Home » समाजवादी आवास योजना के अंतर्गत 300 पत्रकारों को मिलेंगे फ्लैट!
Uttar Pradesh

समाजवादी आवास योजना के अंतर्गत 300 पत्रकारों को मिलेंगे फ्लैट!

samajwadi awas yojna

उत्तर प्रदेश के मुख्यामंत्री अखिलेश यादव ने प्रदेश के मान्यता प्राप्त पत्रकारों एवं मीडिया फोटोग्राफर के लिए समाजवादी आवास योजना के अंतर्गत फ्लैट प्राप्त करने का सुनहरा मौका दिया है। पत्रकारों को ये आवास गोमती एन्क्लेव,सरयू एन्क्लेव अवध विहार योजना,सुल्तानपुर रोड तथा कैलाश एन्क्लेव रोड रायबरेली रोड लखनऊ में दिये जाएंगे।

  • इन फ्लैटों का पंजीकरण 5 सितंबर से 14 अक्टूबर तक किया जा सका है।
  • प्रदेश सरकार ने मान्यता प्राप्त पत्रकारों को 300 माकन/फ़्लैट देने का फैसला किया है।
  • इस फ्लैट की EMI 35 हजार से लेकर 1 लाख प्रति माह तक निर्धारित की गई है।
  • यह ईएमआई आसान किस्तों में अदा की जा सकेगी।
  • ऑनलाइन पंजीकरण हेतु परिषद् में वेबसाइट www.upavp.कॉम पर सूचना उपलब्ध है।

मुख्य आकर्षण :

  • ये आवास एवं फ़्लैट लैंड स्केप है।
  • इनके साथ पार्क एवं खुला आवासीय मैदान टहलने के लिए फूटपाथ भी रहेगा।
  • आवासीय निर्माण में बच्चो के लिए आत्याधुनिक गेम्स जोन बनाया गया है।
  • फ्लैटों का निर्माण इस तरह से किया गया है कि ये पूरी तरह से भूकंप रोधी हैं।
  • यहां पर सामान्य सुविधा से लेकर आत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध हैं।
  • कार पार्किंग के लिए उच्चतम व्यावस्था की गई है।

विद्या बालन को समाजवादी पार्टी ने बनाया ‘ब्रांड एम्बेसडर’!

पात्रता हेतु निम्न शर्तेः

  • योजना के आनुसार यह सुविधा ऐसे पूर्णकालिक पत्रकारों को अनुमन्य होगी जो समाचार पत्र /एजेंसी/निजी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से संलग्न व पंजीक्रत है।
  • पत्रकारों कि परिभाषा में श्रमजीवी पत्रकार जैसा कि वर्किंग जनर्लिस्ट एक्ट के तहत,1995 में वर्णित है।
  • यदि कोई पत्रकार पूर्व में पुरानी सब्सडी /अनुदान योजना के अंतर्गत माकन या प्लाट का लाभ प्राप्त कर चुका हो या प्राप्त कर बेच चुका हो तो वह इस योजना कर लिए पात्र नहीं होगा।
  • आवंटन से सम्बंधित उत्तर प्रदेश आवास एवं विकास परिषद् द्वारा लगायी गयी सामान्य शर्ते पात्रता के लिए आवश्यक होंगी।
  • सम्बंधित पत्रकार के नाम ही फ़्लैट आवंटित किया जाएगा।
  • आवंटी पत्रकार उक्त फ़्लैट 30 वर्ष तक ना बेच सकेगा और ना ही किसी प्रकार से हस्तांतरित कर सकेगा।

मुख्यमंत्री अखिलेश ने दी लखीमपुर खीरी को 1,000 करोड़ की योजनाओं की सौगात!

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

यूपी का बजट: तब और अब!

Kamal Tiwari

सड़क के किनारे सोने पर मजबूर गरीब इंसान, CM बना रहे दफ्तर आलीशान!

Ashutosh Srivastava

सीएम योगी ने मदद नहीं की तो किडनी बेचने को तैयार है ये मां!

Abhishek Tripathi