Home » आरुषि हत्याकांड: CBI के विरोधाभास पर जवाब सुनेगा HC
Uttar Pradesh

आरुषि हत्याकांड: CBI के विरोधाभास पर जवाब सुनेगा HC

arushi murder case

उत्तर प्रदेश के बहुचर्चित हत्याकांड में आरुषि-हेमराज मर्डर केस(arushi murder case) में मुख्य आरोपी तलवार दंपति को सीबीआई कोर्ट ने सजा सुना दी है, जिसके बाद तलवार दंपति की ओर से उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद हाई कोर्ट में मामले की सुनवाई के लिए याचिका दायर की गयी है। जिसके तहत मामले की सुनवाई गुरुवार 7 सितम्बर को की जाएगी। गौरतलब है कि, तलवार दंपति सीबीआई जांच में दोषी पाए गए हैं।

जजमेंट रिज़र्व के बाद कोर्ट कर रहा है फिर से सुनवाई(arushi murder case):

  • सूबे के बहुचर्चित आरुषि-हेमराज हत्याकांड के मुख्य आरोपियों को सीबीआई कोर्ट ने सजा सुना दी थी।
  • जिसके बाद तलवार दंपति ने इलाहाबाद हाई कोर्ट में मामले की सुनवाई के लिए याचिका दायर की थी।
  • इसी क्रम में गुरुवार को कोर्ट मामले में सुनवाई करेगा।
  • गौरतलब है कि, मामले में हाई कोर्ट अपना जजमेंट पहले ही रिज़र्व कर चुका है।
  • इसके बावजूद मामले में फिर से सुनवाई की जा रही है।

साल 2013 में सीबीआई कोर्ट ने सुनाई थी सजा(arushi murder case):

  • तलवार दंपत्ति को सीबीआई अदालत से सजा मिलने के बाद इलाहाबाद में मामले की सुनवाई हो रही है।
  • ज्ञात हो कि, सीबीआई अदालत ने डॉ नुपुर तलवार और डॉ राजेश तलवार को सीबीआई ने साल 2013 में सजा सुनाई थी।
  • जिसके तहत सीबीआई अदालत ने आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी।

जेल में हैं आरोपी नूपुर और राजेश तलवार (arushi murder case):

  • ज्ञात हो कि आरूषि हत्याकांड मामले में आरोपी माता-पिता नूपुर तलवार और राजेश तलवार फिलहाल जेल में बंद है।
  • वह दोनों इस हत्याकांड मामले में गाजियाबाद की डासना जेल में सजा काट रहे हैं।
  • यह हत्याकांड मामला आए दिन नए मोड़ लेता रहा है।
  • साल 2008 में आरुषि (14) की लाश उसी के घर में मिली थी।
  • इसके बाद उसी घर में घरेलू नौकर हेमराज का शव भी बरामद हुआ था।
  • इस मामले में पुलिस ने दंपति को मुख्य आरोपी बनाया था।
  • मामले में गाजियाबाद की विशेष CBI अदालत ने 2013 में डॉ नूपुर तलवार और डॉ राजेश तलवार को उम्र कैद की सजा सुनाई थी।
  • सीबीआई कोर्ट के फैसले के खिलाफ दंपति ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में अपील दाखिल की थी।
  • गौरतलब है कि, इलाहाबाद हाईकोर्ट इस अपील पर गत वर्ष 24 सिंतबर से सुनवाई कर रहा था।

ये भी पढ़ें: आरुषि हत्याकांड में इलाहबाद हाई कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

अर्ध कुम्भ: रेलवे बोर्ड के चेयरमैन का इलाहाबाद दौरा!

Divyang Dixit

PGI के डॉक्टरों ने मुफ्त में किया 20 लाख का ऑपरेशन

Vasundhra

मैं पहले रामभक्त, आता रहूँगा अयोध्या: सीएम योगी!

Kamal Tiwari