Home » हमारी खबर पर ‘यूपी 100 UP’ के ड्राईवर और दो सिपाही निलंबित!
Uttar Pradesh

हमारी खबर पर ‘यूपी 100 UP’ के ड्राईवर और दो सिपाही निलंबित!

khabar ka asar nanpara bahraich

अभी हाल ही में शुरू की गई उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की महत्वाकांक्षी योजना ‘यूपी 100 UP’ में सिपाहियों ने सेंधमारी कर दो भाइयों का अपहरण कर लिया। इतना ही नहीं इन वर्दीधारियों ने दोनों भाइयों से दो लाख रुपये की फिरौती मांगी। इसकी जानकारी uttarpradesh.org को हुई तो प्रमुखता से खबर को प्रकाशित किया।

  • इस खबर का संज्ञान लेते ही सीओ नानपारा अजय भदौरिया ने छापेमारी कर भाइयों को छुड़ाकर तीनों वर्दीधारियों के खिलाफ केस दर्ज करवाया।
  • उन्होंने बताया कि दो सिपाहियों हेड कांस्टेबल अर्जुन सिंह, कांस्टेबल प्रमोद कुमार यादव को निलंबित।
  • जबकि वाहन चालक होमगार्ड सतीश सिंह के खिलाफ कमांडेंट को पत्र लिखा गया है। दोषियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

यह है पूरा मामला पूरा मामला

  • यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट डॉयल यूपी 100 का बहुत ही गर्व के साथ शुभारम्भ किया था।
  • लेकिन यूपी 100 के पुलिसकर्मी इसकी इज्जत को सरेआम नीलाम करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।
  • ताजा मामला बहराइच के नानपारा का है जहां यूपी 100 के पुलिसकर्मियों द्वारा दो युवकों का अपहरण कर उन्हें बंधक बनाये जाने का मामला सामने आया।
  • यही नहीं बंधक युवकों को छोड़ने के एवज़ में इन वर्दीधारियों ने बंधक भाइयों के परिजनों से 2 लाख रूपए की फिरौती मांगी।
  • इन सिपाहियों के गिरोह ने पुलिस की सरकारी गाड़ी (यूपी 32 बीजी 1535) से वारदात को अंजाम दिया।
  • जब हमने इस खबर को प्रकाशित किया तो मामले का गंभीरता से संज्ञान लेते हुए सीओ नानपारा अजय भदौरिया ने छापेमारी कर बंधक भाइयों ने इन्हें छुड़वा लिया।
  • सीओ ने सरकारी गाड़ी पर ड्यूटी में तैनात हेड कांस्टेबल अर्जुन सिंह, कांस्टेबल प्रमोद कुमार यादव और वाहन चालक होमगार्ड सतीश सिंह के ऊपर फर्जी मुकदमा दर्ज करवाया।
  • सीओ ने बताया दोषी सिपाहियों को निलंबित जबकि होमगार्ड पर कार्रवाई के लिए कमांडेंट को पत्र लिखा गया है।
  • इन सिपाहियों ने लखइया गांव दाखिला बितानियां इलाके के रहने वाले कुबेर नाथ नाम के एक ग्रामीण के दो बेटों धनपत और अजय को गांव से अगवा कर सुनसान इलाके में बने एक कमरे के अंदर बंधक बनाकर टार्चर करने का काम किया।
  • यहीं नहीं अपनी गिरफ्त से छोड़ने के लिए पीड़ित के परिजनों से दो लाख रुपये की मोटी रकम मांग रहे थे।
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

कानपुर वासियों ने केंद्र से की कानपुर को भी स्मार्ट सिटी बनाने की मांग

Ishaat zaidi

1025KM की होगी ‘नमामि गंगे’ जागृति यात्रा- CM योगी

Divyang Dixit

सीएम अखिलेश ने सूबे के वैज्ञानिक को किया सम्मानित!

Divyang Dixit