Home » वीडियो: यहाँ मोटी रकम लेकर पुलिस कराती है ‘अवैध खनन’!
Uttar Pradesh Uttar Pradesh Live

वीडियो: यहाँ मोटी रकम लेकर पुलिस कराती है ‘अवैध खनन’!

Agra illegal mining

अवैध खनन रोकने को लेकर योगी सरकार ने बड़े-बड़े दावे किये थे. योगी सरकार ने कहा था कि सूबे के कई जिलों में चल रहे अवैध खनन के कारोबार को रोकने के लिए कड़े कदम उठाये जायेंगे. लेकिन उनके निर्देशों को धता बताते हुए पुलिस ही अवैध खनन कराने में जुटी हुई है. ARTO और पुलिस की मिलीभगत से आगरा में अवैध खनन का ‘गोरखधंधा‘ बेख़ौफ़ चल रहा है.

https://www.youtube.com/watch?v=fB1NzLlM4rU&feature=youtu.be

वसूली कर ट्रक निकालते हैं सिपाही:

  • आगरा खेरागढ़ में अवैध खनन का कारोबार जोरो पर हैं.
  • जिसका ताजा उदाहरण देखने को मिला.
  • सिपाही वसूली कर ओवरलोड ट्रैक्टर को निकालते हुआ कैमरे में कैद हो गया.
  • खनन विभाग पुलिस प्रशासन व आरटीओ की मिलीभगत से ये कारोबार फल-फूल रहा है.
  • स्थानीय सूत्रों के अनुसार, पुलिस को मोटी महीनेदारी मिलती हैं.
  • मुख्यमंत्री की अवैध खनन पर रोक के बाद भी पुलिस अपने स्वार्थ के चलते अवैध खनन को भरपूर संरक्षण दे रही है.
  • तहसील क्षेत्र में खनन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं.
  • रात 12 बजे से सुबह 5 बजे तक निकलते हैं.
  • पुलिस ने अलग अलग वसूली के लिए अड्डे बना रखे हैं.

सिपाही ने फर्जी मुक़दमे में फंसाने की दी धमकी:

  • नगला कमाल पर तैनात सिपाही घनसपुरा मोड़ पर पत्थर से भरे ट्रैक्टरों से वसूली कर रहा था.
  • तभी उसकी ट्रैक्टर से रुपये लेते हुए तस्वीर कैमरे में कैद हो गई.
  • सिपाही अवलेस यादव कहने लगा कि अगर थाने में आया तो झूठे मुकदमे में फंसा दिया जाएगा.
  • वहीँ घनसपुरा पर वसली रहे सिपाही ब्रजेश कुमार तो डंडा लेकर पीटने को दौड़ने लगा.
  • सिपाही ने जमकर गाली गलौज किया.

यहाँ फिक्स होते हैं अवैध वसूली के रेट:

  • किस अड्डे पर कितनी वसूली होती है इसका बाकायदा रेट तय होता है.
    नगला कमाल से करीव 250 से 300 तक गिट्टी के ट्रक निकलते है.
  • सूत्रों के मुताबिक, बेरिकेडिंग लगा कर 200 रुपये प्रति ट्रक के हिसाब से वसूली की जाती हैं.
  • इसी चौकी से करीब 200 से 250 ट्रैक्टर निकलते है.
  • जिनसे 80 रुपये प्रति ट्रैक्टर के हिसाब से वसूल किये जाते है.
  • नगला दुल्हेखा चौकी से करीव 40 ट्रैक्टर ब्लॉक में 100 रुपये के हिसाब से वसूली की जाती है.
  • वहीँ कुछ ट्रैक्टर से महीने के हिसाब से 2000 से लेकर 2500 रु तक वसूले जाते हैं और उन्हें जाने दिया जाता है.
UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

राजधानी में स्कूलों की सुरक्षा के मद्देनजर जारी हुआ अलर्ट, प्रशासन सक्रिय

Kumar

वीडियो: जरी कारीगर चला रहे रिक्शा, सरकार नहीं कर रही मदद!

Vasundhra

प्रधान और अन्य आरोपियों को पकड़ने में बलिया पुलिस नाकाम!

Kamal Tiwari