हजरतगंज कोतवाल आनंद शाही और जांच अधिकारियों की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है।

लखनऊ: दरोगा मारे बैठे कुंडली, 8271 विवेचनाएं लंबित!

  • मृतक के भाई का आरोप है कि हजरतगंज कोतवाल ने अनुराग के कपड़े जलवा दिए जबकि उन्हें बताया जाता रहा कि कपड़े सुरक्षित हैं।
  • आरोप यह भी है कि थानेदार और जांच टीम ने बहुत लापरवाही की है।

यूपी में बड़े पैमाने पर ग्राम विकास अधिकारियों का तबादला!

एसएसपी के करीबी हैं शाही

  • मृतक आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी के भाई मयंक तिवारी ने बताया कि घटना के दिन उन्होंने ने अपने भाई के कपड़ों के बारे में जब थानेदार आनंद शाही से पूछा तो उन्होंने कहा कि कपड़े सुरक्षित हैं।
  • मयंक का कहना है कि जब उन्होंने पोस्टमार्टम हॉउस में भी कपड़ों के बारे में पूछा तो बताया गया कि कपड़े पुलिस के पास सुरक्षित हैं जो आगे जांच के लिए भेजे जायेंगे।
  • उन्होंने बताया कि कपड़ों के बारे में जब सीबीआई ने लखनऊ पुलिस से पूछा तो जांच टीम कपड़े नहीं दे सकी।
  • उन्होंने आरोप लगाया है कि थानेदार ने कपड़े जलवा दिए हैं।
  • आरोप यह भी है कि हजरतगंज थानेदार और जांच टीम लगातार उन्हें गुमराह कर रही है।
  • मयंक का कहना है कि आनंद शाही एसएसपी दीपक कुमार के काफी करीबी हैं इसके चलते उनके खिलाफ कोई बोलने या कार्रवाई करने को तैयार नहीं है।
  • बता दें की आनंद शाही इससे पहले कैसरबाग कोतवाली में तैनात थे लेकिन एसएसपी दीपक कुमार ने बाद में उन्हें मलाईदार थाना कहे जाने वाले हजरतगंज कोतवाली का प्रभारी बनाया।

अवैध वसूली के लिए सादे कागज पर चालान काट रहा आरटीओ विभाग!

आईजी रेंज भी लगा चुके फटकार

  • आईएएस अनुराग तिवारी की मौत का मुद्दा राष्ट्रीय स्तर का हो चुका है।
  • उनकी मौत के मामले में जब थानेदार की लापरवाही का पता आईजी रेंज लखनऊ जय नारायण सिंह को लगा तो उन्होंने थानेदार को कड़ी फटकार लगाई थी।
  • लेकिन इसके बाद भी इस लापरवाह थानेदार अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है।
  • अनुराग के परिजनों का आरोप है कि हजरतगंज पुलिस ने उनका साथ नहीं दिया और शव मिलने के बाद से ही लापरवाही की गई।
  • उन्होंने हजरतगंज थानेदार पर कार्रवाई करने की मांग की है।

यूपी के 20 जिले बालश्रम से प्रभावित, बरेली टॉप पर!

क्या है पूरा मामला

  • गौरतलब है कि आईएएस अनुराग तिवारी लखनऊ विकास प्राधिकरण के वीसी के साथ उनके 19 नंबर कमरे में मीराबाई मार्ग गेस्ट हॉउस में रुके थे।
  • 17 मई 2017 को सुबह करीब 6:30 बजे उनका शव मीराबाई मार्ग पर गेस्टहाऊस के निकट लगे ट्रांसफार्मर के सामने सड़क किनारे औंधे मुंह पड़ा मिला।
  • राहगीरों ने इसकी सूचना पुलिस को दी।
  • सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस को उनकी तलाशी के दौरान जेब से पर्स और पैसे मिले हैं।
  • पुलिस ने जेब से मिले आईकार्ड के आधार पर उनकी शिनाख्त की।

पति बना एम्बुलेंस फिर भी पीठ पर पत्नी ने तोड़ा दम!

  • प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो मृतक अधिकारी के मुंह और सिर पर चोट के निशान थे।
  • आईएएस अधिकारी का शव मिलने की सूचना मिलते ही आईजी रेंज लखनऊ जय नारायण सिंह, एसएसपी दीपक कुमार सहित कई आला अधिकारी मौके पर पहुंचे।
  • एसएसपी ने बताया प्रारंभिक पड़ताल में यह सामने आया है कि उन्होंने मंगलवार की रात करीब 11 बजे अपने साथियों के साथ खाना खाया।
  • आशंका है कि वह सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले होंगे और उनकी सड़क पर गिरने से मौत हो गई थी।

मड़ियांव में किशोरी से दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार!

  • पूछताछ में पता चला है कि वह मंसूरी में ट्रेनिंग लेने के बाद दो दिन पहले लखनऊ आये थे। फिलहाल मौत की गुत्थी अभी तक नहीं सुलझ पाई है।
  • एसआईटी द्धारा जांच की हुई 556 पेज की रिपोर्ट को भी सीबीआई को दे दिया गया है।
  • इस दौरान सीबीआई ने कर्नाटक में हुई जांच, पीएम रिपोर्ट और केस से जुड़े करीब 60 फोटोग्राफ को भी अपने कब्जे में लिया है।
  • फिलहाल (ias anurag tiwari) सीबीआई पूरे मामले की जांच कर रही है।

कृषि मंत्री राधामोहन सिंह की खुले में पेशाब करते हुए फोटो वॉयरल!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

यूपी के डीएम ने जारी किया अजीबो-गरीब फरमान, दफ्तर में नहीं पहन सकेंगे जींस-टीशर्ट!

Rupesh Rawat

योगी आदित्यनाथ ने यूपी के CM पद की शपथ ली!

Divyang Dixit

चुनाव आयोग ने यूपी बोर्ड परीक्षाओं की तारीख पर लगायी रोक!

Divyang Dixit