Home » उत्तर प्रदेश » योगी की सभा में महिला ने मचाया हंगामा

योगी की सभा में महिला ने मचाया हंगामा

योगी की सभा में महिला ने मचाया हंगामा

रामपुर में योगी की जनसभा में एक महिला ने जमकर हंगामा किया।  महिला को शांत कराने का प्रयास कई महिला पुलिसकर्मी कर रही थी पर पुलिस की कार्यशैली से क्षुब्ध महिला शांत नहीं हुई। इस दौरान महिला को हंगामा करते योगी के साथ-साथ डीआईजी ओंकार सिंह देखते रहे। एसपी विपिन अपनी पुलिस टीम की कई महिला कांस्टेबलों के साथ महिला को शांत करने की कोशिश करते रहे।
दरअसल महिला पुलिस की कार्यशैली से नाराज थी। महिला का आरोप है कि खजुरिया थाने की पुलिस उसकी सुनवाई नहीं कर रही है। महिला का आरोप है कि 4 लाख का प्लाट उसने खरीदा है जिसकी लिखा-पढ़ी तो उसने करा ली है पर वह शख्स उसका बैनामा नहीं करा रहा। जिसकी शिकायत उसने पुलिस से की लेकिन पुलिस कुछ भी सुनने को तैयार नहीं है। जिस कारण वह हताश व निराश होकर योगी से मिलना चाहती थी लेकिन मिलने से पहले ही उसे रोक लिया गया। 

बलिया में दिखाया योगी को काला झण्डा

मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार योगी आदित्यनाथ बलिया बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा करने पहुंचे थे। यहां उन्होंने हेलीकाप्टर से बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा किया। सीएम ने बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात की और उन्हें राहत सामग्री भी बांटी। इस दौरान कुछ छात्रों ने सीएम योगी को काले झंडे दिखाए। छात्रों का आरोप था कि बलिया के बहुचर्चित रागिनी दूबे हत्याकांड की पुलिस निष्पक्ष तरीके से जांच नहीं कर रही है साथ ही आरोपी को बचाने की कोशिश की जा रही है।

लखनऊ यूनिवर्सिटी में छात्रों ने दिखाए काले झण्डे

लखनऊ यूनिवर्सिटी के हिन्दवी स्वराज दिवस के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए सीएम योगी पहुंचे थे। जहाँ छात्रों का एक गुट ने सीएम को काले झण्डे दिखाए। इस दौरान कुछ छात्र सीएम के फ्लीट के आगे लेट गए थे जिससे योगी की गाड़ी यूनिवर्सिटी के गेट नम्बर एक पर पाँच मिनट के लिए रोक दी गई थी। छात्र नेता अनिल यादव ने आरोप लगाया था कि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने 25 लाख रूपये छात्रों के बजट से खर्च किए गए है। 

भर्ती पर रोक हटाने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन

इलाहाबाद में विश्व हिन्दू परिषद के संत सम्मेलन में भाग लेने सीएम योगी पहुंचे थे। यहां मुख्य अतिथि के रूप में पधारे सीएम योगी के खिलाफ छात्र संगठनों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। साथ ही प्रदेश में रूकी हुई विभिन्न आयोगों की भर्तियों को बहाल कराने की मांग की थी। सीएम के आने के सूचना के बाद छात्र संगठन विरोध की तैयारी कर रहे थे और धरने पर बैठ गए। जहां से उन्हे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।  

UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें

Related posts

राहुल गांधी शर्म करो, किसानों की जमीन वापस करो के नारों से गूंजा अमेठी

Org Desk

अमौसी पहुंचे PM मोदी, आज मगहर दौरे से पहले कार्यक्रम में फेरबदल

Shivani Awasthi

श्रीकृष्णवाहिनी ने राजनीतिक मैदान में शिवपाल यादव को दिया समर्थन

Shashank